आपने शायद इसके बारे में सुना हो कि नींद लोगों के लिए कितनी जरूरी होती है। नींद न सिर्फ हमारे थके हुए शरीर और दिमाग को आराम देने के लिए जरूरी है बल्कि इसके कारण हमारे शरीर के कई फंक्शन्स पूरे होते हैं। उदाहरण के तौर पर शरीर के सभी मसल्स रिपेयर होते हैं, स्किन केयर के लिए ये समय सही होता है, शरीर का मेटाबॉलिज्म प्रोसेस इस समय सही से काम करता है। ऐसे में आपका शरीर नींद में भी वजन लूज कर सकता है पर उसके लिए आपको अपने शरीर को तैयार करना होगा। 

हमने इसके लिए फिटनेस कोच, मिनिस्ट्री ऑफ आयुष में योगा इंस्ट्रक्टर, न्यूट्रिशनिस्ट और योगाप्लानेट न्यूट्रिनेचुरल्स की फाउंडर ज्योति गर्ग से बात की उनका कहना था कि नींद में आपकी बॉडी से वजन कम हो और उसके सारे फंक्शन ठीक से हों इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी लाइफस्टाइल की कुछ आदतों को बदलना जरूरी है। 

तो चलिए आपको बताते हैं ज्योति गर्ग के कुछ लाइफस्टाइल टिप्स। 

sleep and weight loss

1. स्लीप साइकल पर ध्यान देना जरूरी है-

ज्योति जी के मुताबिक ये कई लोगों के साथ होता है कि उन्हें क्वालिटी की जगह क्वांटिटी की चिंता होती है। कई बार आपने देखा होगा कि किसी दिन 12-13 घंटे सोने के बाद अगले दिन आप बहुत थका हुआ फील करते हैं, लेकिन वहीं 6-7 घंटे की क्वालिटी स्लीप आपके लिए अच्छी साबित होती है। नींद में हमारे शरीर में कई तरह की गतिविधियां होती हैं और शरीर का मेटाबॉलिज्म और सभी तरह की रिपेयर प्रक्रिया सही से काम करे इसके लिए आपको क्वालिटी स्लीप लेनी है। 

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि क्वांटिटी स्लीप के मुकाबले हमेशा क्वालिटी स्लीप अच्छी होती है। ऐसा लाइफस्टाइल के कारण होता है। एक अच्छी स्लीप साइकल ही आपके वेट लॉस को प्रमोट करेगी। 

sleeping and weight

इसे जरूर पढ़ें- 30+ होने पर बढ़ रहा है मोटापा तो एक्सपर्ट का बताया ये वेट लॉस ड्रिंक करेगा मदद

2. हेल्दी डाइट और डिनर का टाइम-

वेट लॉस के लिए पहले आपको अपने शरीर को तैयार करना होगा। इसके लिए दिन भर में हेल्दी डाइट जरूरी है। एक तरह से देखा जाए तो यहां भी क्वालिटी और क्वांटिटी वाला फंडा आता है। ये जरूरी नहीं कि आप हेल्दी डाइट लेने के लिए बिलकुल कम खाएं या फिर एक समय पोहा-स्प्राउट्स आदि खाने के बाद दूसरे समय छोले-टिक्की, पकोड़े, बर्गर आदि खा लें। आप चीट डाइट ले सकते हैं, लेकिन वो कभी-कभी होना चाहिए। 

साथ ही नींद में आपका मेटाबॉलिज्म ठीक रहे उसके लिए आपको रात में सोने से करीब 2-3 घंटे पहले खाना खा लेना होगा। ऐसा करने से आपके खाने को डायजेस्ट होने के लिए पर्याप्त समय मिल जाता है। सोने से जस्ट पहले अगर आप खाते हैं तो शरीर अपनी पूरी एनर्जी सिर्फ खाने को डायजेस्ट करने में ही लगा देगा। ये नींद में आपके मसल रिपेयर या वेट लॉस के काम पर असर नहीं करेगा। 

3. सबसे जरूरी स्टेप: सोने से 1 घंटे पहले सारे गैजेट्स को बंद कर दें-

ये शुरुआत में थोड़ा मुश्किल होगा पर धीरे-धीरे सब ठीक होने लगेगा। ये टिप बहुत जरूरी है अगर आप क्वालिटी नींद चाहते हैं तो। फोन और गैजेट्स के कारण हमारा दिमाग डिस्ट्रैक्ट होता है और इसलिए ये सही नहीं होता कि हम अपनी नींद में इनकी वजह से खलल डालें। 

अगर आप ये स्टेप फॉलो करेंगे तो खुद ही समझ आ जाएगा कि कितनी अच्छी तरह से आपको नींद आ रही है। हां, ये जरूर है कि शुरुआत में आपको इससे थोड़ी दिक्कत होगी और बार-बार मन करेगा कि आप अपना फोन या लैपटॉप देख लें पर ऐसा नहीं करना ठीक है। 

4. रात में प्रोटीन बहुत जरूरी है-

अच्छी नींद और रात में भूख न लगे, बार-बार नींद न टूटे, खाना सही डायजेस्ट हो और साथ ही साथ शरीर अपने रेगुलर काम जैसे सेल रिपेयर आदि ठीक से करे। वैसे तो आप रात में प्रोटीन शेक भी पी सकते हैं, लेकिन हल्दी वाला दूध, थोड़े से नट्स आदि इस काम को बखूबी कर सकते हैं। 

रात को सोने से पहले ये लें ताकि आपको बार-बार मिडनाइट हंगर की समस्या न हो। जब आप सोते हैं तो आपकी सारी मसल्स रिकवर होती हैं और इस काम में प्रोटीन आपकी मदद करता है। 

इसे जरूर पढ़ें- शुरू हो रही है लिवर की बीमारी तो आपका शरीर आपको देता है ये संकेत 

5. मेडिटेशन करेगा मदद- 

आप स्ट्रेचिंग या मेडिटेशन आदि सोने से पहले कर सकते हैं। ये न सिर्फ आपकी नींद को बेहतर करेगा बल्कि इसके कारण आपका मेटाबॉलिज्म प्रोसेस भी सही होगा। आप मेडिटेशन, ब्रीदिंग एक्सरसाइज, स्ट्रेचिंग आदि कुछ भी कर सकते हैं जो आपको ठीक लगता है। दिमाग की शांति के लिए भी ये बहुत अच्छा साबित हो सकता है। 

 अगर आप ये सारी टिप्स फॉलो करेंगे तो सेहत यकीनन बेहतर होगी। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।