कई बार ताज़ा सब्जियां और फल आसानी से नहीं मिलते। बड़े शहरों में तो ये समस्या और भी बड़ी है। अक्सर ये देखा गया है कि लोग घरों में खुद ही सब्जियां और फल उगाने लगते हैं, ऐसा आप भी कर सकती हैं। घरों में सब्जियां और फल उगाना आसान है और आप कम स्पेस में भी ये काम बेहतर तरीके से कर सकती हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन तरीकों के बारे में जिनकी मदद से आप कई सारी सब्जियों को घर में उगा सकती हैं।

इनके लिए न तो आपको नर्सरी से कोई पौधा लाना होगा और न ही आपको इनके बीज खरीदने की जरूरत होगी। रोज़ाना की सब्जी बनाते समय अपने किचन गार्डन में इन्हें बो दें और बस कुछ ही दिनों में आप देखेंगे कि आपकी सब्जियां उगने लगी हैं। तो कौन सी हैं ये सब्जियां? चलिए जानते हैं। 

1. लहसुन-

हो सकता है आपके ये सुनकर अजीब लगे, लेकिन आप घर पर ही लहसुन को उगा सकती हैं। जी हां, इसके लिए आपको जरूरत होगी एक बड़े कंटेनर और मिट्टी की। घर में उगाए जाने वाले पौधे अक्सर उतने बड़े आकार के नहीं होते जितने मार्केट में मिलते हैं, इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि आपको लहसुन भी छोटे आकार के ही मिलेंगे।

growing garlic in container

लहसुन उगाते समय क्या ख्याल रखना है-

लहसुन उगाते समय ये ध्यान रखने की जरूरत है कि आप सबसे बड़ी लहसुन की कलियों का इस्तेमाल करें। इसे उगाने के लिए जो मिट्टी इस्तेमाल करें उसमें 30 प्रतिशत रेत और कम्पोस्ट भी होना चाहिए। जिस कंटेनर का इस्तेमाल आप कर रही हैं वो गहरा और चौड़ा होना चाहिए।

गमले कैसे उगाएं लहसुन-

लहसुन को छीलना नहीं है। लहसुन की 4-5 बड़ी कलियां लें और उसके क्राउन पार्ट (ऊपरी हिस्से) को मिट्टी में लगाना है। कंटेनर की मिट्टी में थोड़े गहरे लेकिन चौड़ाई में छोटे छेद कर दें और उनमें ये लगाएं। लहसुन को 3-4 इंच गहरे गड्डे में ही लगाएं। इसे ऐसी जगह पर उगाएं जहां धूप ज्यादा आती हो। इसमें पानी भी तीन दिन में एक बार ही डालें या आपको जब लग रहा है कि मिट्टी बहुत सूख गई है तब भी डाल सकती हैं क्योंकि कुछ इलाकों में गर्मी ज्यादा पड़ती है इसलिए मिट्टी जल्दी सूखती है। दो कलियों के बीच कम से कम 4 इंच का अंतर रखें ताकि रूट्स फैल सकें। ये उगने में कम से कम 3 महीने का वक्त लगा देते हैं इसलिए धैर्य रखें।

इसे जरूर पढ़ें- Lockdown Challenge: तुलसी से लेकर खूबसूरत गुलाब तक, घर में आसानी से उगाएं ये 21 तरह के पौधे

2. आलू -

जी हां, हर घर में मौजूद इस आम सब्जी को भी आप घर में उगा सकती हैं। इसे करने के लिए आपको बस एक गहरे कंटेनर या गमले की जरूरत होगी।

growing potatoes in container

आलू उगाते समय रखें ध्यान-

आलू को उगाते समय कम्पोस्ट से बेहतर फर्टिलाइजर साबित हो सकता है। आप ऑर्गेनिक वेजिटेबल फर्टिलाइजर आसानी से मार्केट से ले सकती हैं। इसी के साथ, मिट्टी की क्वालिटी अच्छी होनी चाहिए। उसमें आप बहुत थोड़ी सी रेत मिलाएं। साथ ही जिस कंटेनर में आलू उगा रही हैं वो काफी गहरा होना चाहिए।

कैसे उगाएं कंटेनर में आलू-

आप आलू खरीद कर लाएं तो तब तक इंतज़ार करें जब तक आलू में से कोपल नहीं आती। इसमें 10 दिन ता समय लग सकता है। इसे पोटेटो आई (potato eye) भी कहा जाता है। जो भी आलू आप उगाने जा रही हैं उसमें कम से कम दो से तीन पोटेटो आई होनी चाहिए। आलू को बीच में से काटिए और आड़ा रख दीजिए। इसके ऊपर से मिट्टी और कम्पोस्ट का मिश्रण डालिए और कम से कम 40 दिनों तक इसे ठीक से पानी दीजिए।

