चावल के पानी को हम कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं और इसके फायदे सिर्फ स्किन और बालों तक ही सीमित नहीं हैं। भारतीय घरों में हमेशा से ही चावल के पानी को बहुत इस्तेमाल किया जाता है। ये वो गाढ़ा फ्यूइड होता है जिसे हम चावल धोने के बाद निकालते हैं या फिर चावल को उबालने के बाद जो स्टार्च निकाला जाता है। इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि ये चावल का पानी स्टार्च से भरपूर होता है और इसमें बहुत सारे एंटी-ऑक्सिडेंट्स होते हैं। 

ये बात तो स्थापित हो गई कि चावल के पानी का महत्व बहुत ज्यादा है और वो हमारी सेहत के लिए भी अच्छा है, लेकिन इसे इस्तेमाल करने के तरीकों और इसके पीरियड्स को लेकर फायदों के बारे में भी तो पता करना जरूरी है। 

हमने इसके बारे में आयुर्वेदिक डॉक्टर दीक्षा भावसार से बात की और उन्होंने हमें अपनी एक पोस्ट की जानकारी दी जो उन्होंने कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर शेयर की थी। वो पोस्ट चावल के पानी से जुड़ी हुई थी। इसी के साथ, उन्होंने हमें इसके उपयोग और महत्व के बारे में बताया कि पीरियड्स और सफेद डिस्चार्ज जैसी समस्याओं के लिए चावल का पानी कितना उपयोगी है। 

rice water for discharge issues

इसे जरूर पढ़ें- डायजेशन और एलर्जी को ठीक करने के लिए पिएं एक्सपर्ट का बताया पुदीने का ये ड्रिंक 

आयुर्वेद में है चावल के पानी का ये महत्व-

चावल के पानी (माढ़) को आयुर्वेद में तंडुलोदक कहा जाता है। इसमें बहुत सारे एंटी-ऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं और आयुर्वेद में इसका उपयोग लंबे समय से किया जाता रहा है। इसे कई तरह से इस्तेमाल करने का वर्णन भी है। 

rice water for menstruation

कैसे तैयार करें चावल का पानी-

कई लोगों को लगता है कि सिर्फ चावल को धोकर उसका पानी निकालें तो वो पीने लायक हो जाता है और फायदा करता है, लेकिन ऐसा नहीं है। चावल का पानी असल में हमेशा चावल के पानी को या तो उबाल कर या फरमेंट कर उसका पानी लेना चाहिए। 

कैसे बनाएं-

  • चावल को एक बार धो लें।
  • इसके बाद इसमें 1 कप पानी डालकर 2-6 घंटों के लिए रख दें।
  • अब 6 घंटे बाद इसे थोड़ा सा चलाएं और फिर इसे छानकर रख लें।
  • अब आप इसे सीधे ऐसे ही पी सकते हैं या फिर इसमें काला नमक आदि डालकर ले सकते हैं। 
  • इसे दिन भर में थोड़ा-थोड़ा सिप करके लेना चाहिए ताकि शरीर में हाइड्रेशन की कमी न हो। 

दूसरा तरीका-

  • आप चावल को धोकर उबाल लीजिए।
  • उबलने के बाद जो पानी बचेगा उसे छानकर ऐसे ही इस्तेमाल कर लीजिए।
  • ध्यान रहे कि चावल उबालते समय कुछ और चीज़ जैसे नमक आदि नहीं डालना है।  
  • कब तक स्टोर किया जा सकता है चावल का पानी? 
  • इसे आप 6-8 घंटों तक स्टोर कर सकते हैं। सबसे बेस्ट तरीका ये होगा कि आप रोज़ाना चावल के पानी का प्रयोग करते रहें और इसे रोज़ फ्रेश ही बनाएं।  
rice water for white discharge

किस तरह के चावल का इस्तेमाल करना है? 

वैसे तो किसी भी तरह का चावल अच्छा माना जा सकता है, लेकिन अगर आप देखें तो इन चीज़ों का ध्यान रखें तो ये और भी पौष्टिक हो सकता है- 

  • टुकड़ा चावल अच्छा माना जा सकता है।
  • सबसे अच्छा लाल चावल होता है। 1 साल पुराना लाल चावल अच्छा होगा और सफेद चावल से कोई प्रॉब्लम नहीं होगी। 
  • चावल कच्चा होना चाहिए, अनपॉलिश्ड चावल बेहतर है, इस चावल को स्टीम नहीं करना है।  
rice water and uses

इसे जरूर पढ़ें- इन संकेतों से जान लें कि आपकी आंतों में हो रही है कोई परेशानी 

चावल के पानी के मेंस्ट्रुअल हेल्थ पर फायदे- 

चावल का पानी स्किन और बालों के लिए तो बहुत अच्छा हो सकता है, लेकिन इसके कई हेल्थ से जुड़े फायदे भी हैं जिनके बारे में आपको ध्यान रखना चाहिए।   

सफेद डिस्चार्ज की समस्या में फायदेमंद- 

डॉक्टर दीक्षा का कहना है कि वो अपने सभी मरीज़ों को चावल का पानी देने की सलाह देती हैं। इससे बहुत ज्यादा फायदे मिलते हैं।  

हेवी पीरियड्स और यूरिन करते समय जलन में फायदेमंद- 

चावल का पानी तासीर से ठंडा होता है और इसलिए यूरिन में जलन, डायरिया, ब्लीडिंग की समस्याएं, हेवी पीरियड्स आदि समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। अगर आपके हाथ-पैर में जलन हो रही है तो उसके लिए भी चावल का पानी काफी सहायक होगा।  

इसके अलावा, आप नॉर्मल चेहरा और बाल धोने के लिए भी इसे इस्तेमाल किया जा सकता है।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

 

क्यों इतना फायदेमंद है चावल का पानी? 

चावल के पानी में कई तरह के मिनरल्स और विटामिन्स होते हैं जो बहुत अच्छे नतीजे देने के लिए काफी हैं। इसमें इनोसिटोल ‘inositol’ नामक एक कंपाउंड होता है जो सेल ग्रोथ के लिए अच्छा है। ये एजिंग प्रोसेस को धीमा कर देता है और ब्लड फ्लो बढ़ाता है। चावल के पानी में एंटीऑक्सिडेंट, मॉइश्चराइजिंग और यूवी रेज को एब्जॉर्ब करने के गुण होते हैं। ये पोर्स को टाइट करता है और एज स्पॉट्स को कम करता है।  

ये एनर्जी ड्रिंक की तरह भी काम करता है।  

किन्हें नहीं करना चाहिए चावल के पानी का इस्तेमाल- 

जिन लोगों को पहले से ही कफ, कोल्ड और सर्दी की समस्या है या फिर जिन्हें साइनस है और ठंडी चीज़ें सूट नहीं करती हैं उन्हें ये नहीं लेना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि चावल के पानी की तासीर हमेशा ठंडी होती है और ये ऐसे लोगों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है।  

अगर आप किसी स्पेशल डाइट पर हैं, किसी तरह की समस्या है, पेट की बीमारी है या कुछ और हेल्थ प्रॉब्लम्स से जूझ रहे हैं तो आप पहले डॉक्टर से संपर्क करें और उसके बाद ही चावल के पानी को पिएं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।