गले में दर्द और खराश की परेशानी किसी भी इंसान को हो सकती है। बदलते मौसम में ये तो और भी सेहत पर असर डालते हैं। अब धीरे-धीरे सुबह और शाम को ठंड लगने लगी है, ऐसे में सर्दी-जुकाम का होना आम बात है। इस बदलते मौसम में गले की मांसपेशियों में खिंचाव और दर्द की समस्या होने लगती है। इस परेशानी की वजह कई बार खाना खाने और पानी पीने में भी परेशानी का सामना करना पड़ जाता है। इस बदलते मौसम में अगर आप इस परेशानी से पहले ही दूर रहना चाहती हैं तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए, क्यूंकि आज इस लेख में आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे घरेलू उपचार से ही इस परेशानी को दूर किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं-

नमक पानी का इस्तेमाल 

throat pain and soreness away in changing seasons inside

पानी में नमक को डालकर गरारे करने से गले के दर्द और खराश को दूर किया जा सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो गले के दर्द और खराश को ठीक करने में मदद करते हैं। हल्का गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारे करना आपको कई तरीके से लाभ दे सकता है। इसे आप सुबह और शाम दोनों टाइम कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: लिवर की बीमारियों से बचना है तो इन फूड्स को कहें ना

शहद का इस्तेमाल 

throat pain and soreness away in changing seasons inside

वैसे तो शहद कई बीमारियों के लिए रामबाण का काम करता है। गले में दर्द और खराश के लिए भी शहद किसी रामबाण दवा से कम नहीं है। कई जानकारों का मानना है कि शहद के साथ नींबू को मिलाकर कर सेवन करने से गले की दर्द और खराश चुटकी में गायब किया जा सकता है।

Recommended Video

हल्दी और दूध का इस्तेमाल

throat pain and soreness away in changing seasons inside

हल्दी तो वर्षों से हिंदुस्तान में खाने से साथ दवा के रूप में इस्तेमाल होते रहा है। एक चुटकी हल्दी कई बीमारियों को झट से दूर कर देती हैं। अगर आप भी गले की दर्द और खराश से परेशान है तो एक चुटकी हल्दी दूध में डालकर सेवन करें। इसके सेवन से तुरंत ही गले की दर्द और खराश भाग जाएगी। इसे खासी के लिए भी सही माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: काबुली चनों के इन ख़ास हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में नहीं जानती होंगी आप

हर्बल टी 

throat pain and soreness away in changing seasons inside

हर्बल टी भी किसी रामबाण से कम नहीं है। अगर आप हर्बल टी का सेवन करती हैं तो कई बीमारियों से दूर रहती है। इसके लिए आप दालचीनी, तुलसी के पत्ते और अदरक को पानी में अच्छे से उबाल कर सेवन कर सकती हैं। इन घरेलू उपचारों से आप झट से गले में दर्द और खराश से निजाद पा सकती हैं। अब मैं यकीन से बोल सकता हूं आपको जब भी गले में दर्द और खराश होगा तो इन टिप्स का सहारा ज़रूर लेंगे।

नोट: ये लेख सिर्फ आपकी जानकरी बढ़ाने के लिए है। आपके लिए मेरी यह भी राय रहेगी आप इस मामले में किसी डॉक्टर से भी ज़रूर सलाह लीजिए।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

 Image Credit:(@i2.wp.com,cdn.cdnparenting.com,hips.hearstapps.com)