कढ़ी उन डिशेज में से एक है जिसे भारत में लोग खाना बहुत पसंद करते हैं। राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, दक्षिण भारत सभी जगह कढ़ी की अलग वेराइटी है और बनाने के तरीके में भी बदलाव आता है। पंजाबी कढ़ी पकोड़ा खाना हो या फिर गुजराती मीठी कढ़ी इनकी रेसिपी को सही तरह से बनाना जरूरी है। भले ही आप किसी भी तरह की कढ़ी बना रही हों, लेकिन कुछ चीज़ों का ध्यान रखना जरूरी है। कढ़ी फटे नहीं और उसका टेक्सचर और फ्लेवर भी सही हो इसके लिए कुछ आसान ट्रिक्स को फॉलो कर सकती हैं आप। तो चलिए जानते हैं कढ़ी बनाने के कुछ आसान टिप्स। 

1. दही का रखें ध्यान-

कढ़ी बनाते समय आपको दही का ध्यान रखना होगा। वैसे भी कई लोग उसी दिन लाया गया दही नहीं इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अगर आप कढ़ी को और भी ज्यादा स्वादिष्ट बनाना चाहते हैं और चाहते हैं कि कढ़ी में वो क्रीमी टेक्सचर आए जैसा ढाबे आदि में होता है तो कढ़ी में हंग कर्ड (पानी निकाला हुआ दही) का इस्तेमाल करें। यकीनन आपको शायद लग रहा होगा कि ऐसा करने पर दही और बेसन अच्छे से मिक्स नहीं होंगे तो हम आपको इसी स्टोरी में दही और बेसन को फेंटने की ट्रिक भी बताने वाले हैं। 1 या 2 दिन पुराने दही से हंग कर्ड बनाने के लिए आपको बस इसे कपड़े से छानना है। इसे किसी कपड़े या महीन छलनी में डाल दीजिए और एक दो घंटे तक छोड़ दीजिए। गाढ़ा दही ऊपर रह जाएगा और पानी निकल जाएगा। ये कढ़ी को परफेक्ट खट्टापन और क्रीमी टेक्सचर देगा। 

kadhi and other vegetables

इसे जरूर पढ़ें- बैंगन को पकाने के ये 8 अलग तरीके बनाएं खाने को और भी ज्यादा स्वादिष्ट

2. कढ़ी को उबालने की ट्रिक- 

ये तो आपको पता ही होगा कि कढ़ी को बेहतर बनाने की ट्रिक ये होती है कि उसे ज्यादा देर तक उबाला जाए। अगर कढ़ी आधे घंटे से कम उबाली जाती है तो उसमें थोड़ा सा कच्चापन रह जाता है, लेकिन अगर आपको परफेक्ट कढ़ी बनानी है तो उसमें पूरा पानी एक साथ न डालें। सबसे पहले इसमें थोड़ा सा पानी डालकर इसे उबालें और 5-10 मिनट तक पकने दें। इसे बीच-बीच में चलाते रहें क्योंकि कम पानी डालने पर कढ़ी के बर्तन के साइड में बेसन जमने लगेगा। आपको उसे ही बार-बार खुरच कर कढ़ी में मिलाना है। इसके बाद आप थोड़ा और पानी डालें और कढ़ी की कंसिस्टेंसी जैसी चाहिए उससे आधा कप एक्स्ट्रा पानी डालें क्योंकि गैस बंद करने के बाद भी कढ़ी गाढ़ी होती है। ध्यान ये रखना है कि इसे उबालते समय आपको बार-बार चलाना होगा। 

Recommended Video

3. लहसुन का फ्लेवर-

कई लोगों को लगता है कि कढ़ी में लहसुन का फ्लेवर सही नहीं होता, लेकिन ऐसा नहीं है। कढ़ी में लहसुन का फ्लेवर बहुत अच्छा लगता है, लेकिन अगर आप नहीं चाहतीं कि कढ़ी खाते वक्त लहसुन के छोटे-छोटे टुकड़े आपके मुंह में आएं तो लहसुन काटकर डालने की जगह तेल डालने से पहले कढ़ाई गर्म कर कच्चे लहसुन की कली को कढ़ाई पर घिस दीजिए। अगर आपको फ्लेवर ज्यादा चाहिए तो दो लहसुन की कली घिस दें। ये एक छोटी सी ट्रिक है जो बहुत कमाल का फ्लेवर कढ़ी में ला सकती है। 

kadhi chawal trick

4. कढ़ी को फटने से बचाने के लिए ये टिप आजमाएं- 

कढ़ी को फटने से अगर बचाना है तो ये ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि उसमें नमक कब डाला जाए। कढ़ी में नमक अगर थोड़ा भी पहले डाल दिया गया तो ये हो सकता है कि वो फट जाए। कढ़ी में नमक डालने के समय को लेकर कई लोग कनफ्यूज हो जाते हैं। ऐसे में आप कढ़ी में नमक तब डालें जब गैस बंद कर दी हो। जी हां, गैस बंद करने के तुरंत बाद अगर आप कढ़ी में नमक डालेंगे तो दो-तीन मिनट तक उसका टेम्प्रेचर उतना ही रहेगा जितना गैस पर चढ़े होने के वक्त होता था। ऐसे में कढ़ी के फटने की गुंजाइश बिलकुल खत्म हो जाएगी और साथ ही साथ नमक भी पूरी तरह से घुल जाएगा। 

इसे जरूर पढ़ें-  ये 4 टेस्‍टी महाराष्ट्रीयन दाल और आमटी रेसिपी आप जरूर ट्राई करें 

5. बेसन और दही से लंप्स हटाने के लिए करें ये काम- 

ये टिप मेरे लिए बहुत ही यूजफुल साबित हुई है क्योंकि मेरी कढ़ी अक्सर फट जाया करती थी। ऐसा तब भी होता था जब मैं नमक आखिर में डालती थी। इसका एक सबसे अहम कारण होता है दही और बेसन मिलाते समय लंप्स का बन जाना। इसे हटाने के लिए हमें दही और बेसन की मात्रा भी सही रखनी जरूरी है। जितना भी दही आप ले रही हों उससे एक तिहाई बेसन लें और इन दोनों को एक मिनट के लिए ब्लेंडर में चला लें। इससे आपका समय भी बचेगा और साथ ही साथ आपकी कढ़ी बहुत ही अच्छे टेक्सचर वाली बनेगी।  

अगली बार जब भी कढ़ी बनाएं तो ये ट्रिक्स जरूर ट्राई करें। अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरीज पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।