महिलाओं को होने वाली कई बीमारियों में से सबसे कॉम यूटीआई कहा जा सकता है। किसी भी वक्त, कभी भी ये इन्फेक्शन हमें परेशान कर सकता है। कई लोगों को तो हर 2-3 महीने में एक बार ये रिपीट हो जाता है और यूरिन में जलन होने से लेकर खून आने और बुखार और गले का इन्फेक्शन हो जाने तक ये परेशान कर सकता है। यूरिन इन्फेक्शन यूरिनरी ट्रैक्ट में मौजूद अंगों में जब बैक्टीरिया आ जाता है तब ये होता है। 

यूटीआई कई तरह के हो सकते हैं और ये ब्लैडर, यूरेथ्रा, किडनी तक पर असर कर सकते हैं। वैसे तो यूटीआई को आमतौर पर एंटीबायोटिक की मदद से ठीक किया जाता है, लेकिन कई बार ये अपने आप भी ठीक हो जाता है। पर अगर ये बढ़ जाए तो ये बाकी अंगों पर भी असर कर सकता है इसलिए डॉक्टर से बात करना बहुत जरूरी होता है। 

डायटीशियन और होलिस्टिक न्यूट्रिशनिस्ट और डाइट पोडियम की फाउंडर शिखा महाजन से हमने बात की और इस बारे में और जानने की कोशिश की। यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को लेकर कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है और वो ये कि आपको बाथरूम हाईजीन हमेशा मेंटेन करके रखनी होती है। 

expert advice on urine infection

यूटीआई के लक्षण-

अगर आपको यूटीआई हो रहा है तो ये लक्षण सामने आ सकते हैं-

  • यूरिन करते समय जलन होना (डाईसूरिया- Dysuria)
  • बार-बार यूरिन जाने की इच्छा होना और रात में ये बढ़ जाना
  • यूरिन का क्लाउडी होना
  • औसत से ज्यादा यूरिन आना
  • यूरिन में खून आना
  • पसलियों के नीचे, लोअर बेली और बैक में दर्द होना
  • बुखार आना, गर्मी लगना और कंपकंपी होना
  • शरीर का तापमान बहुत गिर जाना

इसे जरूर पढ़ें- ह्यूमिडिटी के दौरान आता है बहुत ज्यादा पसीना तो करें ये काम

kidney problems and urine infection

क्यों बार-बार होता है यूरिन इन्फेक्शन?

यूरिन इन्फेक्शन्स इसलिए होते हैं क्योंकि E. coli (वो बैक्टीरिया जो ह्यूमन वेस्ट में होता है) यूरिनरी ट्रैक तक पहुंच जाता है और ब्लैडर को इन्फेक्ट कर देता है। क्योंकि महिलाओं का यूरिन पाइप पुरुषों की तुलना में छोटा होता है इसलिए उन्हें ये इन्फेक्शन ज्यादा जल्दी होता है। अधिकतर इसकी वजह हाइजीन होती है। अगर आपकी पर्सनल हाइजीन ठीक तरह से मेंटेन नहीं है तो ये इन्फेक्शन हो सकता है। इसके अलावा, इन कारणों से भी यूरिन इन्फेक्शन बढ़ता है-

  • अनप्रोटेक्टेड सेक्स
  • उम्र के अनुसार (मेनोपॉज के पास और टीनएज में इसका खतरा ज्यादा होता है।)
  • हाइजीन की समस्याओं के कारण
  • किसी दवा के रिएक्शन के कारण
  • पब्लिक टॉयलेट और उसमें मौजूद गंदगी के कारण 
urine tests

यूरिन इन्फेक्शन के दौरान किन बातों का ख्याल रखना चाहिए? 

शिखा महाजन के अनुसार यूरिन इन्फेक्शन बैक्टीरियल इन्फेक्शन होता है जिसके बाद डिहाइड्रेशन होता है और हैवी एंटीबायोटिक के कारण परेशानी होती है।  

  • ऐसे में खुद को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। 
  • आपको सिट्रो सोडा जैसे alkaliser ड्रिंक्स भी पीने चाहिए। 
  • अपनी डाइट में क्रैनबेरिज ऐड करनी चाहिए जो यूटीआई को दूर रखेंगी। 
  • अपनी डाइट में ज्यादा विटामिन-सी लेने की कोशिश करें। 
  • आपको लो एसिड वाले फूड्स खाने हैं जिससे शरीर में एसिडिटी न हो क्योंकि यूटीआई के साथ ये समस्या भी बढ़ती है।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- महिलाओं को भी होते हैं शिलाजीत खाने के कई फायदे, एक्सपर्ट से जानें टिप्स  

कौन से टेस्ट्स होंगे यूटीआई के लिए परफेक्ट? 

शिखा महाजन के अनुसार अगर आपको यूरिन इन्फेक्शन हुआ है तो एक साधारण सा यूरिन टेस्ट भी आपकी बीमारी के बारे में बता देगा। अगर यूटीआई होता है तो डॉक्टर यूरिन कल्चर करवाने की सलाह भी दे सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यूटीआई का पता नॉर्मल यूरिन टेस्ट से हो जाएगा, लेकिन ये कितना बढ़ा है और आपके लक्षण कितने खतरनाक हो सकते हैं ये जानने के लिए यूरिन कल्चर जैसा डिटेल टेस्ट जरूरी होता है। जैसे ही आपको लक्षण दिखने शुरू होते हैं डॉक्टर से सलाह लेकर टेस्ट करवाना बहुत जरूरी होता है।  

यूरिन इन्फेक्शन जिसे होता है उसे ये बार-बार रिपीट हो सकता है। इसलिए स्थिति की गंभीरता को समझें और अगर आपको लक्षण दिखने शुरू होते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ऐसा इसलिए क्योंकि ये इन्फेक्शन बहुत तेज़ी से बढ़ता है और कुछ ही समय में आपके लक्षण बिगड़ सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।