• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

मानसून में सड़ रहे हैं आपके पौधे तो बस करें ये आसान काम, फूलों से भर जाएगा गार्डन

अगर आपके गार्डन के पौधे ज्यादा बारिश की वजह से मर रहे हैं और पौधों में फूल नहीं आ रहे हैं तो आप ये हैक्स अपना सकती हैं।   
author-profile
Published -06 Jul 2022, 13:29 ISTUpdated -06 Jul 2022, 13:35 IST
Next
Article
how to get more flowers in plants during rainy season

मानसून के समय जहां जंगल हरे भरे हो जाते हैं, सड़क के किनारे और गार्डन में बहुत सारी हरी घास और खरपतवार उग जाते हैं, लेकिन एक बात जो इस सीजन में कई लोगों को परेशान कर सकती है वो ये है कि फूलों वाले सारे पौधे इस सीजन में ज्यादा पानी की वजह से सड़ने लगते हैं। मानसून के सीजन में कई लोगों के घरों में पौधों में कीड़े भी लग जाते हैं। गुड़हल के पौधे में लगे सफेद कीड़े, गुलाब के पौधे में लगे काले कीड़े आदि इस सीजन में बहुत ज्यादा परेशान कर सकते हैं। 

अगर आपकी भी यही समस्या है और मानसून में ज्यादा पौधे सड़ रहे हैं तो हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे हैक्स जिनसे इस सीजन में आपके पेड़ फूलों से भर जाएंगे। 

1. अलग से पानी ना डालें

सबसे पहली टिप ही यही है कि आप अलग से पानी इसके ऊपर ना डालें। फूल देने वाले पौधों को जितने पानी की जरूरत होती है वो अधिकतर मानसून की बारिश से पूरी हो जाती है। अगर आपकी आदत है कि आप रोज़ाना ही अपने पौधों को पानी देती हैं तो ऐसा ना करें। ये सीजन ऐसा नहीं है जिसमें रोजाना पानी दिया जाना चाहिए। ऊपरी मिट्टी सूखी दिखे तो पहले उसे थोड़ा खोदकर देखें। अगर उसमें नमी महसूस हो रही है तो ऊपर से पानी ना दें। दरअसल, इस सीजन में पौधों के खराब होने का सबसे अहम कारण ही यही होता है कि उनकी जड़ें ज्यादा पानी से सड़ जाती हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- Gardening Tips: गुड़हल के पौधे में लग जाएं सफ़ेद कीड़े तो ये 3 ट्रिक्स आएंगे काम 

2. मिस्ट स्प्रे का प्रयोग बिल्कुल ना करें

कई लोग पौधों को मिस्ट स्प्रे (Gardening tool for plants) से पानी देने की कोशिश करते हैं, लेकिन रोज़ाना इसकी जरूरत नहीं होती है और मानसून में तो इसकी जरूरत बिल्कुल ही नहीं होती है। ये पौधों को जरूरत से ज्यादा नम कर देगा और कीड़े बहुत ज्यादा आएंगे। 

hibiscus flowering plant in monsoon

गुड़हल का पौधा और गुलाब का पौधा इस मिस्ट स्प्रे के कारण सबसे ज्यादा सड़ता है और इसलिए आप पत्तियों में भी उस तरह से पानी ना डालें। हां, अगर दवा डाली जा रही है तो यकीनन मिस्ट स्प्रे की जरूरत पड़ेगी। 

3. मानसून के कीड़ों को ऐसे रोकें

इस सीजन में गुड़हल और गुलाब जैसे पौधों में बहुत ज्यादा कीड़े होने लगते हैं। सफेद कीड़े पूरी तरह से फूलों और पत्तियों को खराब कर देते हैं। काले कीड़ों के साथ भी ऐसा ही होता है जो गुलाब के फूल में अधिकतर होते हैं। अगर ऐसा हो रहा है तो नीम तेल स्प्रे दें, इसे पौधों में डालने का भी एक तरीका है। आप 3-4 लीटर पानी में दो ढक्कन नीम ऑयल (Use Of Neem Oil) डालकर पौधों पर स्प्रे करें। इसे स्प्रे के फॉर्म में ही डालना है और ये जरूरी भी है। 

gardening hacks for monsoon

4. फंगस से करें पौधों का बचाव 

मानसून के सीजन में इस समस्या से बहुत से लोग परेशान रहते हैं। ब्लैक फंगस कई सारे पौधों को मार देती है और साथ ही साथ पत्तियों की ग्रोथ भी रुक जाती है। ऐसे में होता ये है कि अगर किसी एक पौधे में ये हो रहा है तो पूरे गार्डन के कई पौधे इससे खराब हो जाते हैं।  

planting issues in monsoon

ऐसे में आप एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar) का इस्तेमाल करें। संक्रमित पौधे को इसी तरह से पानी देना है। 1 लीटर पानी में दो बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं और उसके बाद उसे संक्रमित पौधे पर स्प्रे करें।  

इसे जरूर पढ़ें- Gardening Tips: इन 10 ट्रिक्स से घर के पौधों को कीड़े लगने से बचाएं और गार्डन को बनाएं हरा-भरा 

मानसून में क्यों जल्दी खराब होते हैं पौधे 

  • पौधों की ओवर वॉटरिंग सबसे ज्यादा उन्हें खराब करती है। 
  • अगर मिट्टी के गमले में फंगस लगने लगी है या पौधों की जड़ें बाहर आने लगी हैं तो उनमें कीड़े लगने की गुंजाइश ज्यादा होती है। 
  • पौधों को सही तरह से सूरज की रौशनी नहीं मिलने के कारण भी ऐसा होता है। 
  • अगर उन्हें ग्रोथ करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल रही है तो भी पौधों में खराबी आएगी और मानसून में क्योंकि बहुत सारे खरपतवार उग जाते हैं तो उन्हें बढ़ने के लिए स्पेस नहीं मिलती है।  

पौधों में किसी भी तरह का DIY नुस्खा या बाजार से लाया हुआ फर्टिलाइजर इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट कर लेना चाहिए। हर तरह के पौधे पर हर तरह की ट्रिक सूट नहीं करती है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।  

Image Credit: India Mart/ Wikipedia/ Nursery Live

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।