कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इम्‍यूनिटी का मजबूत होना बेहद जरूरी होता है और कुछ पोषक तत्व इसे बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इन तत्वों में जिंक और विटामिन सी और डी इम्यून फ़ंक्शंस के लिए और फिजिकल टिशू बैरियर को सुरक्षित रखने में मददगार होते हैं। COVID-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए यह पोषक तत्व वायरल संक्रमण के गंभीर प्रगति और रोग के जोखिम को रोकने या कम करने के लिए इम्‍यून सिस्‍टम को अनुकूलित कर सकते हैं। इस प्रकार वायरल संक्रमणों के लिए इम्‍यून प्रतिक्रिया में जिंक और विटामिन सी और डी की भूमिकाओं की एक व्यापक अवलोकन प्रदान करता है।

इन तीन तत्वों में से एक या अधिक की कमी इम्‍यून प्रतिक्रिया से समझौता करती है, जिससे एक व्यक्ति वायरल संक्रमण और अधिक खराब रोग के प्रति संवेदनशील हो जाता है। इस प्रकार, COVID-19 महामारी के दौरान, वायरस और इंफ्लेमेटरी प्रक्रिया की शुरुआत के मामले में इन पोषक तत्वों की मांग के कारण जिंक और विटामिन सी और डी का पर्याप्त सेवन एक आशाजनक औषधीय उपकरण का प्रतिनिधित्व करता है। इसके अलावा करक्‍यूमिन भी इसमें अहम भूमिका निभाता है। 

एक्‍सपर्ट की राय

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by PM | Nutritionist (@poojamakhija)

फेमस न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मखीजा ने अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर भी एक ऐसा ही वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह बता रही हैं कि यह सारे विटामिन्‍स कोविड-19 में लेना क्‍यों जरूरी है? वीडियो के कैप्‍शन में उन्‍होंने लिखा, ''मैंने इन विटामिन्‍स को रिकवरी में तेजी से लाने और तत्काल चिकित्सा की आवश्यकता को रोकने के लिए (मेरे परिवार, मेरे क्‍लाइंट और खुद के लिए) बहुत लाभप्रद पाया है। हालांकि ये किसी भी तरह से आपके डॉक्टरों द्वारा आपको दिए गए चिकित्सा उपचार का विकल्प नहीं हैं, लेकिन इसके लिए एक सहायक हैं। संभालो, मजबूत रहो, घर रहो।''

साथ ही उन्‍होंने वीडियो में 4 तरह के विटामिन्‍स के बारे में बताया और कहा कि ''अगर आप कोरोना वायरस से संक्रमित हैं तो आपको ये 4 तरह के विटामिन्‍स जरूर लेने चाहिए।'' आइए इन विटामिन्‍स के बारे में विस्‍तार से जानें। 

इसे जरूर पढ़ें:इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ये 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां अपनाएं

जिंक

zinc inside

50 एमजी रोजाना लें। यह वायरस को बिगड़ने से रोकता है। साथ ही जिंक के इम्युनोमॉड्यूलेटरी और एंटीवायरल गुण और इसके आयनोफोरस COVID-19 के खिलाफ बनाते हैं। जिंक इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाने के लिए जरूरी होता है जो अनुकूल प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं के दौरान सेल्‍स के रखरखाव, विकास और सक्रियण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जिंक का एक अन्य महत्वपूर्ण कार्य इसकी प्रत्यक्ष एंटीवायरल गुण है जो इसे वायरल संक्रमण पर इम्‍यून प्रतिक्रिया के लिए जरूरी बनाता है।

विटामिन सी

vitamin C inside

दिन में दो बार 1000 एमजी लें। यह सूजन कम करने के साथ-साथ लिम्फोसाइट्स को रोकता है। यह इम्‍यून सेल्‍स हैं जो आपकी एंटीबॉडीज को बढ़ाते हैं। विटामिन सी एक एस्कॉर्बिक एसिड है जो पानी में घुलनशील सूक्ष्म पोषक तत्व है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो इम्‍यून सिस्‍टम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, रोगजनकों के प्रवेश के खिलाफ और अनुकूली इम्‍यून सिस्‍टम्‍स के सेलुलर कार्यों का समर्थन करता है।

Recommended Video

विटामिन डी

vitamin D inside

विटामिन डी 60k हर 3 दिन के बाद 12 दिन के लिए कुल 4 कैप्सूल लें। यह श्वसन पथ के संक्रमण को रोकता है। पारंपरिक नाम के बावजूद, विटामिन डी वास्तव में एक ऐसा हार्मोन है जो विभिन्न सेल्‍स टाइप्‍स में 200 से अधिक जीनों के नियमन पर काम करता है। साथ ही कैल्शियम होमियोस्टेसिस और हड्डियों के स्वास्थ्य के रखरखाव के अलावा, विटामिन डी 3 शरीर की इम्‍यून सिस्‍टम को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इसे जरूर पढ़ें:कोरोना काल में इम्यूनिटी स्ट्रांग बनाने के लिए आप भी ट्राई करें एक्सपर्ट के ये ड्रिंक्स

करक्‍यूमिन

curcumin inside

हल्‍के लक्षण दिखने पर दिन में एक बार करक्‍यूमिन 500 मिलीग्राम लें। तेज लक्षण दिखने पर दिन में दो बार इसे लें। यह एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीवायरल होता है जो चेस्‍ट कनजेशन, खांसी और कोल्‍ड को कम करता है।

ये 4 विटामिन्‍स कोरोना के इलाज में मददगार साबित हो सकते हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।