महिलाओं में ऐसा जज़्बा होता है कि वह जो ठानती हैं उसे करके भी दिखाती हैं। 
यूं तो माना जाता है कि ladies की body बहुत ही नाजुक होती है इसलिए उन्‍हें भारी-भरकम काम नहीं करने चाहिए। लेकिन सच तो यह है महिलाएं जो सोचती हैं उसे कर लेती है। जी हां आज बॉडी-बिल्डर सिर्फ पुरुष ही नहीं महिलाएं भी है। यहां हम बॉडी बिल्‍डर जैसी बॉडी की बात नहीं कर रहे हैं बलिक महिलाओं को weight lifting से होने वाले फायदों के बारे में बात कर रहे हैं। क्‍या आप जानती हैं कि अगर सही तरीके से weight lifting की जाये तो महिलाओं के लिए इससे बढि़या दूसरा कोई वर्कआउट हो नहीं सकता है। आइए Sports education develoment Australia certified के ट्रेनर सुनील से जानें कि महिलाओं के weight lifting कैसे फायदेमंद हैं।

महिलाओं को लगता हैं कि अगर वह weight lifting करेगी तो पुरुषों की तरह उनकी बॉडी बन जायेगी। लेकिन ट्रेनर सुनील का कहना हैं कि 'यह बात अपने दिमाग से निकाल दें कि weight lifting से आपके पुरुषों की तरह डोले बन जाएगें। लेकिन पुरुषों में ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में टेस्‍टोस्‍टेरोन का लेवल ज्‍यादा होता है जिससे weight lifting से उनकी मसल्‍स ज्यादा बनती है लेकिन जब महिलाएं weight lifting करती हैं तो उनके एब्स टोन होते हैं और बट आकर्षक दिखती हैं।'

ट्रेनर सुनील का यह भी कहना हैं कि कॉर्डियो करते समय उसी दौरान कैलोरी बर्न होती हैं बाद में कैलोरी बर्न नहीं होती हैं। लेकिन अगर आप weight lifting करती हैं तो weight lifting के बाद भी 72 घंटे तक आपकी कैलोरी बर्न होती रहती हैं। मान लीजिए अगर आप कार्डियो एक सेक्‍शन के दौरान 400 कैलोरी बर्न करती हैं यह कैलोरी उसी दौरान बर्न होती हैं कार्डियो ना करने के दौरान कैलोरी बर्न नहीं होती। लेकिन weight lifting के बाद 72 घंटे तक बर्न होती रहती हैं। इसे “afterburn effect” कहते हैं।

Read more: बॉलीवुड की हॉट एक्‍ट्रेस Bipasha Basu ऐसे मेंटेन रखती हैं अपना फिगर

तेजी से वजन घटायें

weight lifting तेजी से वजन घटाने का बेहतर विकल्प है। इससे तेजी से बॉडी का अतिरिक्त फैट बर्न हो जाता है। दूसरी एक्‍सरसाइज की तुलना में स्ट्रेंथ ट्रेनिंग तेजी से वजन घटाता है। weight lifting से आपकी मसल्‍स अच्‍छी स्थिति में रहती है और आपको अच्‍छी तरह से टोंड बॉडी मिलती है।   

मसल्‍स होती है strong

Weight lifting करने से body की अधिक कैलोरी की जरूरत होती है जिससे मसल्‍स की कमजोरी दूर होती है और वह अधिक मजबूत होती हैं। यानी आप जितनी अधिक कैलोरी की खपत करेंगी आपकी मसल्‍स उतनी ही अधिक मजबूत होंगी, इसके लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करें।

Bones होती हैं मजबूत

महिलाओं की हड्डियों का density कम होती है जिसके कारण उम्र बढ़ने के साथ उनको हड्डियों संबंधी बीमारियां खासकर ऑस्टियोपोरोसिस और अर्थराइटिस होने लगता है। लेकिन ट्रेनर सुनील का यह भी कहना हैं कि 'अगर आप weight lifting करती है तो कैल्शियम का absorption बढ़ जाता है और आपकी हड्डियों में मजबूती आती है। 

अच्छी आती है नींद

अगर आप नींद अच्‍छी लेती हैं तो कई बीमारियों से दूर रह सकती हैं। weight lifting करने से आपकी बॉडी थक जाती हैं और आपको गहरी और अच्‍छी नींद आती हैं। अगर आप अच्छी नींद लेना चाहती हैं तो weight lifting करें। इससे अच्छी और सुकूनभरी नींद आती है।

Stress करता है दूर

Stress आजकल की दिनचर्या का अहम हिस्सा हो गया है, इसके कारण कई बीमारियां और skin की समस्यायें कम उम्र में होने लगती हैं। Ladies की बात करें तो उनके लिए stess बिलकुल भी अच्छा नहीं। कई शोधों में यह प्रमाणित हुआ है कि नियमित weight lifting करने से stress बिलकुल नहीं होता है।

दिनभर रखता है active

अगर आपको दिनभर आलस आता है तो weight lifting करें। सुबह के समय weight lifting करने से बॉडी अधिक एक्टिव हो जाती है। इससे आपको पूरा दिन आलस नहीं आयेगा और आप एनर्जी से भरपूर महसूस करेंगी।

इसके अलावा weight lifting आपको body flexible और strong होती है। इसलिए खुद को strong बनाने के लिए रोज weight lifting करें।

Read more: Weight training का भूत आपको भी डराता है? तो अब इसे भगाईये