जैस्मिन के फूल ना सिर्फ आपकी घर की शोभा को बढ़ाते हैं बल्कि इसके अनगिनत फायदे भी हैं। यही वजह है कि ज्यादातर महिलाएं जैस्मिन का पौधा अपने गार्डेन के गमले में लगाना पसंद करती हैं। गुलाब, गुड़हल आदि के साथ-साथ जैस्मिन के फूल भी पूजा के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं और इसकी खुशबू से आपका गार्डन एरिया को महकता रहेगा। हालांकि, ज्यादातर लोगों कि शिकायत होती है कि जैस्मिन का पौधा लगाने के तुरंत बाद सूख जाते हैं और उन्हें जीवित रखने के लिए काफी देखरेख करनी पड़ती है।

वहीं जैस्मिन का पौधा लगाते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखें तो इसे लगाने में बिल्कुल भी दिक्कत नहीं होगी। खास बात है कि इसे कटिंग से भी उगाया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं कि घर पर जैस्मिन का पौधा कैसे लगा सकते हैं और शुरुआत में इसकी केयर करते वक्त किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

जैस्मिन पौधा कैसे लगाएं

jasmine plant grow

इसके लिए आप मार्केट से या फिर कहीं से एक या दो जैस्मिन का पौधा अरेंज करें और फिर उसे गमले या फिर पुरानी बाल्टी में लगा लें। कोशिश करें कि पुरानी लोहे की बाल्टी उपयोग करें। बाल्टी में नीचे दो या तीन छेद कर दें और फिर उसमें मिट्टी भरना शुरू करें। ध्यान रखें कि मिट्टी में सैंड, कोकोपीट, ऑर्गेनिक खाद जैसी चीजों को पहले ही मिक्स कर तैयार कर लें। अब इसका उपयोग जैस्मिन का पौधा लगाने के लिए करें। कोशिश करें कि छोटा पौधा लें, ताकि इसकी देखरेख करने में आसानी हो। मिट्टी में लगाने के बाद इसमें हल्का पानी का छिड़काव करें। सुबह शाम धूप दिखाएं और गमले की मिट्टी को सूखने ना दें। शुरुआत में पौधे के साथ किसी भी तरह का छेड़छाड़ ना करें, कुछ दिनों में ही आपको फर्क नजर आने लगेगा।

इसे भी पढ़ें: नींबू के पौधे में लगने लगे हैं कीड़े? तो इस तरह करें उसकी देखभाल

कटिंग से लगाएं जैस्मिन का पौधा

JAsmine plant

पौधा ही नहीं बल्कि कटिंग से भी जैस्मिन उगाया जा सकता है। इसके लिए आपको जैस्मिन के किसी पौधे से कटिंग निकालनी होगी। पुराने जैस्मिन के पौधे से सेमी हार्ड ब्रांच कट करके उसे निकाल लें। 2 से 3 ब्रांच को कट कर निकालने के बाद उसे दोनों साइड से एक-एक इंच काट दें। अब गमला लें और उसे मिट्टी से भर दें। कटिंग लगाने के लिए मिट्टी में होल बना लें।(कटिंग से लगाएं पुदीना) इसे मिट्टी में लगाने से पहले फंगीसाइड लें और उसमें ब्रांच को डिप कर दें। अब एक-एक कर सभी ब्रांच को मिट्टी में लगा दें और पानी का छिड़काव करें। कुछ लोग फंगीसाइड के अलावा शहद का भी इस्तेमाल करते हैं। तीन से चार दिन तक आप इसे सुबह शाम दो से तीन घंटे के लिए धूप में रखें और फिर अंदर लें आएं। अधिक पानी का छिड़काव शुरुआत में ना करें। 4 से 5 दिन में कटिंग से पत्ते आने शुरू हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: घर पर मौजूद इन चीजों की मदद से वाटरिंग कैन, नहीं लगेंगे पैसे

जैस्मिन का पौधा की देखभाल ऐसे करें

jasmine plant care

  • जैस्मिन के पौधे की देखरेख करना बहुत आसान है। सुबह-शाम पानी देने के अलावा रोजाना 5 से 6 घंटे धूप दिखाना जरूरी है। इसके अलावा जैस्मिन के पौधा हेल्दी रहें और  इसमें ढेर सारे फूल आएं इसके लिए ऑर्गैनिक खाद का इस्तेमाल करें।
  • जैस्मिन के पौधे को कीड़े-मकोड़े से बचाने के लिए विनेगर का इस्तेमाल करें। इसके लिए हफ्ते में एक बार एक ग्लास पानी में 2 चम्मच विनेगर मिक्स कर दें। जब दोनों मिक्स हो जाए तो थोड़ा-थोड़ा जैस्मिन के पौधों में डाल दें। आपको जड़ों के पास डालना है और यह काम सुबह में करें।
  • ऑर्गैनिक खाद के रूप में केले के छिलके, गोबर, बची हुई चायपत्ती जैसी चीजों का उपयोग करें। दरअसल, जैस्मिन का पौधा हैवी फीडर प्लांट है, इसलिए हमेशा उसमें खाद देने की जरूरत होती है। कोशिश करें कि ऑर्गैनिक खाद का ही इस्तेमाल करें।
  • जैस्मिन के फूल जब झड़ने लगे तो उसे गमले से बाहर निकाल लें। हफ्ते में एक बार प्लांट की खुदाई जरूर करें, ताकी खाद मिट्टी में आसानी से अब्सॉर्ब हो जाए।
  • सफेद कीड़े या फिर अन्य तरीके के कीड़े से पौधे को बचाने के लिए बेकिंग सोडा या फिर नीम ऑयल का इस्तेमाल करें। इसके अलावा आप साबुन का पानी भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा यह हमें शेयर और लाइक कर जरूर बताएं व इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।

 

Image credit-freepik, shutterstock, flipcart