कोर्टिसोल एक ऐसा हार्मोन है। जिसे स्‍ट्रेस हार्मोन के नाम से भी जाना जाता है। यह बॉडी को सूचित करता है कि आपको भूख लग रही है। बॉडी में कोर्टिसोल लेवल के बढ़ने से बॉडी में फैट और स्‍ट्रेस बढ़ता है। साथ ही इसका लेवल बढ़ने से हमें कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। इसलिए इसके लेवल को कम करना बहुत जरूरी है। अगर आपकी लाइफ में भी स्‍ट्रेस बहुत ज्‍यादा बढ़ गया है तो परेशान ना हो क्‍योंकि आज हम आपके लिए कुछ ऐसे मजेदार तरीके लेकर आए है, जिनसे इस हार्मोन को कंट्रोल किया जा सकता है।

कॉफी पीना

बॉडी में इस हार्मोन का लेवल सबसे ज्‍यादा सुबह के समय होता है इसलिए सुबह के समय हमें अधिक भूख लगती है। इसको कम करने का उपाय काफी लोकप्रिय है और हर किसी को पसंद आता है। भोजन के साथ एक कप कॉफी या सुबह-सुबह की कॉफी इस हार्मोन लेवल को कम करने में मदद करेगी जिससे आपको भूख कम लगेगी।

Read more: यूरिक एसिड में कमी लाकर पेट को हेल्‍दी बनाते हैं ये 10 तरीके

मेडिटेशन करें

meditaiton wellness

हावर्ड के शोधकर्ताओं ने साबित किया है कि मेडिटेशन से आपका मन शांत होता है। इसके साथ ही ये डायबिटीज, मोटापे और कैंसर जैसी कई सारी बीमारियों से निजात दिलाता है। मेडिटेशन आपको हर प्रकार से सुकून पहुंचाता है।

बॉडी खुद करती है अपनी प्रॉब्‍लम का इलाज

शायद आपको विश्‍वास नहीं हो रहा होगा लेकिन यह सच है कि बॉडी अपना इलाज खुद करना जानती है। जी हां चोट, जख्म भरने, इंफेक्‍शन से लड़ने तथा अन्य कई परेशानियों से लड़ने की क्षमता हमारी बॉडी में मौजूद होती है। कई जानकार तो यह भी कहते हैं कि हमारी बॉडी कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी लड़ सकती है। बॉडी की यह कुदरती रक्षात्मक क्षमता कोर्टिसोन हॉर्मोन को बढ़ने से रोकता है।

जानवरों का साथ

जानवरों के साथ खेलने से हमारे ब्रेन को सुकून मिलता है। इससे ब्रेन को शांत करने वाले हार्मोन एक्टिव हो जाते हैं। ये हार्मोन बॉडी के लिए सेल्फ हीलिंग का काम करते हैं। इसलिाए पालतू जानवरों के साथ खेलना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। तो, जब आपका कोर्टिसोल बढ़े और आपको स्‍ट्रेस महसूस करें, तो अपने पालतू जानवर के साथ समय बितायें।

हंसो और खुश रहो

हंसना लाख दुखों की दवा है, यह बात सभी जानते हैं। एक शोध में पाया गया है कि दिन में दस मिनट तक पेट पकड़कर हंसना आपको दो घंटे तक दर्द से निजात दिला सकता है। और जब आप पर हंसी का असर कम होने लगे, तो आप एक बार किसी कॉमेडी फिल्म का सहारा ले सकती हैं।

मसाज

massage wellness

 

मसाज तनाव व अन्य परेशानियों को दूर करने का सबसे असरदार तरीका माना जाता है। सही मसाज ना केवल आपकी मसल्‍स को राहत पहुंचाती है, बल्कि इसके साथ-साथ नर्वस सिस्टम को भी सही रखने में हेल्‍प करती है। इससे आपकी बॉडी बीमारियों और अन्य परेशानियों के प्रति खुद को ज्यादा बेहतर तरीके से तैयार कर पाती है।

योग

योग और डांस ना केवल आपकी बॉडी को हेल्‍दी रखते हैं, बल्कि आपके मेंटल हेल्‍थ का भी खयाल रखते हैं। ये आपके हीलिंग हार्मोन को बढ़ाते हैं और साथ ही कोर्टिसोल के लेवल को कम करने में हेल्‍प करते हैं।

उदार बनें

कहते हैं जब आप मुश्किल में हों, तो सिर्फ अपनी हेल्‍प करने से काम नहीं बनता। कई बार आपको दूसरों की मदद करनी चाहिये। इससे आपको काफी फायदा होता है। जब आप दूसरों के लिए कुछ करते हैं, तो आपको काफी खुशी मिलती है। यूं ही तो नहीं कहा जाता, 'किसी की मुस्कुराहटों पर हो निसार' आखिर इसी का नाम तो जीना है। किसी को कुछ देने या किसी के लिए कुछ करने से ब्रेन को शांत करने वाले हार्मोन स्रावित होते हैं और कोर्टिसोल का लेवल कम हो जाता है।

अकेले न रहें

अकेले रहने वाले महिलाओ को दिल की बीमारी होने का खतरा उन महिलाओं की अपेक्षा ज्यादा होता है, जो अकेले नहीं रहते। जानकार तो यह भी मानते हैं कि अकेलापन आपके लिए स्‍मोकिंग से ज्यादा खतरनाक है। और अगर आपकी लाइफ में किसी का साथ है तो आप ज्‍यादा खुश रहते हैं। अगर आप स्‍मोकिंग करती हैं और आपकी सोशल लाइफ भी जीरो है, तो इससे आपको होने वाले नुकसान कई गुना बढ़ जाते हैं। इसलिए आप अकेले रहने से बचें।

Read more: जानिए 7 ऐसे फूड आइटम्स के बारे में, जो आपको देंगे फैटी लीवर में राहत

रिलेशनशिप

अपने आप से पूछें कि इस समस्या का समाधान करने के लिए आपको क्या करने की जरूरत होती है। अगर आपके भीतर से आवाज आए कि नौकरी या रिलेशनशिप ही आपकी परेशानी की असल वजह है तो आपको उस पर पर पूरी तवज्‍जो देनी चाहिये। सही मायनों में यही आपकी बीमारी की असल दवा है।
इन मजेदार और आसान टिप्‍स को अपनाकर आप भी अपने स्‍ट्रेस हार्मोन के लेवल को कंट्रोल कर सकती हैं।

Recommended Video

 

 

 

योग