अगर हम शरीर के लिए जरूरी मिनरल्स की बात की जाए तो इसमें कैल्शियम का नाम लिस्ट में सबसे ऊपर आता है! कैल्शियम एक आवश्यक पोषक तत्व है जो आपके शरीर को कई कार्य करने में मदद करता है, जैसे हड्डियों और दांतों को मजबूती देना, नर्व्स सिग्नल भेजना, हार्मोन रिलीज करना, ब्लड क्लॉटिंग को रोकना और सामान्य दिल की धड़कन को बनाए रखना। अगर शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाए तो इससे आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

वैसे, जब कैल्शियम स्रोतों की बात आती है, तो हम में से अधिकतर लोग दूध, दही और पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का सेवन सबसे पहले शुरू करते हैं, क्योंकि इनमें कैल्शियम की मात्रा काफी अधिक होती है। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो लैक्टोज इनटॉलरेंट होते हैं और इसलिए उन्हें मिल्क व मिल्क प्रॉडक्ट से दूर रहना पड़ता है। हो सकता है कि इस स्थिति में आपको अपने कैल्शियम इनटेक के साथ समझौता करना पड़े। जी नहीं, आपको ऐसा करने की जरूरत नहीं है। ऐसे कई फूड हैं, जिन्हें आप लैक्टोज इनटोलरेंट होने पर भी ले सकते हैं और अपने कैल्शियम की खुराक को पूरा कर सकते हैं। तो चलिए आज सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको कुछ ऐसे ही फूड्स के बारे में बता रही हैं-

नॉन वेज फूड आइटम

non veg food lactose intolerant alternatives

अगर आप नॉन वेजिटेरियन हैं तो ऐसे में आप कुछ फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करके कैल्शियम की कमी को पूरा कर सकती हैं। मसलन, आप अंडे का सेवन कर सकती हैं। इसमें प्रोटीन के साथ-साथ कैल्शियम भी पाया जाता है। इसके अलावा, आप चिकन व फिश को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इनमें भी कैल्शियम की मात्रा अच्छी होती है।

काबुली चने

chickpea  lactose intolerant alternative

काबुली खाने में भी बेहद डिलिशियस होते हैं। वहीं दूसरी ओर, इनमें कैल्शियम भी पाया जाता है। इसके अलावा आप राजमा व कई तरह की फलियों को भी अपनी डाइट में शामिल करके शरीर में कैल्शियम की कमी होने से रोक सकते हैं।

रागी

रागी कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें केवल फाइबर की ही उच्च मात्रा नहीं पाई जाती है, बल्कि इसमें कैल्शियम भी काफी अच्छी मात्रा में होता है। बता दें कि 100 ग्राम रागी में 344 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। इसके अलावा, इसमें प्रोटीन भी भरपूर होता है।

lactose intolerant alternatives expert quote

हरी पत्तेदार सब्जियां

green vegetables lactose intolerant alternatives

आमतौर पर यह माना जाता है कि हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन होता है। लेकिन इसमें कैल्शियम की मात्रा भी अच्छी होती है। आप हरी पत्तेदार सब्जियों को सलाद से लेकर सूप व सब्जी आदि के रूप में अपनी डाइट में शामिल करें।

इसे भी पढ़ें :स्टूडेंट्स की डाइट में जरूर शामिल करें यह फूड्स, रहेंगे एक्टिव और हेल्दी 

बेसन

बेसन भी कैल्शियम रिच होता है। इसलिए अगर आप अपने शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाना चाहती हैं तो ऐसे में आप बेसन को अपनी डाइट में शामिल करें। आप बेसन को सामान्य आटे के साथ मिक्स करके उससे आटा गूंथे और फिर उससे रोटियां बनाएं। इस तरह आप कैल्शियम की कमी को दूर कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें :हरवक्त रहती हैं थकी-थकी, तो इन फूड्स का सेवन कर दें शुरू

विटामिन-डी

vitamin d lactose intolerant alternatives

जब भी आप कैल्शियम रिच फूड खाती हैं तो इस बात पर विशेष रूप से फोकस करें कि आप विटामिन-डी युक्त आहार का भी सेवन करें। इस तरह जब आप कैल्शियम के साथ विटामिन डी लेती हैं तो इससे बॉडी में कैल्शियम का अब्जार्बशन बेहतर तरीके से होता है। जिससे कम मात्रा में कैल्शियम लेने से भी शरीर में कैल्शियम की कमी नहीं होती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik