Close
चाहिए कुछ ख़ास?
Search

    प्रेग्नेंसी में मलासन करने से मिलते हैं ये जबरदस्त लाभ

    अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो मलासन योगासन का अभ्यास करना आपके लिए लाभदायक हो सकता है। 
    author-profile
    • Mitali Jain
    • Editorial
    Updated at - 2022-11-05,13:00 IST
    Next
    Article
    Malasana benefits for woman

    प्रेग्नेंसी का दौर किसी भी महिला के लिए बेहद कठिन समय होता है। जब एक महिला अपने गर्भ में नन्हीं जान को पालती हैं तो उसके स्वयं के शरीर में कई तरह की समस्याएं होती हैं। जी मचलाने से लेकर उल्टी, कब्ज, मूड स्विंग्स आदि कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं महिला को परेशान करती हैं। 

    ऐसे में इन समस्याओं को दूर करने का सबसे आसान तरीका है कि आप गर्भावस्था में योगाभ्यास करें। जी हां, प्रेग्नेसी में योगासन करना काफी लाभदायी माना गया है। ऐसे कई योगासन हैं, जिनका अभ्यास गर्भावस्था में सुरक्षित है और इन्हीं में से एक है मलासन। मलासन का नियमित अभ्यास करने से कई तरह की समस्याओं से राहत मिल सकती है। तो चलिए आज इस लेख में ब्लॉसम योगा के फाउंडर और योगविशेषज्ञ जितेन्द्र कौशिक आपको गर्भावस्था में मलासन करने के फायदों के बारे में बता रहे हैं-

    मलासन कैसे करें

    benefits of malasana in pregnancy

    • गर्भावस्था में मलासन से होने वाले लाभ के बारे में जानने से पहले आपको इसे करने के सही तरीके के बार में भी अवश्य जानना चाहिए-
    • इस आसन का अभ्यास करने के लिए आप सबसे पहले मैट या जमीन पर पैर मोड़ कर बैठ जाएं।
    • इस दौरान आपके पैर सामने की ओर नहीं, बल्कि साइड में होने चाहिए। ठीक वैसे ही, जैसा कि मल त्याग करते समय आपकी पोजिशन होती है।  
    • अगर आपको इस तरह बैठने में समस्या हो रही हैं तो आप अपने नीचे तकिए या फिर ब्लॉक आदि भी रख सकती हैं, जिससे आपको आराम मिलें।
    • आप चाहें तो दीवार के सहारे भी बैठ सकती हैं।
    • इसके बाद आप दोनों हाथों को आपस में मिलाकर नमस्कार की मुद्रा बनाएं। ध्यान दें कि इस अवस्था में आपके हाथों की कोहनी और घुटने आपस में टच होने चाहिए।
    • अब आप गहरी सांस लें और फिर उसे बाहर छोड़ें।
    • जब तक संभव हों, आप इसी पोजिशन में बैठें और फिर सामान्य स्थिति में लौट आएं।(समकोणासन का अभ्यास करने से मिल सकते हैं यह पांच लाभ)

    नॉर्मल डिलीवरी में मिलती है मदद

    अगर महिला दूसरी तिमाही से मलासन का अभ्यास करना शुरू करती है तो इससे उन्हें नॉर्मल डिलीवरी में मदद मिलती है। साथ ही, डिलीवरी के दौरान दर्द भी अपेक्षाकृत कम होता है। इस आसन का नियमित अभ्यास करने से पेल्विक फ्लोर की मसल्स को मजबूती मिलती हैं, जिससे महिला की डिलीवरी अधिक आसान होती है। 

    कब्ज की समस्या को कहें बाय-बाय

    Constipation problem in pregnancy

    गर्भावस्था में कब्ज की समस्या होना बेहद आम है। प्रेग्नेंसी में कब्ज के कारण महिला काफी परेशान रहती है। लेकिन अगर आप अपने पाचन तंत्र को बेहतर बनाकर कब्ज की समस्या से छुटकारा पाना चाहती हैं तो ऐसे में मलासन का अभ्यास करना लाभदायी हो सकता है। गर्भावस्था में अगर आपको परेशानी हो तो आप अतिरिक्त सपोर्ट के लिए दीवार के सहारे झुककर बैठने की कोशिश कर सकती हैं।

    इसे भी पढ़ें-डिलीवरी होगी बेहद आसान, रोजाना करें ये 3 योग

    Recommended Video


    पैरों के दर्द से मिलेगी राहत

    foot pain in pregnancy

    जैसे-जैसे महिला की प्रेग्नेंसी का समय बढ़ता है, अधिक वजन के कारण महिलाओं को गर्भावस्था में पैरों में दर्द की समस्याका सामना करना पड़ता है। लेकिन ऐसे में आपको मलासन का अभ्यास करना चाहिए। यह आसन पैरों की मसल्स को अधिक मजबूती प्रदान करता है, जिससे पैरों के दर्द से राहत मिलती है। आप इस आसन को दूसरी तिमाही से करना शुरू कर सकती हैं।

    हर महिला का गर्भावस्था का दौर व स्वास्थ्य समस्या अलग होती है, इसलिए मलासन या अन्य किसी भी योगासन का अभ्यास करने से एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। साथ ही, इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय भी आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

    अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकीअपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

    Image Credit- freepik

     गर्भावस्था में 

    बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

    Her Zindagi
    Disclaimer

    आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।