घर पर राजगिरा परांठा अगर आपने अब तक नहीं बनाया तो ये रेसिपी जानने के बाद आप इस rajgira paratha को घर पर एक बार जरूर बनाना चाहेंगी। वैसे ये परांठे ज्यादाकर व्रत के दिनों में भारत में खाए जाते हैं। 

अगर आपका कुछ हल्का खाने का मन है या आपकी तबीयत ठीक नहीं है तो आप राजगिरा परांठा बनाकर खा सकती हैं। 

परांठे के अलावा आप राजगिरा जिसे रामदाना भी कहते हैं इससे पूरी और हलवा भी बना सकती हैं। इससे परांठे बनाना वैसे आसान नहीं है क्योंकि इसे बेलने पर ये बार-बार टूट जाते हैं। इसे सही तरह से बेलकर आप इसके स्वादिष्ट परांठे कैसे बनाकर खाएं आइए आपको इसकी रेसिपी बताते हैं। 

राजगिरा परांठा बनाने की सामग्री

  • राजगिरा- 1 कप
  • आलू- 1/2 कप
  • अदरक 1 इंच का टुकड़ा कद्दूकस किया हुआ
  • हरी मिर्च- 2 बारीक कटी हुई
  • तेल- 2 चम्मच
  • नमक- स्वादानुसार
  • हरा धनिया1/4 कप बारीक कटे हुए

Read more: सर्दी जाने से पहले जरूर खाकर देखिए बथुये के पराठे

राजगिरा परांठा बनाने की विधि

  • राजगिरा परांठा बनाने के लिए आप सबसे पहले आलू उबाल लें और फिर उसे कद्दूकस कर लें या फिर हाथों से बारीक पीस लें। 
  • अब एक बाउल लें और उसमें राजगिरा का आटा डालें इसमें उबले हुए आलू अदरक का पेस्ट, बारकी कटा हुआ थोड़ा सा धनिया, हरी मिर्च बारीक कटी हुई या पेस्ट, नमक और तेल ये सब डालकर आप इसे अच्छी तरह से मिक्स कर लें। 
  • अब हल्का सा पानी डालते हुए इसे गूंद लें। ध्यान रखें कि आटा ज्यादा पतला ना गूंदे नहीं तो ये बेलते समय टूटता रहेगा। 

rajgira paratha roti recipe inside

  • अब आप इस आटे की छोटी सी लोई बनाकर इसे बेलने के लिए निकाल लें। 
  • गैस पर तवा गर्म करने के लिए रख दें। और फिर आप लोई को चकले पर पन्नी रखकर हाथों से या फिर बेलने से हल्के हाथों से बेलें। 
  • तवा जब अच्छे से गर्म हो जाए तब आप उसमें आधा चम्मच तेल डालकर उसे चारों तरफ से चिकना कर लें। 

Read more: मूलचंद परांठे वाला है मशहूर, ऐसा क्या है इसमें खास जो शाहरुख खान भी आते थे यहां

  • फिर एक हाथ पर हल्का सा तेल या फिर पानी लगाकर आप जिस पन्नी पर आपने परांठा बेला है उसे ध्यान से उठाएं गिले या चिकने हाथ पर उठाकर उसे तवे पर डाल दें।
  • ध्यान रखें कि जब तक परांठा एक तरफ से ना सिक जाए आप इसे पलटाए नहीं। फिर एक तरफ से परांठा सिकने के बाद आप इसे दूसरी तरफ से पलटाकर सेक लें। 
  • जब परांठा दोनो तरफ से अच्छी तरह से सिक जाए तो आप इसे एक प्लेट में निकाल लें। 
  • अगर आप व्रत में इसे खा रही हैं तो इसके साथ आलू वाली रस्सेदार सब्जी या दही के साथ इसे खाएं। 

Tips: अगर आपका आटा नरम पड़ जाए तो आप उसमें थोड़ा सा और आटा मिला सकती हैं। आप चाहें तो आप इसमें पनीर या कोई और पिट्टी भी भर सकती हैं। स्टाफिंग भरकर परांठा बनाएंगी तो ये और भी स्वादिष्ट बनेंगें।

Read more: ऐसे बनता है 81 लेयर वाला वरकी परांठा जिसे लच्छेदार चुरचुर परांठा भी कहते हैं

राजगिरा आटे के फायदें

राजगिरा आटा सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। ये प्रोटीनयुक्‍त होता है, इसमें विटामिन सी, और ई के अलावा आयरन, मैगनिश्‍यम, फॉसफोरस, पोटैशियम और एंटीऑक्‍सीडेंट भी बहुत ज्यादा होता है। इसे खाने से हड्डियों की बीमारी नहीं होती क्‍योंकि इसमें दूध के मुकाबले दोगुना कैल्‍शियम होता है। 

रिसर्च से पता चला है कि इसमें प्रोटीन होने की वजह से भूख दबाता है। अगर आपको ग्‍लूटन एलर्जी होती है तो आप इस टेस्‍टी आहार को अपनी डाइट में शामिल करें। इसमें गेहूं के मुकाबले 5 गुना आयरन और 3 गुना फाइबर होता है।