जांघों और कूल्हों के आगे जरूरत से ज्यादा फैट हमेशा ही महिलाओं की बड़ी समस्याओं में से एक रहा है। कई महिलाओं की लोअर बॉडी का फैट इतना बढ़ जाता है कि ज्यादा चलने पर उनके पैर टकराने लगते हैं और वो काफी परेशान होने लगती हैं। ऐसे में कई बार स्किन भी छिल जाती है और कई बार सूजन भी होने लगती है। अगर ऐसी ही कोई समस्या आपके साथ भी है तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए। ये वो बातें हैं जो आपको थाई फैट कम करने में मदद करेंगी। 

अभी तक आपको थाई फैट से जुड़ी एक्सरसाइज आदि बहुत कुछ बताई गई हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि थाई फैट कम करना इतना मुश्किल क्यों होता है? इसका कारण होता है कि हम अपने फैट को कम करने के लिए सही तरह से कोशिश नहीं करते हैं। 

1. सिर्फ थाई फैट को कम करने के पीछे न पड़ें-

देखिए भले ही आपकी पियर शेप बॉडी हो, लेकिन आपको ये ध्यान रखना होगा कि आप सिर्फ थाई फैट को कम करने के पीछे नहीं पड़ सकते हैं। दरअसल, लोगों को लगता है कि वो ज्यादा से ज्यादा पैरों की एक्सरसाइज करेंगे तो ये काम आसान हो जाएगा जब्कि ऐसा नहीं है। सिर्फ पैरों की एक्सरसाइज अगर आप ज्यादा करेंगे तो आपके पैर ज्यादा पतले हो जाएंगे, लेकिन थाई फैट पर बहुत ज्यादा असर नहीं होगा। ये बहुत जरूरी है कि आप फुल बॉडी पर ध्यान दें। अगर आप पूरी बॉडी पर ध्यान नहीं देंगे तो थाई फैट या लोअर बेली फैट को कम करने में मुश्किल हो सकती है। इसके लिए डाइट से लेकर फुल बॉडी एक्सरसाइज तक सब कुछ करना होगा।

reduce fat and thigh

इसे जरूर पढ़ें- फिट रहने और जवां निखार पाने के लिए मलाइका की तरह रोजाना अनुलोम-विलोम करें 

2. रोज़ाना कैलोरी काउंट पर ध्यान दें-

आपको रोज़ाना अपने कैलोरी काउंट पर ध्यान देना होगा। यहां पर ऐसा नहीं करना है कि अपनी डाइट ही कम कर देनी है या खाना खाना ही कम कर देना है बल्कि अपने कैलोरी काउंट को अपने शरीर की जरूरत के हिसाब से देखें। अगर आप ज्यादा फैट, प्रोटीन और खासतौर पर शक्कर लेते हैं तो आपके शरीर में इंसुलिन रेजिस्टेंस बनती चली जाती है जिससे फैट लॉस नहीं हो पाता है। इसलिए थोड़ा-थोड़ा कर अपने कैलोरी काउंट को शरीर की जरूरत के हिसाब से बनाएं। अगर आप 500 कैलोरी कम खाते हैं तो उसी अनुपात में एक्सरसाइज करने की कोशिश करें। ऐसे ही आपकी कैलोरी की जरूरत भी पूरी होगी और वेट लॉस भी होगा।  

3. अपने न्यूट्रिएंट्स का ख्याल रखें- 

अगर आपको अपने शरीर को चलाना है और थाई फैट भी कम करना है तो ये जरूरी है कि आप अपनी कैलोरीज का ध्यान रखने के साथ-साथ माइक्रोन्यूट्रिएंट्स भी सही तरह से लें।  

एवोकाडो, चावल, अंडा, सैलमन आदि चीज़ें आपके शरीर में सिंगल इंग्रीडियंट में ही कई माइक्रोन्यूट्रिएंट्स की जरूरत को पूरा कर सकती हैं।  

reduce thigh and hip fat

4. थाई फैट कम करने के लिए वेट ट्रेनिंग है बहुत जरूरी-  

अगर आपको थाई फैट कम करना है तो उसके लिए वेट ट्रेनिंग बहुत जरूरी हो सकती है। महिलाएं वेट ट्रेनिंग से घबराती हैं जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। ये बहुत जरूरी है कि हम अपने फैट लॉस के साथ-साथ अपनी बॉडी को सही तरह से टोन करें और पैरों की मसल्स जैसे ग्लूट्स, क्वाड्स, हैमस्ट्रिंग्स आदि सब कुछ वेट ट्रेनिंग के जरिए ही अच्छी तरह से बढ़ती हैं। अगर आपका टार्गेट है बैठे-बैठे बढ़ा थाई और लोअर बॉडी फैट तो ये तरीका सबसे अच्छा हो सकता है। आपको शेप में आने के लिए सबसे पहले वेट ट्रेनिंग शुरू करनी होगी।  

इसके लिए- 

- डीप स्क्वेट्स

- वॉकिंग लंजेस

- थाई स्टेप अप  

जैसी एक्सरसाइज बहुत अच्छी साबित हो सकती हैं।  

Recommended Video

इसे जरूर पढ़ें- घर पर करती हैं वर्कआउट तो इन पांच फिटनेस गैजेट्स को बनाएं अपना साथी 

5. कार्डियो भी है बहुत जरूरी- 

हमने पहले ही स्टेप में फुल बॉडी एक्सरसाइज की बात की और आपको ये जानना बहुत जरूरी है कि अगर आप लगातार कार्डियो करती हैं तो लोअर बॉडी फैट पर ज्यादा असर पड़ता है। लोअर बॉडी फैट को कम करने के लिए कोर मसल्स से फैट कम करना जरूरी है और कार्डियो से वो आसानी से हो जाता है। आपको एक साथ बहुत सारा कार्डियो नहीं करना है बल्कि आपको धीरे-धीरे ये काम करना है और जैसे-जैसे आपका स्टैमिना बढ़ता जाए आप कार्डियो सेशन को भी बढ़ाते रहें।  

ये पांचों टिप्स आपको आपके फिटनेस रूटीन को सेट करने में मदद करेंगी और आपको यही ध्यान रखना है कि आपकी फिटनेस आपके ऊपर निर्भर करती है। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।