हमारे आसपास कुछ ऐसे फूड्स हैं जिन्हें सिर्फ आयुर्वेद के अनुसार ही नहीं बल्कि अन्य नज़र से भी हर रोज भोजन में शामिल करने से बचना चाहिए। जैसे-दही, चिकन, अधिक तला हुआ भोजन, फ़ास्ट फूड्स आदि हजारों नाम इस लिस्ट में शामिल है। ऐसे में कुछ ऐसे भी प्रोसेस्ड फूड्स होते हैं जिनका अधिक सेवन करने से बचाना चाहिए। इन अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स में ऐसे कई फूड्स हैं, जिन्हें खाने के कुछ दिन बाद ही उल्टा असर भी दिखाई देना लगता है। आयुर्वेद की डॉक्टर वारालक्ष्मी Yanamandra बताने जा रही हैं कि किन अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स को सेवन करने से बचना चाहिए। इस लेख में अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड्स क्या होता है इसके बारे में भी जानकारी देने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

क्या होता है प्रोसेस्ड फूड्स?

processed food to avoid eating daily as per ayurveda inside

प्रोसेस्ड फूड्स सेवन न करने से पहले ये जान लेते हैं कि आखिर ये होता है क्या। प्रोसेस्ड फूड्स के तात्पर्य है कि किसी खाद्य पदार्थ को उसके वास्तविक रूप के बजाए किसी अन्य रूप में सेवन कर रहे हैं। जैसे-आलू को ना खाकर आप इससे तैयार चिप्स, चिल्ली पोटैटो या फिर फ्रेंच फ्राई आदि खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं। इस प्रक्रिया में रसायनों का प्रयोग होने से उसकी असल गुणवक्ता ख़राब हो जाती है और यही फूड्स आपके लिए हानिकारक साबित हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: फ्रूट्स खाने के नियमों के बारे में क्या कहता है आयुर्वेद, आप भी जानें

पोटैटो चिप्स

ultra processed food to avoid eating daily as per ayurveda inside

डॉक्टर वारालक्ष्मी अपने सोशल मीडिया पोस्ट में सबसे पहले पोटैटो चिप्स का ही जिक्र करती हैं। ये लगभग हम सभी जानते हैं कि आजकल फ़ास्ट फ़ूड के तौर पर पोटैटो चिप्स को लोग कितना पसंद पसंद करते हैं। ऐसे में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पोटैटो चिप्स प्रोसेस्ड फूड्स में से एक है, जो आपके सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। चिप्स बनाने में कई रासायनिक चीजों का इस्तेमाल होता है, जिसके चलते सेहत ख़राब होने का डर रहता है। ऐसे में इसके सेवन से आपको बचना चाहिए।

Recommended Video

फ्रोजन फूड

ultra processed food inside)

आजकल की बदलती लाइफस्टाइल में फ्रोजन फूड का कुछ अधिक ही इस्तेमाल होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फ्रोजन फूड, पैकेटबंद फूड्स को बोला जाता है, जो एक प्रोसेस्ड फूड्स होते हैं। फ्रोजन फूड में हाइड्रोजेनेटेड पाम ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे सेहत के लिए सही नहीं माना जाता है। इसके अलावा फ्रोजन फूड में स्टार्च और ग्लूकोज से बने कॉर्न सिरप जैसे प्रिजर्वेटिव का उपयोग होता है, जो सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: इन टिप्स की मदद से रखा जा सकता है आंखों का सही ख्याल

ग्रेनोला बार और फ़िज़ी ड्रिंक

avoid eating daily as per ayurveda inside

कुछ प्रोसेस्ड फूड्स खाने में टेस्टी हो लगता है लेकिन, सेहत के लिए भी बहुत हानिकारक माना जाता है। जैसे-ग्रेनोला बार को लगभग हर कोई बड़े ही प्रेम के साथ खाना पसंद करते हैं लेकिन, इसका सेवन आपको जल्दी बीमार भी कर सकता है। हां, घर पर तैयार ग्रेनोला बार सही हो सकता है। इसके अलावा फिजी ड्रिंक का सेवन करने से भी आपको बचना चाहिए। फिजी ड्रिंक में ऐसी कई चीजों का मिश्रण होता है, जो आपको बीमार करने के काफी है। (इन भोजन से रात में दूरी बनाने के लिए कहता है आयुर्वेद)

इन सभी फूड्स के अलावा कैंडी बार, हॉट डॉग, पिज़्ज़ा के साथ-साथ अधिक पैकेटबंद नामिक खाने से बचाना चाहिए। यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@assets.sentinelassam.com,studyfinds.org)