जब एक महिला प्रेग्नेंट होती है तो उसके आसपास मौजूद हर व्यक्ति उसकी देख-रेख में लग जाता है। अमूमन इस दौरान महिलाओं को भरपूर आराम और आवश्यकता से अधिक खाना खाने की सलाह दी जाती है। अक्सर आपने बड़े-बूढ़ों को गर्भवती महिला से यह कहते हुए सुना होगा कि अब तुम्हारे पेट में बच्चा है तो तुम्हें अपना अधिक ख्याल रखना चाहिए। खाना अच्छी तरह खाओ, तुम जो भी खाओगी, वह तुम्हारे बच्चे को लगेगा।

यह सच है कि गर्भावस्था में एक स्त्री को हेल्दी फूड खाना चाहिए। लेकिन हेल्दी भोजन खाने और फैटी फूड्स खाने में अंतर होता है। अमूमन देखने में आता है कि गर्भावस्था में महिला अपने खानपान को लेकर इतना अधिक कॉन्शियस हो जाती है कि उनका वजन तेजी से बढ़ने लगता है। ऐसे में कई बार महिला ओवरवेट हो जाती है, जिसका विपरीत असर उनकी प्रेग्नेंसी पर भी पड़ता है। तो चलिए आज सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन डॉ रितु पुरी आपको गर्भावस्था में ओवरवेट से बचने के कुछ आसान उपायों के बारे में बता रही हैं-

about some tips to control obesity during pregnancy expert

पहचानें ओवरवेट की समस्या

डॉ रितु बताती हैं कि बहुत सी महिलाओं को यह पता ही नहीं चलता कि वह गर्भावस्था में वेट गेन कर रही हैं। दरअसल, जब महिला का वजन बढ़ने लगता है तो उसे ऐसा लगता है कि उसके गर्भ में शिशु पल रहा है, इसलिए ऐसा हो रहा है। लेकिन कई बार आप वास्तव में ओवरवेट होना शुरू हो जाती हैं और आपको पता ही नहीं चल पाता। इसलिए सबसे पहले इसकी पहचान करना आवश्यक है। मसलन, शुरूआती तीन महीनों तक महिला का वजन नहीं बढ़ता, लेकिन अगर उसके बाद आपका हर महीने दो किलो से ज्यादा वजन बढ़ना शुरू हो गया है तो इसका अर्थ है कि आप वेट गेन कर रही हैं और इस पर आपको ध्यान देना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: Expert Tips: क्या आप जानती हैं खाली पेट फलों का सेवन हो सकता है सेहत के लिए नुकसानदेह

कैलोरी पर रखें नजर

about some tips to control obesity during pregnancy inside

जब एक महिला गर्भवती होती है तो उसके परिवार के सदस्य उसे घी, मक्खन आदि बहुत अधिक मात्रा में देना शुरू कर देते हैं। जिससे महिला का हाई फैट लेने लगती है और उसका कैलोरी काउंट भी गड़बड़ा जाता है। अगर आप इन चीजों का सेवन कर रही हैं तो इसे सीमित मात्रा में करें और साथ ही साथ अपने कैलोरी काउंट पर भी नजर रखें। एक गर्भवती महिला को हर दिन 1600-2000 कैलोरी प्रतिदिन लेनी चाहिए। हालांकि, यह कैलोरी काउंट हर महिला और उसकी प्रेग्नेंसी के अनुसार थोड़ा कम या ज्यादा हो सकता है। 

हाई प्रोटीन डाइट

about some tips to control obesity during pregnancy inside

प्रोटीन हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक है। खासतौर से, जब एक महिला गर्भवती होती है तो उसे हाई प्रोटीन डाइट लेनी चाहिए। अंडे, दूध, दालें उसे अधिक खानी चाहिए। यह ना केवल महिला और उसके गर्भस्थ शिशु के लिए आवश्यक है। बल्कि हाई प्रोटीन डाइट लेने से गर्भावस्था में वजन को नियंत्रित रखने में भी मदद मिलती है।

Recommended Video

सही तरह से लें प्रोटीन पाउडर 

about some tips to control obesity during pregnancy inside

कई बार गर्भावस्था में महिला के शरीर की जरूरतों को देखते हुए डॉक्टर उन्हें प्रोटीन पाउडर लेने की भी सलाह देते हैं। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि महिला स्वस्थ रहने के चक्कर में इन प्रोटीन पाउडर का गलत तरीके से और बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने लग जाती हैं, जिससे एक समय के बाद उनका वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। इसलिए, अगर आपको प्रोटीन पाउडर लेने के लिए कहा गया है तो आप उतना ही सेवन करें, जितना डॉक्टर ने आपको प्रिसक्राइब किया है।

इसे भी पढ़ें: बिना डाइटिंग के वजन कम करने के लिए 3 टिप्स अपनाएं

जरूर करें फिजिकल एक्टिविटी

यह एक सबसे बड़ी गलती है जो प्रेग्नेंसी में महिला के ओवरवेट होने की वजह बनती है और जिससे महिला को वास्तव में बचना चाहिए। दरअसल, कुछ महिलाएं प्रेग्नेंट होने के बाद एक्सरसाइज नहीं करतीं, यहां तक कि वह किसी भी तरह की फिजिकल एक्टिविटी नहीं करतीं, जिससे उनका वजन तेजी से बढ़ने लगता है। इतना ही नहीं, इससे प्रसव के दौरान भी समस्या होती है। इसलिए, बेहतर होगा कि आप गर्भावस्था में वजन को नियंत्रित रखने के लिए शारीरिक व्यायाम अवश्य करें। आप जितना फिजिकली एक्टिव होंगी, आप और बच्चा उतना ही स्वस्थ रहेगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)