शक्कर का इस्तेमाल हम रोज़मर्रा की जिंदगी में करते हैं और ये हमारी जिंदगी में मिठास घोलती है, लेकिन अगर देखा जाए तो शक्कर की लत खराब भी होती है। शक्कर का इस्तेमाल हम किसी भी तरह से करें वो हमारे शरीर को ज्यादा नुकसान पहुंचाती है। शक्कर यानि चीनी के कारण शरीर में डोपामाइन नामक हार्मोन पैदा होता है जिससे लोग अक्सर इसके आदि हो जाते हैं। 

ये किसी नशे की तरह ही है जिसे खाने पर तुरंत तो हमें अच्छा लगता है, लेकिन ये शरीर में गलत असर करती है। लंबे समय तक इसे लेने से मोटापा, डायबिटीज जैसी बीमारियों के साथ अन्य समस्याएं होती हैं। ये मूड और स्ट्रेस लेवल पर भी असर कर सकती है। चीनी का असर इतना खतरनाक होता है इसलिए ही चीनी का ज्यादा इस्तेमाल सही नहीं माना जाता है। 

पर शक्कर के इस नशे को कैसे कम किया जाए ये पता करना भी जरूरी है। इस मामले में हमने योगा मास्टर, फिलांथ्रोपिस्ट, धार्मिक गुरू और लाइफस्टाइल कोच ग्रैंड मास्ट अक्षर से बात की और उन्होंने बताया कि योग और ध्यान से चीनी खाने की आदत और इसकी क्रेविंग को कम किया जा सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें- डबल चिन को दूर करने के लिए करें ये 3 असरदार फेस मसाज

थेरेपी के रूप में करें योग-

ग्रैंड मास्टर के मुताबिक योग एक प्राचीन विधि है जो गारंटी से परिवर्तन ला सकता है। आसान प्राणायाम या ध्यान के माध्यम से योग आपकी जीवनशैली में बदलाव ला सकता है और कई सारे सकारात्मत परिवर्तन लागा है। योग से किसी भी चीज़ की आदत जैसे चीनी, तंबाकू, निकोटीन, कैफीन, शराब आदि को बदला जा सकता है। आप रोज़ाना इसका अभ्यास कर सकते हैं।

cravings of sugar meditation 

ध्यान से होता है ये असर-

ध्यान से मन-शरीर दोनों का संबंध होता है। ये आपको एकाग्रता, स्पष्टता और भावनात्मक स्थिरता विकसित करने के लिए प्रेरित करता है। जैसे भी आप अपने आपको शांत रखने और अपने ध्यान को एक जगह लगाने की कोशिश करेंगे वैसे ही नशे की लत छूटती जाती है। ध्यान के एक सेशन के बाद ही हमारे दिमाग से ऐसे रसायन निकलते हैं जो खुशी पैदा करते हैं जिससे आपकी लाइफस्टाइल में बदलाव आता है और क्रेविंग कम होती है।  

ध्यान सूत्र- 

सीड मेडिटेशन की यह तकनीक बहुत ही कारगर है और ये व्यवहार और आदतों को बदलने का एक सरल तरीका हो सकता है।  

meditation and sugar cravings

इसे जरूर पढ़ें-  डायबिटीज की समस्या को करना है कम तो ये 3 योगासन आएंगे काम 

कैसे करें ये तकनीक- 

- सुखासन, अर्ध पद्मासन, पद्मासन या वज्रासन जैसी किसी भी आरामदायक स्थिति में बैठें।

- अब अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और धीरे से अपनी आंखें बंद कर रिलैक्स करने की कोशिश करें। 

- अब कल्पना करें कि एक काला और एक सफेद छेद आपके सामने है। 

- ब्लैक होल सक्शन की एक शक्तिशाली शक्ति है जो आपकी क्रेविंग्स को आपसे दूर ले जाता है और व्हाइट होल से हमें संतुष्टि मिलती है। 

- अब सांस छोड़ते हुए ब्लैक होल की तरफ ध्यान लगाएं और महसूस करें कि आपकी क्रेविंग जा रही है। 

- अब धीरे-धीरे सांस लेना और सांस छोड़ना शुरू करें। इसके बीच में आपको थोड़ा सा ठहराव महसूस करना है। 

- जिस ठहराव की हम बात कर रहे हैं उसमें आपको ये सोचना है कि आपने क्रेविंग्स को खाली कर दिया है। 

- सांस लेने पर अब सफेद छेद की ओर ध्यान केंद्रित करें और ऐसा महसूस करें कि आपको शक्तिशाली और सकारात्मक ऊर्जा मिल रही है। 

- यह सब हमारी इमैजिनेशन पर निर्भर करता है। 

- अंत में ये सोचें कि धीरे-धीरे दोनों छेद गायब हो रहे हैं।  

Recommended Video

शुरुआत में ध्यान लगाने में हो सकता है कि थोड़ी मुश्किल हो, लेकिन ये आपकी शक्कर की क्रेविंग को कम करने में बहुत सहायक हो सकती है। इस तरह से ध्यान लगाने में कभी भी कमजोरी का अहसास नहीं होता है और जिंदगी में सकारात्मकता आती है। नियमित रूप से अगर आप योग का अभ्यास करेंगे तो आप अपने दिमाग को ट्रेन करने में सक्षम होंगे। इस तरह से अपने दिमाग को ट्रेंन किया जाए तो आप अपने पुराने पैटर्न को तोड़ सकते हैं और नशे की लत को कम कर सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।