आपको ध्यान ये रखना होगा कि हर 15 दिन में आपको ऊपर से थोड़ी मिट्टी डालनी होगी।

3. गाजर और मूली-

गाजर और मूली को घर में उगाना भी बहुत आसान है और इन्हें आप किसी कंटेनर में भी उगा सकते हैं।

easy carrot growing tips

गाजर या मूली उगाते समय रखें ध्यान-

एक बात का ख्याल आपको रखना होगा कि आप ये न सोचें कि 1 गाजर या मूली को मिट्टी में उगाने से दूसरी गाजर निकलेगी। अगर आप मार्केट से गाजर या मूली लेकर आते हैं तो इसे प्लांट कर हम सीड्स बना सकते हैं जो दोबारा प्लांट करने होंगे। ये होम गार्डन टिप आपके बहुत काम आ सकता है।

कैसे उगाएं गाजर या मूली-

आप बाज़ार से जो भी गाजर या मूली लेकर आती हैं उसका ऊपरी हिस्सा काट लीजिए। ध्यान रहे कि ये हिस्सा कम से कम 1.5 इंच का होना चाहिए। इसी हिस्से को आपको वैसे मिट्टी में लगाना है जैसे तस्वीर में दिखाया गया है।

मिट्टी में कम्पोस्ट की मात्रा 30 प्रतिशत होनी चाहिए। इसके अलावा, आप गाजर को सीधे मिट्टी में लगा दें। आपको ऊपर का हिस्सा मिट्टी से थोड़ा बाहर रखना होगा। ये हफ्ते भर के अंदर रूट्स डेवलप कर लेगी। उसके बाद आप देखेंगी कि छोटा पौधा उगने लगा है। कुछ दिनों में इसमें फूल आ जाएंगे और वो समय होगा जब आप इस गाजर में से बीज निकाल सकते हैं। अब उन बीजों को दूसरे कंटेनर में लगाया जा सकता है। ऐसा ही मूली के साथ भी करना होगा। इस पूरे प्रोसेस में 40 - 60 दिनों का समय लग सकता है।

Recommended Video



इसे जरूर पढ़ें- वेस्ट चीजों से क्रिएटिव आइडिया अपनाएं और अपने गार्डन को खूबसूरत बनाएं

4. हरा प्याज-

जितनी भी सब्जियों को हम घर पर उगा रहे हैं उनमें से सबसे आसान है हरे प्याज को घर पर उगाना।

हरा प्याज उगाते समय रखें ध्यान-

हरे प्याज का सफेद हिस्सा आप पूरी तरह से साबुत रखें। इसके ऊपर आधा इंच का हरा हिस्सा भी रखें।

कैसे उगाएं हरा प्याज-

ये छोटे से पॉट में भी आसानी से उग जाएंगे। आप मिट्टी में कम्पोस्ट डाल सकती हैं। जिस कंटेनर में आप हरा प्याज उगाने जा रही हैं वो गहरा होना चाहिए। कंटेनर की मिट्टी में छेद कीजिए  करीब 2.5 इंच का। अब इसमें रूट्स की तरफ से हरा प्याज लगा दीजिए और इसका हरा हिस्सा मिट्टी के ऊपर होना चाहिए।

इसकी मिट्टी आपको सूखने नहीं देनी है। दो से तीन हफ्तों में आप देखेंगे कि ये वापस उगने लगा है। घर पर सब्जियां उगाने का तरीका ये है कि हमेशा गहरे पॉट का इस्तेमाल करें। 

5. पुदीना-

आप अगर बाज़ार से फ्रेश पुदीना लेकर आई हैं तो उसे भी आसानी से घर पर उगा सकती हैं। इसके लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत नहीं करनी होगी।

पुदीना उगाते समय रखें ध्यान-

पुदीना उगाते समय आपको ये ध्यान रखना है कि आप ऐसा ही पौधा चुनें जिसकी स्टेम (stem) ज्यादा मोटी हो। हमें स्टेम के हिस्से की कटिंग करनी है। ऊपर की पत्तियों को छेड़ना नहीं है। सबसे खास बात ये है कि पुदीना फ्रेश होना चाहिए।

कैसे उगाएं पुदीना-

सबसे पहले रूट्स को अलग कर दीजिए। इसके बाद स्टेम के लगभग 7 इंच के टुकड़े को आप पानी से भरे ग्लास में रख दीजिए, ऊपर पत्तियों वाला हिस्सा पानी के बाहर होना चाहिए। ये ग्लास कांच का होना चाहिए। इसके बाद इसे ऐसी जगह पर रख दें जहां धूप आती हो। कुछ दिनों में आप देखेंगे कि पुदीने में रूट्स आने लगी हैं। रूट्स आने के बाद इसे किसी कंटेनर में प्लांट कर दीजिए। मिट्टी में फर्टिलाइजर बेहतर काम करेगा। प्लांट करने के 3 हफ्तों के अंदर आप देखेंगी कि नया फ्रेश पुदीना उगने लगा है।

ये पांचों पौधे घरों में उगाए जा सकते हैं और आपके लिए ये गार्डनिंग का एक नया एक्सपीरियंस हो सकता है। होम और गार्डन से जुड़ी अन्य टिप्स पढ़ने के लिए आप जुड़े रहें हरजिंदगी से।

All photo credit: freepik/ podgardening/ pinterest