बॉलीवुड और क्रिकेट के बीच सालों से प्रेम के फसाने सुनने को मिलते आ रहे हैं। भारत में ऐसे कई क्रिकेटर रहे जो फिल्म जगत की हसीनाओं पर अपना दिल हार बैठे। चाहे वो विराट कोहली और अनुष्का हों या फिर अपने दौर के फेमस कप्तान अजहर और संगीता बिजलानी। ऐसे ही एक प्रेमी जोड़ा जिसकी बात आज तक की जाती है, वो है शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान की जोड़ी।

अपने दौर की दमदार एक्ट्रेस मानी जाने वाली शर्मिला टैगोर और उस समय के सबसे छोटी उम्र के क्रिकेट कप्तान मंसूर अली खान की लव स्टोरी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। 27 दिसंबर को शर्मिला और मंसूर अली खान पटौदी की शादी को 52 साल हो जाएंगे। रिश्ते के इस लंबे सफर में कई बार दोनों के बीच झगड़े और अलग होने की खबरें आई मगर इन सब के बावजूद भी दोनों का ये रिश्ता अमर रहा।

मंसूर अब इस दुनिया में नहीं हैं पर मीडिया से कई बार बातचीत में शर्मिला दोनों के बीच के हुए कुछ यादगार किस्सों के बारे में बताया करती हैं। तो आइए आज के आर्टिकल में जानते हैं शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान की लव स्टोरी से जुड़े कुछ यादगार किस्सों के बारे में।

जब दिल जीतने के लिए मंसूर ने तोहफे में दिया था फ्रीज- 

sharmila and tiger padaudi love marriage

शर्मिला और मंसूर साल 1965 में मिले थे, जिसके बाद शर्मिला को इस रिश्ते के लिए मनाने में करीब 4 साल का वक्त लग गया। इस दौरान नवाब साहब को बंगाल की अदाकारा को मनाने के लिए बहुत मशक्कत करनी पड़ी। एक बार शर्मिला को इंप्रेस करने के लिए मंसूर ने उन्हें फ्रीज गिफ्ट किया था, जिसकी कीमत उस समय में बहुत ज्यादा थी। पर उस महंगे गिफ्ट से भी बात ना बनी, आखिर कई सालों तक मेहनत कराने के बाद शर्मिला ने रिश्ते के लिए हा बोल दिया। 

जब मंसूर ने गालिब के शेर को बताई अपनी रचना- 

romantic moments between mansoor ali khan and sharmila

शर्मिला टैगोर ने मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में बताया था कि बार मंसूर अली खान ने उन्हें गालिब की रचना ‘दिले नादान तुझे हुआ क्या है’ को अपनी रचना बताई और कहा कि ये शेर उन्होंने शर्मिला के लिए लिखे हैं। उस समय शर्मिला को मंसूर की बात पर यकीन भी हो गया, मगर जब उन्होंने शूटिंग के दौरान एक्टर फिरोज खान को ये शेर सुनाया और बताया कि ये मंसूर ने उनके लिए लिखा है, तब उन्हें पता चला कि असल में ये गालिब की रचना है,  जिसे मंसूर ने खुद की रचना बताई थी। 

इसे भी पढ़ें-शर्मीला टैगोर, नीतू सिंह, जया बच्चन, डिंपल कपाड़िया सहित इन 10 बॉलीवुड जोड़ियों की शादी की तस्वीरें

जब पेरिस में मंसूर ने किया था प्यार का इजहार-

sharmila tagore love story memorable moments

शर्मिला ये बात याद करते हुए कहती हैं, कि एक बार पेरिस के किसी रेस्टोरेंट में मंसूर और वो साथ में बैठे थे। वहां पर अचानक बारिश होने लगी जिस वजह से दोनों वापस जाने लगे। जब टैक्सी आई तो शम्मी कपूर उसमें बैठकर चले गए। जिस कारण शर्मिला नाराज हो गईं। शर्मिला की नाराजगी कम करने के लिए मंसूर ने गुलाब का एक गुलदस्ता लिए और घुटने के बल शर्मिला को प्रपोज करने के लिए बैठ गए। जिसे देखकर शर्मिला का गुस्सा गायब हो गया। वो यह कहती हैं कि उनके लिए ये सभी चीजें केवल मंसूर ही कर सकते हैं।

 

आखिर क्यों कर बैठी थी शर्मिला मंसूर से प्यार- 

why sharmila fell in love with mansoor

शर्मिला बताती हैं कि उन्होंने आखिर मंसूर से ही शादी का फैसला क्यों लिया। शर्मिला एक फेमस एक्ट्रेस थीं , जहां उनके सामने बॉलीवुड के कई एक्टर्स ने जिनसे वो लाइफ पार्टनर के तौर पर चुन सकती थीं। मगर मंसूर की बात बिल्कुल अलग थी, शर्मिला को उनके सेंस ऑफ ह्यूमर से प्यार हो गया था और वहीं शर्मिला को इस बात पर पूरा भरोसा था कि मंसूर उन्हें कभी हर्ट नहीं करेंगे। यही वजह थी की दोनों की मैरिड लाइफ सालों तक बड़ी खूबसूरती से चलती रही।

Recommended Video

शादी में आई कई मुसीबतें- 

इस लव स्टोरी में सबसे ज्यादा दिलचस्प बात यह भी थी कि दोनो के धर्म अलग थे, जिस कारण प्यार को इस प्यार मंजिल पाने के लिए कई मुसीबतों से गुजरना पड़ा। शर्मिला और मंसूर दोनो के परिवार वाले इस रिश्ते के लिए राजी नहीं हुए।

शर्मिला के परिवार वाले नहीं चाहते थे कि उनकी शादी नवाब परिवार में हो, वहीं मंसूर के परिवार वाले किसी फिल्म में काम करने वाली लड़की से उनकी शादी नहीं करवाना चाहते थे। कई मुश्किलों के बाद आखिर इस जोड़े ने साल 1969 ने शादी कर ही ली, जिसके बाद सालों तक ये रिश्ता बड़ी खूबसूरती से कायम रहा। 

 इसे भी पढ़ें- Unseen pictures: देखें शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान की खूबसूरत तस्वीरें

शर्मिला आज भी महसूस कर करनी है मंसूर को अपने आसपास-

मैगजीन को दिए इंटरव्यू में शर्मिला टैगोर ने मंसूर को याद करते हुए बताया कि 27 दिसंबर 201 को हमारी 43 सालगिरह होती मगर वो उससे पहले ही मुझे छोडकर चले गए। उनके जाने के बाद मैं बिल्कुल अलग हो गई, पर आज भी मैं उन्हें अपने साथ महसूस कर सकती हूं, यही वजह है कि मेरा अकेलापन मुझे परेशान नहीं करता है।

तो ये थे शर्मिला और मंसूर अली खान पटौदी की प्रेम कहानी से जुड़े यादगार किस्से जिनके बारे में शर्मिला मीडिया को कई बार अपने इंटरव्यू में बता चुकी हैं। तो ये था हमारा आज का आर्टिकल आपको हमारा आज का आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारी के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

 image credit- twitter.com ,minindia.com, filmfare and vogue.com