यूरीन आपकी बॉडी को डिटॉक्‍स करने का सबसे अच्‍छा और प्राकृतिक तरीका है। Normally यूरीन का रंग हल्‍का पीला होता है। लेकिन अगर इसका रंग गहरा होने लगे तो चिंता का कारण हो सकता है। हालांकि कुछ फूड्स के कारण यूरीन का रंग बदल सकता है या दवाओं और यूरीन में इंफेक्‍शन के कारण भी यूरीन के कलर पर असर पड़ता है। इसके अलावा कम पानी पीने से भी यूरीन का कलर थोड़ा डार्क हो जाता है। लेकिन अगर यह समस्‍या काफी दिनों तक बनी रहती है तो चिंता का विषय है। ऐसे में खूब सारा पानी पीने के लिए कहा जाता है, लेकिन अगर फिर भी यूरीन का पीलापन नहीं जा रहा हो तो तुरंत डॉक्‍टर पास जाये। आइए जानें कि यूरीन का कलर आपकी हेल्‍थ के बारे में क्‍या बताता है।

इस बारे में ज्‍यादा जानने के लिए हमने मयूर विहार स्थित क्लिनिक के डॉक्‍टर Srinivasan से बात की तब उन्‍होंने हमें बताया कि 'आमतौर पर यूरीन का कलर हल्‍का पीला होता है लेकिन अगर आपको इसमें कुछ भी बदलाव दिखाई दें तो तुरंत अपने डॉक्‍टर से अपनी समस्‍या के बारे में बताये क्‍योंकि यह हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स की ओर इशारा करता है।'  

Read more: हर 5 में 1 महिला होती है UTI से परेशान, कहीं आप भी तो नहीं?

हल्का पीला रंग

यूरीन का हल्‍का पीला नॉर्मल बात है। यह रंग बताता है कि आप बिल्‍कुल हेल्‍दी हैं और आप खुद को अच्‍छी तरह से हाइड्रेट कर रही हैं। अच्‍छी हेल्‍थ के लिए अपनी इस आदत को बरकरार रखें। 

urine colour health in

पीला रंग

यूरीन के पीले रंग का मतलब है कि आप अच्‍छे से पानी नहीं पी रही हैं। हालांकि बॉडी में ज्‍यादा पसीना आने या कम हाइड्रेशन के कारण भी यूरीन का रंग पीला हो सकता है। इससे बचने के लिए आपको लिक्विड का इस्‍तेमाल अधिक से अधिक करना चाहिए। इस टिप्‍स को अपनाने के बाद आप अपनी यूरीन का रंग देखें, अगर फिर भी कोई बदलाव नहीं आता तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।

गहरा पीला रंग

हालांकि दवाओं के कारण यूरीन का रंग गहरे पीले रंग का हो जाता है। लेकिन अगर कुछ दिन तक ऐसा ही रहता है तो जितनी जल्‍दी हो सके अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें क्‍योंकि यह लिवर संबंधित बीमारियों की ओर इशारा करता है।

नारंगी रंग

यूरीन में यह रंग अक्‍सर किसी तरह की दवा के सेवन या प्राकृतिक खट्टे फलों के सेवन के कारण होता है। यह रंग यह भी दर्शाता है कि आपकी बॉडी में पानी की कमी है। ऐसे में आपको जंग फूड की बजाय हेल्‍दी खाना और पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीना चाहिए। साथ ही ऐसे फलों का सेवन करना चाहिए जिसमें पानी की मात्रा ज्‍यादा हो। लेकिन अगर आपको फिर भी यूरीन का रंग नारंगी नजर आता है तो तुरंत डॉक्‍टर से अपनी जांच करवायें।

Read more: पथरी को कुछ ही दिनों में दूर करते हैं ये 5 हर्ब्‍स, जानें एक्‍सपर्ट की राय

लाल या गुलाबी रंग

यूरीन का लाल होना, यूरीन में ब्‍लड आने का संकेत है। हालांकि कई बार लाल रंग से बने भोजन या चुकंदर और ब्लैकबेरी जैसे प्राकृतिक लाल रंग खाने से भी यूरीन का रंग लाल हो सकता है। लेकिन अगर इस तरह के फूड नहीं खाये हैं फिर भी यूरीन लाल आ रहा है तो आपके यूरीन ट्रेक्‍ट में इंफेक्‍शन, किडनी में पथरी या बहुत ज्‍यादा एक्‍सरसाइज के कारण रेड ब्‍लड सेल्‍स के टूटने के कारण भी हो सकता है।

दूध की तरह सफेद रंग

यूरीन का दूध की तरह सफेद रंग यूरीन मार्ग के इंफेक्‍शन या किडनी की पथरी में बैक्‍टीरिया की उपस्थिति के बढ़ने का संकेत हैं। अगर आप यूरीन दूधिया सफेद रंग में बदल गया है तो तुरंत अपने डॉक्‍टर के पास जाये। 
  
अगर आपको पता नहीं लग पा रहा हैं कि यूरीन के रंग में परिवर्तन का कारण क्‍या हैं तो तुरंत अपने डॉक्‍टर से मिलना चाहिए। इसके अलावा यूरीन में ब्‍लड का आना भी एक गंभीर संकेत है, इसके लिए आपको तुरंत चिकित्‍सक की सलाह लेनी चाहिए।

इस वीडियो में दिये उपायों की मदद से आप अपनी बॉडी को आसानी से डिटॉक्‍स कर सकती हैं।

Read more: Urine leakage से क्या होती है आपकी skirt गीली? तो try कीजिये ये exercises