• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

इस पोजीशन में सोती हैं आप तो बचें, कहीं हो न जाएं ये बीमारियां

अगर आप इस आर्टिकल में बताई पोजीशन में सोती हैं तो बीमारियों से बचने के लिए अपनी इस आदत को तुरंत बदल दें। 
author-profile
Next
Article
worst sleep position hindi

नींद हमारे देखने, महसूस करने और काम करने के तरीके में प्रमुख भूमिका निभाती है। 'स्लीप' शब्द अब 'इम्यूनिटी' शब्द का पर्याय बन गया है, इसलिए एक्‍सपर्ट शरीर के इम्‍यून सिस्‍टम को अच्छा बनाने के लिए 7 से 8 घंटे की हेल्‍दी नींद की सलाह देते हैं। 

हम अपने जीवन का एक तिहाई हिस्सा सोते हुए बिताते हैं और हमारे शरीर की कार्यप्रणाली काफी हद तक हमारे नींद के चक्र और पैटर्न पर निर्भर करती है। इसका हमारे पीठ और रीढ़ की हेल्‍थ सहित हमारे स्वास्थ्य पर बहुत प्रभाव पड़ता है। इसलिए, हमारी नींद की पोजीशन हमारी नींद की गुणवत्ता को समृद्ध करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

हर किसी का शरीर स्वास्थ्य के आधार पर एक अलग नींद की पोजीशन की मांग करता है। इसलिए, अपनी सोने की पोजीशन को सही रखना महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह जागने पर आपके महसूस करने के तरीके में बड़ा बदलाव ला सकता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्‍यम से सबसे खराब पोजीशन के बारे में बता रहे हैं जो आपके स्‍वास्‍थ्य पर बुरा असर डाल सकती है। साथ विभिन्न प्रकार की नींद की पोजीशन और उनके प्रभाव के बारे में भी बताएंगे।  इस बारे में हमें Dr. Richa Sareen (Consultant) pulmonology बता रही हैं। 

expert quote on sleeping position

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, ऐसा लगता है कि नींद और अधिक चुनौतीपूर्ण हो जाती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मेनोपॉज के बाद स्लीप एपनिया की वृद्धि सहित कई तरह की चीजें हमारी नींद की गुणवत्ता को कम करने में योगदान करती हैं। पोस्ट मेनोपॉजल महिलाओं में प्री मेनोपॉजल महिलाओं की तुलना में स्लीप एपनिया होने की संभावना अधिक होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि मेनोपॉज के बाद महिलाओं में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का तालमेल बदलता है और वजन बढ़ता है।

सोने की सबसे खराब पोजीशन

lying on stomach

उम्र बढ़ने के साथ हमें बेहतर और गुणवत्तापूर्ण नींद लेने के लिए अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होती है। और ऐसा करने का एक तरीका यह सुनिश्चित करना है कि आप सही पोजीशन में सो रही हैं न कि सबसे खराब पोजीशन में। आप शायद यह न सोचें कि आपके सोने की पोजीशन का आपके स्वास्थ्य पर इतना अधिक प्रभाव पड़ता है। लेकिन ऐसा होता है। 

हम जानते हैं कि आपको सोने के बारे में चिंता करने के लिए एक और चीज की आवश्यकता होती है। तो चलिए एक के बारे में बात करते हैं- सोने की सबसे खराब पोजीशन, पेट के बल सोना। हालांकि, इस सोने की पोजीशन में बहुत सी महिलाएं सबसे अधिक आराम पाती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: सोने के ये 9 तरीके सुधार देंगे आपकी सेहत

यह पोजीशन आपके स्वास्थ्य के लिए सबसे खराब क्यों है?

