क्या आपको लगातार सिरदर्द, मितली, धुंधला दिखाई देना और फिजिकल बैलेंस में परेशानी हो रही है? तो इन लक्षणों को नजर अंदाज ना करें क्योंकि यह ब्रेन ट्यूमर जैसी बड़ी समस्या का संकेत हो सकता है, तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। इस खतरनाक बीमारी की पहचान अगर समय रहते ना की जाए तो व्‍यक्ति के जीवन के लिए खतरा हो सकता है। जी हां ब्रेन इंसान का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है। लेकिन बिगड़ते लाइफस्टाइल को देखते हुए ब्रेन ट्यूमर का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। यह एक बहुत ही घातक रोग है। 8 जून को वर्ल्ड ब्रेन ट्यूमर डे मनाया जाता है। इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि यह बीमारी क्या है, इसके लक्षण और तेजी से फैलने के क्या कारण हैं?

इसे जरूर पढ़ें: कम पानी पीने से दो गुनी तेजी से बढ़ती है ये बीमारी

ब्रेन ट्यूमर क्या है

जी हां ब्रेन ट्यूमर में ब्रेन में बहुत सी सेल्स या कोई एक सेल असामान्य रूप से बढ़ने लगता है। हम जानते ही हैं कि बॉडी में सेल्स निरंतर विभाजित होते, मृत और उनके स्थान पर नए सेल्स जन्म लेते हैं। इस व्यवस्था में किसी कारण से गड़बड़ी पैदा हो जाए तो बॉडी के लिए परेशानी की स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसे में नए सेल्स तो पैदा होते रहते हैं, पर पुराने सेल्स खत्‍म नहीं होते है। धीरे-धीरे सेल्स और टिश्यु की एक गांठ बन जाती है। इसे ही हम ट्यूमर कहते हैं। यह ब्रेन के भीतर हो तो ब्रेन ट्यूमर होता है और एक समय बाद इसे ब्रेन कैंसर के रूप में पहचाना जाता है। सामान्य रूप दो तरह के ब्रेन ट्यूमर होते हैं, कैंसर वाला (घातक) या बिना कैंसर वाला (सामान्य) ट्यूमर।

brain tumor health inside

ब्रेन ट्यूमर के कारण

ब्रेन ट्यूमर का प्रमुख कारण कोई गंभीर बीमारी तो है ही, लेकिन कई बार यह लापरवाह लाइफस्टाइल के कारण भी होता है। ब्रेन ट्यूमर का एक बड़ा कारण खानपान में इस्तेमाल होने वाले तरह-तरह के नुकसानदेह केमिकल और प्रदूषण भी हैं। कई बार आनुवंशिक कारणों से भी यह समस्या देखने को मिलती है। लेकिन दुख की बात है कि आज भी ब्रेन ट्यूमर के असली कारणों के किसी को सही जानकारी नहीं है।

इसे जरूर पढ़ें: स्ट्रोक में ’Golden Hour’को समझना हैं बेहद जरूरी

ब्रेन ट्यूमर के लक्षण

  • सुबह उठने के तुरंत साथ ही सिर में दर्द होना
  • अचानक उल्टी जैसा महसूस होना
  • व्यवहार में परिवर्तन आना
  • छोटी छोटी बातों में चिड़चिड़ाहट होना
  • आंखों की रोशनी कम होना
  • बोलते मुंह से आवाज ना निकलना
  • मानसिक क्षमताओं में बदलाव
  • बॉडी के एक हिस्से में कमजोरी होना
  • रोजाना के कामों में गड़बड़ी करना
  • दौरे पड़ना और कम सुनाई देना

हालांकि अभी तक ब्रेन ट्यूमर के कारणों का सही-सही पता नहीं चल पाया है। लेकिन अगर कभी-कभी मिरगी के दौरे के सामान दौरा पड़ता हो या बेहोशी आती हो, सिर में असहनीय दर्द होता हो, हाथ-पैरों में ऐंठन हो, ज्यादा कमजोरी का एहसास हो, सुबह के समय सिर में अक्सर दर्द होता हो, दृष्टि का अचानक कम होना या कलर ब्लांइडनेस आदि जैसे लक्षण देखें जा रहे हैं तो किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

brain tumor health inside

एक्सपर्ट की राय

आरजीसीआईआरसी, रोहिणी के सीनियर कंसल्टेंट न्यूरोसर्जन डॉक्टर आर एस जग्गीद ब्रेन ट्यूमर के बारे में कहना है कि ''अन्य कैंसर या ट्यूमर के विपरीत, ब्रेन ट्यूमर आपके उस हिस्से को प्रभावित करता हैं जो आपको मानव के रूप में 'आप कौन हैं' बनाता है। ब्रेन ट्यूमर की घटनाएं समय के साथ बढ़ रही हैं। लगातार सिरदर्द, उल्टी, व्यवहार में परिवर्तन, धुंधला दिखना, असंतुलन, बोलने में समस्या होना आदि जैसे लक्षणों को अनदेखा ना करें। अगर ब्रेन ट्यूमर की जानकारी समय रहते हो जाए तो प्रभावी ढंग से इसका इलाज किया जा सकता है। सर्जिकल तकनीक, अनुवांशिक खोजों और बहुत कुछ, ब्रेन ट्यूमर का उपचार समय के साथ विकसित हुआ है और अच्छें परिणामों के साथ सुरक्षित हो गया है।''

वर्ल्ड ब्रेन ट्यूमर डे के मौके पर न्यूरोसर्जन डॉक्टर आर एस जग्गी का कहना हैं कि ''मैं चाहता हूं कि सभी भारतीयों ब्रेन ट्यूमर के प्रति सावधान, जागरूक और शिक्षित हो। ताकि हम इस समस्या का सामना आसानी से कर सकें।''