नाश्ते दिन का सबसे पहला मील होने के साथ-साथ सबसे मुख्य आहार भी माना जाता है। यह आपको पूरा दिन काम करने के लिए ऊर्जा प्रदान करता है। ऐसे में इसका हेल्दी होना भी बेहद आवश्यक है। आमतौर पर, सुबह के समय महिलाओं के पास इतना समय नहीं होता कि वह नाश्ता बनाने में अत्यधिक समय खर्च करें।  ऐसे में आपको नाश्ते का ऐसा विकल्प चुनना होता है, जो हेल्दी होने के साथ-साथ क्विक भी हो। इस लिहाज से ओट्स और कॉर्नफ्लेक्स का सेवन करना अच्छा माना जाता है। इन दोनों को ही हेल्दी फूड इंग्रीडिएंट समझा जाता है और हेल्थ कॉन्शियस लोगों के लिए यह एक बेहतरीन व पॉपुलर ब्रेकफास्ट ऑप्शन है। जहां कॉर्नफ्लेक्स क्रंची होते हैं, वहीं ओट्स च्वूइंग टेक्सचर के होते हैं। हालांकि, अगर आप यह जानना चाहती हैं कि इन दोनों इंग्रीडिएंट्स में से कौन सा अधिक हेल्दी है और आपको किसका सेवन करना चाहिए। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको इस बारे में बता रहे हैं, जिसे पढ़ने के बाद आप भी अपने लिए एक बेहतरीन ब्रेकफास्ट ऑप्शन सलेक्ट कर पाएंगी-

कॉर्नफ्लेक्स से मिलते हैं यह फायदे

coenflaks benefits

कॉर्न से बने, कॉर्नफ्लेक्स बेहद क्रंची होते हैं और अपनी क्रिस्पीनेस के कारण ही इसे लोग खाना बेहद पसंद करते हैं। कॉर्नफ्लेक्स की सबसे अच्छी बात यह है कि आपको इसे पकाने के लिए अलग से मेहनत व समय खर्च  करने की आवश्यकता नहीं है। बस गर्म दूध, चीनी डालें और यह दो मिनट में तैयार हो जाता है। कॉर्नफ्लेक्स विटामिन, फोलेट, कार्बोहाइड्रेट, खनिज और आहार फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं। इसका कैलोरी काउंट भी काफी कम होता है, जिसके कारण आप लिमिटेड मात्रा में इसका सेवन करते हुए वेट लॉस प्रोसेस को स्पीडअप कर सकती हैं।

ओट्स से मिलते हैं यह फायदे

oats benefits

ओट्स फाइबर से भरपूर होते हैं और इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। मार्केट में मुख्य रूप से तीन प्रकार के ओट्स मिलते हैं- स्टील कट, इंस्टेंट और रोल्ड ओट्स। जहां, स्टील-कट ओट्स सबसे कम प्रोसेस्ड होते हैं वहीं इंस्टेंट ओट्स सबसे अधिक प्रोसेस्ड होते हैं। चूंकि ओट्स में कॉम्पलेक्स कार्बोहाइड्रेट व फाइबर पाए जाते हैं, इसलिए इसका सेवन करने से वह आप लंबे समय तक खुद को फुलर महसूस करते हैं। वहीं, अगर ओट्स के पोषक तत्वों की बात हो तो इसमें आयरन, थायमिन, जिंक, मैग्नीशियम और सेलेनियम भी पाया जाता है। इसके अलावा, यह ग्लूटन फ्री होते हैं, जिसके कारण हेल्थ कॉन्शियस लोग बेहद आसानी से इसका सेवन कर सकते हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-घर पर आसानी से बनाएं नूडल्स पफ, बच्चे करेंगे खूब पसंद

किसे करें शामिल

breakfast

वैसे तो ब्रेकफास्ट के लिए ओट्स और कॉर्नफ्लेक्स दोनों को ही अच्छा ऑप्शन माना जाता है, लेकिन अगर इन दोनों में से किसी एक का सेवन करने की बात हो तो ऐसे में ओट्स का सेवन करना यकीनन एक अच्छा ऑप्शन है, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा कॉर्नफ्लेक्स की अपेक्षा अधिक होती है। दरअसल, प्रति 100 ग्राम ओट्स में 26 ग्राम प्रोटीन होता है, जबकि कॉर्नफ्लेक्स में 7 ग्राम होता है। वहीं, फाइबर के लिहाज से भी ओट्स बेहतर होते हैं, क्योंकि इनमें 16 ग्राम फाइबर होता है, जबकि कॉर्नफ्लेक्स में सिर्फ 2 ग्राम होता है। वहीं अगर कैलोरी काउंट की बात हो तो उस लिहाज से कॉर्नफ्लेक्स को अच्छा ऑप्शन माना जाता है, क्योंकि एक कप ओट्स में 300 कैलोरी होती है, जबकि कॉर्नफ्लेक्स में केवल 100 कैलोरी होती है। 

Recommended Video

ऐसे बनाएं अधिक टेस्टी

corn recipe in hindi

कुछ लोग ओट्स व कॉर्नफ्लेक्स को अपनी ब्रेकफास्ट का हिस्सा तो बनाना चाहती है, लेकिन अगर आपको उसका टेस्ट अच्छा नहीं लगता तो ऐसे में आप उसे कुछ तरीकों से अधिक टेस्टी बना सकती हैं। मसलन, 

ओट्स को टेस्टी और हेल्दी बनाने के लिए अपने ओट्स में कुछ कटे हुए फल मिलाएं। वहीं, ओट्स में चीनी के स्थान पर उसमें गुड़, शहद या स्टीविया के साथ मीठा करके और भी स्वास्थ्यवर्धक बनाया जा सकता है। आप ओट्स से कई रेसिपी बनाकर उसे अधिक डिलिशियस बना सकती हैं जैसे ओटमील, मसाला ओट्स, ओट्स चीला, ओट्स स्मूदी, ओट्स कटलेट, ओट्स चपाती आदि।

वहीं अगर बात कॉर्नफ्लेक्स की हो तो आप कटोरे में कॉर्नफ्लेक्स और दूध में बादाम, अखरोट, चिया सीड्स या कद्दू के बीज जैसे कुछ मेवे और बीज भी मिला सकते हैं। कटे हुए सेब, केले और स्ट्रॉबेरी को भी कॉर्नफ्लेक्स में मिलाने से उसका स्वाद बढ़ाया जा सकता है।

इसे ज़रूर पढ़ें- बेहद पसंद है कॉर्न तो इन अलग-अलग तरीकों से करें इसे टेस्ट

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik