कभी-कभी पेट दर्द की समस्या के कई कारण हो सकते हैं जैसे- कब्ज,एसिडिटी या कमजोर पाचन लेकिन जब ये अक्सर होने लगे, तो ये दर्द लिवर की किसी बड़ी बीमारी के लक्षण भी हो सकते हैं। इन लक्षणों को अनदेखा नहीं किया जा सकता है ,नहीं तो ये आगे चलकर बड़ी समस्या को जन्म से सकते हैं। इस बारे में क्यू आर जी हॉस्पिटल, फरीदाबाद के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट, डॉक्टर संजय कुमार का कहना है कि आजकल की बदलती लाइफस्टाइल और खानेपीने की आदतों का सीधा असर हमारे लिवर पर होता है, जिसकी वजह से कई बीमारियों जैसे फैटी लिवर, लिवर इनफेक्शन या फिर लिवर में सूजन का सामना करना पड़ता है।

यदि हमें लिवर की बीमारियों से बचना है तो हमारी रोज़ की डाइट में कुछ ऐसी खाद्य सामग्रियां हैं, जिनसे हमें दूरी बना लेनी चाहिए, क्योंकि ये ऐसे फूड्स हैं, जो लिवर की किसी बड़ी बीमारी का कारण बन सकते हैं। आइये जानें कौन से वो फूड्स हैं, जिन्हें लिवर की बीमारियों से बचने के लिए हमें नहीं खाना चाहिए। 

बेक्ड फूड्स 

liver food avoid ()

केक, मफिन और कुकीज खाना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि आपके लीवर पर उनका विपरीत प्रभाव पड़ता है। क्या चीनी खाना आपके लिवर के लिए बुरा है? जी हाँ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि बेकरी उत्पादों को आपके दैनिक आहार चार्ट से पूरी तरह से छोड़ देना चाहिए। सबसे पहली बात ये है कि इन सभी खाद्य पदार्थों में हाई शुगर होता है जो मोटापे को जन्म देता है। इसके अलावा बेकरी आइटम  शरीर में उच्च ट्राइग्लिसराइड के स्तर को जन्म दे सकते हैं, उनकी वसा सामग्री के कारण, लिवर या यकृत के विभिन्न रोग हो सकते हैं। इसके अलावा, इन उत्पादों में प्रयोग किया जाने वाला  प्राथमिक घटक मैदा होता है जो  पचाने में कठिन होता है और यह लिवर  में वसा के जमाव को भी जन्म देता है।

कोला या सोडा 

liver food avoid ()

कभी-कभार थोड़ी मात्रा में सॉफ्ट ड्रिंक्स जैसे कोक का सेवन करने में कोई बुराई नहीं है लेकिन यदि इसका  नियमित सेवन किया जाए तो ये आपके लिवर को काफी हद तक नुकसान पहुंचा सकता है साथ ही  इससे लिवर की विभिन्न जटिलताओं का विकास भी हो सकता है। इसके अलावा, सोडा का अधिक सेवन भी लोगों में वजन बढ़ने और मोटापे का एक बड़ा कारण है और मोटापा यकृत (फैटी लिवर) में फैटी संचय को बढ़ाकर आपके जिगर या लिवर  को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, सोडा चीनी और परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट का एक घातक संयोजन प्रदान करता है जो यकृत के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं।

ब्रेड 

pizza to be avoid

हमेशा पास्ता, पिज्जा, बिस्कुट और मैदे से तैयार ब्रेड जैसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। उनमें खनिज, फाइबर और आवश्यक विटामिन की कमी होती है। यह समझना आवश्यक है कि अत्यधिक परिष्कृत अनाज, शर्करा में परिवर्तित हो जाते हैं। यह सामग्री लिवर में फैट के रूप में संचित हो जाती है । यह फैटी लिवर रोगों के प्रमुख कारणों में से एक है। आपको इसके बजाय स्वस्थ विकल्पों का विकल्प चुनना चाहिए जो आपके जिगर को पूरे वर्ष स्वस्थ रहने में मदद करेंगे, जैसे घर के बने खाद्य पदार्थों का सेवन करें और ब्रेड और पिज्जा को पूरी तरह से अवॉयड करें। 

Recommended Video

फास्ट फूड आइटम

फ्रेंच फ्राइज़, वेफर्स, बर्गर और पिज्जा आपके लिवर को हानि पहुंचा सकते हैं । ये खाद्य पदार्थ संतृप्त वसा या ट्रांस-वसा सामग्री में उच्च होते हैं और पचाने में मुश्किल होते हैं। दूसरे शब्दों में, आपके जिगर को इन खाद्य पदार्थों को संसाधित करने के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है। उच्च संतृप्त वसा समय के साथ लिवर में सूजन को जन्म दे सकती है और अंततः सिरोसिस में परिवर्तित हो जाती है। संतृप्त वसा खराब कोलेस्ट्रॉल को भी बढ़ा सकती है और शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकती है और फैटी लिवर के अलावा हृदय रोग, स्ट्रोक के खतरे को भी बढ़ा सकती है।

शराब

liver food avoid ()

यदि आप शराब का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि इसे आपको तुरंत छोड़ने की आवश्यकता है। जैसा कि हम जानते हैं कि भारतीय आबादी शराब के प्रभावों के लिए पश्चिमी आबादी से अधिक संवेदनशील हैं। इसलिए शराब को पूरी तरह से अपने लाइफस्टाइल से हटा देना ही बेहतर है। जब आप अतिरिक्त शराब का सेवन करते हैं तो क्या होता है? जब आपका यकृत इसे तोड़ने का प्रयास करता है, तो इस प्रक्रिया में रासायनिक प्रतिक्रिया से इसकी कोशिकाएं सूजन, कोशिका मृत्यु और स्कारिंग  की ओर अग्रसर हो सकती हैं। लंबे समय तक शराब का अधिक सेवन करने से लिवर सिरोसिस की समस्या हो सकती है जो लिवर की अपरिवर्तनीय क्षति है। जिन लोगों में लिवर सिरोसिस की समस्या हो जाती है वे रक्त की उल्टी, पीलिया, शरीर में अतिरिक्त द्रव संचय और भी यकृत कैंसर जैसी जटिलताओं का सामना करते हैं। इसलिए शराब के सेवन को पूरी तरह बंद करने में ही समझदारी है। 

इसे जरूर पढ़ें : World Liver Day: महिलाएं अपने लीवर को जीवनभर हेल्‍दी रखना चाहती हैं तो ये 5 फूड जरूर खाएं

रेड मीट 

liver food avoid ()

रेड मीट प्रोटीन में उच्च हो सकता है, लेकिन इसे पचाना आपके लिवर के लिए कठिन काम होता है। प्रोटीन को तोड़ना यकृत के लिए आसान नहीं है और इससे यकृत से संबंधित विभिन्न समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, लिवर  में अतिरिक्त प्रोटीन का निर्माण वसायुक्त यकृत रोगों का कारण बन सकता है जो मस्तिष्क और गुर्दे पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं। अंडे की सफेदी आपके लिवर के लिए अच्छी होती है, लेकिन इसके अधिक सेवन से पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं और अंडे का पीला भाग खराब कोलेस्ट्रॉल का स्रोत है।

इसे जरूर पढ़ें : चुपके से आपके लिवर को नुकसान पहुंचा रही हैं ये 8 चीजें

ज्यादा नमक का सेवन 

ज्यादा नमक का सेवन आपके लिवर के लिए कभी अच्छा नहीं होता है  । लिवर को हेल्दी बनाए रखने के लिए नमक का सेवन कम करने के लिए आपको हर संभव उपाय करना चाहिए। ज्यादा नमक के सेवन से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। आपको डिब्बाबंद सूप और रेडी टू बात खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए जो सोडियम सामग्री में समृद्ध हैं। चिप्स, मिक्सचर , नमकीन, बिस्किट और पैक किए हुए नमकीन स्नैक्स से बचें क्योंकि वे संतृप्त वसा और नमक से भरपूर होते हैं। प्रोसेस्ड चीज़ आपके लिवर के लिए खराब है क्योंकि यह प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों की श्रेणी में आता है और इसमें सोडियम की मात्रा अधिक और संतृप्त वसा होती है। अतिरिक्त खपत से वसायुक्त यकृत रोग हो सकते हैं, साथ ही मोटापा भी बढ़ सकता है। 

ये ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो लिवर के लिए खराब हैं और लिवर सम्बन्धी कई समस्याओं को जन्म दे सकते हैं। वैसे आप इन सभी सामग्रियों का सेवन एक लिमिट में कर सकते हैं लेकिन इनका नियमित सेवन आपके लिवर को क्षति पहुंचा सकता है। इसलिए जहाँ तक हो सके इन खाद्य पदार्थों से बचें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik