अधिकतर लोगों को ये लगता है कि घर में मोगरा, गुलाब, सेवंती, जासवंत, बोगनवेलिया जैसे फूल ज्यादा अच्छे से लगते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि घर में कमल उगाना भी उतना ही आसान है जितना इन पौधों की केयर करना है। घर में कमल की शुरुआत एक ग्लास पानी से ही की जा सकती है और जैसे-जैसे ये बढ़ता रहे वैसे-वैसे आप इसमें मिट्टी और पानी दोनों डालते रहें। कमल के पौधे के बारे में सोचकर ही आपको शायद ये लग रहा हो कि ऐसा कैसे हो सकता है, लेकिन वाकई लोटस का पौधा उगाना और उसकी केयर करना बहुत आसान है। 

आज हम आपको लोटस सीड्स से पौधा कैसे बनाएं इसके बारे में बताएंगे। ये तरीका काफी आसान है और आप इसे अपने घर में जरूर ट्राई करें। 

कहां से लें कमल से बीज?

कमल के बीज आप ऑनलाइन मंगवा सकते हैं या फिर आप नॉर्मल किराना स्टोर से ले सकते हैं। हां, किराना या जनरल स्टोर पर लोटस सीड्स कमल गट्टे के नाम से मिलेंगे। अगर आप किराना स्टोर से इन्हें ले रहे हैं तो थोड़े ज्यादा लेने की कोशिश करें क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि इनमें से कई सीड्स डैमेज निकलें। पर किराना स्टोर पर ये काफी सस्ते में मिलेंगे। 

lotus seed

इसे जरूर पढ़ें- मोगरे के पेड़ में आएंगे ढेरों फूल बस करें ये 6 काम

कैसे पता करें कमल के बीज उगाने लायक हैं या नहीं?

आपको बस कमल के बीज पानी में डालकर देखने हैं। अगर बीज नीचे बैठ जाते हैं तो ये उगाने लायक हैं और अगर ये ऊपर तैर रहे हैं तो इनका कोई काम नहीं होगा उन्हें आप ऐसे ही रख सकते हैं। 

कमल के बीज उगाने के लिए सबसे जरूरी स्टेप-

कमल के बीज को उगाने के लिए सबसे जरूरी स्टेप है उसकी स्कारिंग। कमल के बीज का कोट बहुत ही हेवी रहता है और ये आसानी से न तो टूटता है और न ही आसानी से पानी अंदर जा पाता है। ऐसे में उसे थोड़ा सा तोड़ना या घिसना पड़ता है जिससे कमल का बीज आसानी से पानी अपने अंदर ले ले और जर्मिनेशन प्रोसेस शुरू हो सके। 

lotus seed scaring

इसके लिए आपको या तो बीज के कवर को किसी पत्थर या हथौड़ी से हल्के हाथों से तोड़ना होगा जिससे अंदर का बीज न टूटे और सिर्फ ऊपर के कवर में थोड़ा क्रैक आ जाए। या फिर आपको इसे घिसना होगा। कमल के बीज के दो एंड्स होते हैं एक में छेद दिखता है और दूसरे में प्वॉइंटेड टिप। आपको छेद वाले साइड से तब तक इसे घिसना है जब तक इसका सफेद हिस्सा नहीं दिखने लगता। इसमें 15-20 मिनट आसानी से लग सकते हैं। आप नेल फाइलर का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर सिर्फ जमीन पर घिस सकते हैं। इसमें बीज के डैमेज होने का खतरा कम होता है। 

lotus seeds germination

अब बस एक ग्लास पानी में बीज को डाल दें-

अब आपको करना ये है कि एक ग्लास पानी में अपने लोटस सीड को डाल देना है और वो अपना काम करता रहेगा। अगर बहुत ज्यादा सीड्स हैं तो आप इसे दो-तीन अलग-अलग बर्तनों में भी रख सकते हैं। पर पहले शुरुआत छोटे बर्तनों से करें जिसमें 2-3 इंच पानी हो। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आपने इसे ज्यादा गहरे पानी में डाल दिया तो स्प्राउट पानी के ऊपर आने की जल्दी में रहेगा और इससे वो पतला होता जाएगा। शुरुआत एक ग्लास पानी से करना ही सबसे बेस्ट होता है। 

lotus and seeds

बढ़ते स्प्राउट को किसी और बर्तन और मिट्टी में शिफ्ट करें-

अब दो-तीन दिन के अंदर आपको अपने लोटस के बीज में स्प्राउट्स दिखने लगेंगे। जब ये 2-3 इंच लंबे हो जाएं तो या तो आप इन्हें किसी और बर्तन में रख सकते हैं या फिर एक्सपेरिमेंट के तौर पर 1 बीज को 1 ग्लास पानी में नीचे थोड़ी मिट्टी डालकर उसमें गाड़ सकते हैं और इसके ऊपर थोड़ी रेत जरूर डालिएगा ताकि मिट्टी जमी रहे। ऐसा करते समय ध्यान रखें कि ग्लास बहुत गहरा या लंबा हो क्योंकि लोटस के बीज को कम से कम 1 इंच की मिट्टी और 4 इंच पानी चाहिए इस स्टेज पर। 

आप इसे किसी कांच की बॉटल आदि में भी उगा सकते हैं।  

अगर आप इसे पूरा पौधा बनाना चाहते हैं तो थोड़े और बड़े बर्तन में शिफ्ट कर दें। ऐसा तब तक करें जब तक इसमें जड़ें नहीं दिखने लगतीं। अब तक आपके लोटस में पत्तियां भी आ गई होंगी। 

जैसे ही जड़ें दिखें इसे उसी तरह से किसी बड़े टब में नीचे मिट्टी डालकर 1 इंच मिट्टी में प्लांट करें। ध्यान रहे कि लोटस को चिकनी मिट्टी चाहिए होती है। आपको लोटस का पानी शुरुआत में हर दिन बदलना होगा और जब ये पौधा बन जाएगा तो इसे अगर बहुत बड़े टब में रखा है तो 1 महीने में एक बार ही पानी बदलें।  

lotus seeds germinations

ये तरीका बहुत ही आसान है और आप चौंक जाएंगे ये देखकर कि कमल का पौधा कितनी जल्दी उगता है, लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।  

इसे जरूर पढ़ें- आखिर क्यों आपको बोगनवेलिया के पौधे में नहीं आ रहे फूल? जानें कारण 

इन गलतियों को न करें- 

कमल का पौधा बहुत नाजुक होता है और उसे बहुत हल्के हाथों से हैंडल करें। 

lotus repoting

कमल के बीज को ऐसे न तोड़ें कि वो अंदर तक डैमेज हो जाए। अगर आप हथौड़े का इस्तेमाल कर रहे हैं तो बहुत हल्के हाथों से ये करें। 

कमल के पौधे को कभी एल्युमीनियम या किसी मेटल में न लगाएं। इसे प्लास्टिक, मिट्टी, सिमेंट, बोन चाइना आदि में लगाया जा सकता है। एल्युमीनियम से तो दूर ही रखें वर्ना ये पानी के अंदर ही गल जाएगा।  

उम्मीद है कि आप जल्दी ही अपने खुद के लोटस के पौधे को लगाएंगे। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।