पेट के बल सोना आपकी हेल्‍थ के लिए काफी हानिकारक होता है। यहां कुछ कारण बताए गए हैं।

पीठ और गर्दन को देता है स्‍ट्रेन

जब आप अपने पेट के बल सोती हैं, तो आपकी रीढ़ की हड्डी का तटस्थ स्थिति में रहना मुश्किल हो जाता है। इसका मतलब है कि आप पीठ और गर्दन की कुछ समस्याओं की संभावना को खोल रही हैं क्योंकि आपकी रीढ़ आपका समर्थन करने में असमर्थ होती है। इसके अतिरिक्त, आप इस पोजीशन में नीचे की ओर मुंह करके नहीं सो सकती हैं, इसलिए आप अपना सिर लगातार एक तरफ या दूसरी तरफ घुमाती हैं, जिससे सर्वाइकल स्‍पाइन के लिग्‍मेंट्स पर प्रेशर पड़ता है।

pet ke bal sona

वाइटल ऑर्गन पर दबाव

पेट के बल सोने से वाइटल ऑर्गन पर दबाव पड़ता है जो सेहत के लिए हानिकारक होता है।   

सांस लेना होता है मुश्किल

यह पोजीशन आपके डायाफ्राम पर प्रेशर डालती है, जिससे आपको सोते समय सांस लेने में दिक्‍कत हो सकती है।

इस आदत को कैसे बदलें?

अगर आप भी पेट के बल सोती हैं तो आपको इस आदत को ASAP बदलने की जरूरत है। पर कैसे?

अगर आप पेट के बल सोने की आदत को छोड़ नहीं पा रही हैं तो साइड करवट सोने की आदत डालें और फिर धीरे-धीरे पीठ के बल सोएं।

पीठ के बल सोना

Back sleeper

यदि आपको पीठ की समस्या है तो आपको अपनी पीठ के बल सोने में सबसे अच्छा लग सकता है। यह एक विशिष्ट हिस्से पर अतिरिक्त प्रेशर डालने की बजाय, आपकी पूरी रीढ़ में वजन वितरित करने में मदद करता है। अपने घुटनों के नीचे एक तकिया रखें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपकी रीढ़ की नेचुरल कर्व यथावत बना रहे।

अगर आपको गर्दन की समस्या है तो अपनी पीठ या बाजू के बल सोने से आपको सोने के लिए सबसे अच्छे विकल्प मिलेंगे।

इसे जरूर पढ़ें: ये 5 फायदे जानकर बाईं करवट सोने को हो जाएंगी मजबूर

साइड करवट से सोना

Side sleeper

यदि आप खर्राटे लेती हैं और/या आपको स्लीप एपनिया की समस्या है तो करवट लेकर सोने से उन समस्याओं को कम करने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन के अनुसार, यदि आप इन समस्याओं का सामना कर रही हैं तो करवट लेकर सोना सबसे अच्छा है।

Recommended Video

अच्‍छी नींद के लिए अन्‍य उपाय

  • जहां नींद की पोजीशन आपकी नींद की गुणवत्ता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, वहीं अन्य चीजें भी हैं जो आप अपनी नींद को बेहतर बनाने के लिए कर सकती हैं। एक तो यह है कि सोने के समय के आसपास कहीं भी कैफीन और अल्कोहल का सेवन बंद कर दें। इसकी बजाय, यदि आप एक हॉट ड्रिंक की तलाश में हैं तो कैमोमाइल चाय पर स्विच करें। यह आपको स्वाभाविक रूप से शांत करने में मदद करता है। 
  • सोने से पहले मैग्नीशियम सप्‍लीमेंट लेना एक और बढ़िया विकल्‍प है। यह आपको आराम करने में मदद करता है और सुबह हेल्‍दी डाइजेशन को बढ़ावा देने में भी मदद करता है। 
  • इसके अलावा, सोने से पहले अपने स्क्रीन समय को कम से कम करने या प्रतिकूल प्रभावों को कम करने के लिए ब्‍लू लाइट ब्‍लॉकिंग ग्‍लॉसेस पहनने पर विचार करें। 

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock.com

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।