टंग स्क्रैपिंग यानी की जीभ पर जमी बैक्टीरिया की परत को साफ करने से मुंह की सफाई होने के साथ ऐसे तत्वों को भी बाहर करने में मदद मिलती है, जिनकी वजह से मुंह से बदबू आ सकती है। टंग स्क्रैपिंग प्लास्टिक या मेटल से बने टूल से की जाती है। हालांकि यह ब्रशिंग का विकल्प नहीं है, लेकिन रोजमर्रा की जिंदगी में इससे ओरल केयर बनाए रखने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं टंग स्क्रैपिंग के फायदों के बारे में- 

मुंह का स्वाद रहता है बेहतर 

tongue scraping benefits for oral hygiene

कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि टांग स्क्रैपर का इस्तेमाल करने से मुंह का स्वाद सही बना रहता है। इससे जीभ साफ बनी रहती है, जिससे खाने के अलग-अलग तरह के स्वाद जैसे कि खट्टा, मीठा, कड़वा आदि में फर्क करने में मदद मिलती है। 

इसे जरूर पढ़ें: मुंह की बदबू से हैं परेशान तो आजमाएं दादी मां के ये 5 नुस्‍खे

बैक्टीरिया का सफाया

एक स्टडी में पाया गया की टंग स्क्रैपर का दिन में रोजाना दो बार 7 दिन तक इस्तेमाल करने से  Mutans streptococci और Lactobacilli बैक्टीरिया को रोकने में मदद मिलती है। ये दोनों ही दांतों में सड़न और सांसों में बदबू के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं। जब इन बैक्टीरिया का सफाया होता है तो इससे कई बैनिफिट्स मिलते हैं- कैविटीज को रोकने में मदद मिलती है, मसूड़े की बीमारियों और मुंह से जुड़ी दूसरी बीमारियों को रोकने में मदद मिलती है। यही नहीं इससे फास्ट फूड की क्रेविंग को रोकने में भी मदद मिलती है। क्योंकि जीभ साफ रहने पर खाई जाने वाली चीजों का रियल टेस्ट मिलता है, जिससे संतुष्टि बनी रहती है। यही नहीं टंग स्क्रैपिंग से जीभ साफ दिखती है और हमारी सेंस्टिविटी बरकरार रहती है।

इसे जरूर पढ़ें: इसे जरूर पढ़ें: प्याज-लहसुन खाने के बाद मुंह से आ रही बदबू को मिटाएंगे ये 5 घरेलू नुस्खे

टिशुज रहते हैं हेल्दी

जीभ पर डेड सेल्स और बैक्टीरिया के होने की वजह से कई बार एक सफेद परत सी नजर आने लगती है। रोजाना टंग स्क्रैपिंग करने से यह सफेद परत हट जाती है और जीभ साफ-सुथरी बनी रहती है। टंग स्क्रैपिंग से खून का दौरा सही बनाए रखने में मदद मिलती है। इससे हेल्दी टिशुज की ग्रोथ बनी रहती है। साथ ही इससे जीभ तक ऑक्सीजन और न्यूट्रिएंट्स पहुंचने में भी मदद मिलती है। 

Recommended Video

सांसों से बदबू से छुटकारा

साल 2004 में हुई एक स्टडी में पाया गया की टंग स्क्रैपिंग से मुंह में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया को साफ करने में ज्यादा मदद मिलती है। नियमित रूप से टंग स्क्रैपिंग करने से ही ओरल हेल्थ बनाए रखने में मदद मिलती है। ऐसा इसलिए क्योंकि खाने-पीने के बाद मुंह में लगातार बैक्टीरिया ग्रोथ होती है और अगर नियमित अंतराल पर टंग स्क्रैपिंग ना की जाए, तो उससे मुंह में कीटाणु बढ़ सकते हैं। 

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

Dr Sneh N. Roy Bds,Mph, DRTB Coordinater, बताती हैं, सुबह के वक्त अक्सर जीभ पर एक सफेद परत जमी हुई दिखाई देती है, जबकि सुबह कुछ खाया-पिया नहीं होता। ऐसा बैक्टीरिया की ग्रोथ की वजह से होता है। अगर हम टंग स्क्रैपिंग यानी जीभ की सफाई करते हैं तो उससे ओरल हाईजीन को मेंटेन रखने में मदद मिलती है। टंग स्क्रैपिंग से खराब बैक्टीरिया को मुंह से बाहर करने में मदद मिलती है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ओवर टंग स्क्रैपिंग ना करें। क्योंकि हमारी जीभ खुरदरी होती है और यह हमें अलग-अलग तरह के टेस्ट को पहचानने में मदद करती है। जरूरत से ज्यादा टंग स्क्रेपिंग करने पर टेस्ट बड्स पर असर पड़ सकता है, जिससे हमारे खाने का जायका बिगड़ सकता है।'