जब साउथ इंडियन डिशेज की बात होती है तो उसमें इडली का नाम जरूर लिया जाता है। यह जितनी टेस्टी होती है, उतनी ही हेल्दी भी। आमतौर पर इडली को नाश्ते से लेकर डिनर तक खाना पसंद करते हैं। यह इतनी सॉफ्ट व स्पॉन्जी होती है कि मुंह में जाते ही घुल जाती हैं। अमूमन लोग इसे चटनी और सांभर आदि के साथ खाना पसंद करते हैं। हालांकि, इसकी सॉफ्टनेस के कारण बच्चे तो इसे ऐसे ही खा लेते हैं। लेकिन कभी-कभी कुछ महिलाओं के साथ ऐसा भी होता है कि वह घर पर कई बार इडली बनाती हैं लेकिन वह उतनी सॉफ्ट नहीं बनतीं और उन्हें समझ में नहीं आता कि आखिरकार गड़बड़ कहां हो रही है। हो सकता है कि आप भी रेसिपी देखकर इडली बनाती हों और वह उतनी सॉफ्ट ना बन पाती हों। तो चलिए आज हम आपको इडली को सॉफ्ट व स्पॉन्जी बनाने के लिए कुछ आसान ट्रिक्स के बारे में बता रहे हैं, जो यकीनन आपके बेहद काम आने वाले हैं-

सही हो चावल

inside  rice

अगर आप चाहती हैं कि आपकी इडली सॉफ्ट व स्पॉन्जी बने तो इसके लिए सही चावलों का चयन करना बेहद आवश्यक है। इडली बैटर को तैयार करने के लिए बासमती चावल का इस्तेमाल कभी नहीं करना चाहिए। बेहतर होगा कि आप इसके लिए इडली राइस या पार्बोल्ड राइस का उपयोग करें। लॉन्ग-ग्रेन राइस का उपयोग करने से बचें और इसके स्थान पर मीडियम-ग्रेन या शॉर्ट ग्रेन राइस को चुनें।

पोर्शन पर करें फोकस

inside  rice and part

अमूमन इडली को बनाने के लिए मुख्य रूप से दो इंग्रीडिएंट चावल और दाल का इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि इन्हें सोक करते समय आपको इनके अनुपात का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए। इडली बैटर के लिए 2ः1 अनुपात एकदम सही माना जाता है। अर्थात् हर दो कप चावल के लिए आपको एक कप दाल का इस्तेमाल करना है। वहीं अगर आप फरमेंटेशन के बाद एक बेहतर परिणाम चाहती हैं तो उसके लिए फ्रेश दाल का ही इस्तेमाल करें। पुरानी लंबे समय से रखी दाल का इस्तेमाल करने से आपको कभी भी बेहतर व सॉफ्ट इडली नहीं मिलेंगी।

इसे ज़रूर पढ़ें-कच्चे बेल को घर पर इस तरह पकाएं, लगेगा बाज़ार से भी अधिक स्वादिष्ट

ग्राइडिंग टेक्निक भी हो अलग

inside  soft Idli mixture

जब आप दाल और चावल को सोक करने के बाद उसे पिसती हैं तो उस समय भी आपको कुछ बातों का खास ख्याल रखना चाहिए। मसलन, आप फूड प्रोसेसर की जगह वेट ग्राइडंर को इस्तेमाल कर सकती हैं। इसी तरह दाल-चावल को ग्राइंड करते समय आप आईस-कोल्ड वाटर को डालें। याद रखें कि ठंडा पानी इसमें एड करना जरूरी है क्योंकि मिश्रण को पीसते समय उसे गर्म नहीं होना चाहिए। बैटर या तो ठंडा होना चाहिए या कमरे के तापमान पर होना चाहिए।

Recommended Video

मेथीदाने की लें मदद

inside  methidana '

अगर आप इडली की फ्लफीनेस को सही तरह से बनाए रखना चाहती हैं तो इसमें मेथीदाना यकीनन आपकी काफी मदद कर सकता है। यह हेल्दी है और फरमेंटेशन में आपकी मदद कर सकता है। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि आप इसका बहुत अधिक इस्तेमाल ना करें, अन्यथा आपकी इडली स्वाद में कड़वी हो जाएगी।

इसे ज़रूर पढ़ें-खाने में कुछ अलग ट्राई करना है तो बनाएं पखला भात

 

अपनाएं यह स्मार्ट हैक

inside  soft Idli bake in homne

यदि आप फ्लफी और सॉफ्ट इडली बनाना चाहती हैं तो ऐसे में आप इस स्मार्ट हैक की मदद लें। बस आप इंग्रीडिएंट्स को ग्राइंड करने के बाद और उसे फरमेंट करने से पहले अपने हाथों की मदद से अच्छी तरह फेंटें। ऐसा करने से मिश्रण के अंदर पर्याप्त हवा आती है, जिससे इडली को सॉफ्ट बनाने में मदद मिलती है। इसके लिए आप अपने हाथ से लगातार बैटर को हिलाते हुए कम से कम 5 मिनट तक मिलाएं। इसके बाद, इसे ढक्कन के साथ कवर करें और इसे फरमेंट होने के लिए छोड़ दें। सुनिश्चित करें कि आप फरमेंटेशन के लिए प्लास्टिक या एयरटाइट कंटेनर का उपयोग नहीं करते हैं। स्टील के बर्तन इसके लिए सबसे अच्छे माने जाते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik