हमारी किचन में ऐसे कई फूड आइटम्स मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए काफी अच्छे माने गए हैं। इन्हीं में से एक है लहसुन। इसकी बेमिसाल गंध ना केवल आपके खाने में एक एरोमा एड करती है, बल्कि इससे आपकी सेहत को भी बहुत अधिक लाभ होता है। इतना ही नहीं, लहसुन में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे कैल्शियम, कॉपर, पोटैशियम, फॉस्फोरस, आयरन और विटामिन बी1 भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो शरीर पर कई तरह से प्रभाव डालते हैं। 

लेकिन वो कहते हैं ना कि किसी भी चीज की अति क्षति का कारण बनती है। ऐसा ही कुछ लहसुन के साथ भी होता है। यूं तो लहसुन गुणों का खजाना है, लेकिन अगर आप आवश्यकता से अधिक इसका सेवन करती हैं तो यह आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है। इतना ही नहीं, इससे आपको कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स भी हो सकती हैं। तो चलिए आज इस लेख में सेंट्रल गवर्नमेंट हॉस्पिटल के ईएसआईसी अस्पताल की डायटीशियन रितु पुरी आपको बता रही हैं कि आवश्यकता से अधिक लहसुन का सेवन करने से क्या-क्या परेशानियां हो सकती हैं-

मुंह से दुर्गंध आना

mouth smell

जरूरत से ज्यादा लहसुन के सेवन से जो एक समस्या हर किसी को होती है, वह है मुंह से दुर्गंध आना। यह तो हम सभी जानते हैं कि लहसुन की एक तीखी गंध होती है और ऐसे में अगर आप इसे बहुत अधिक खाती हैं, तो इससे आपको मुंह से स्मेल आने लगती है। 

हो सकती है हार्ट बर्न की समस्या 

लहसुन का बहुत अधिक सेवन हार्ट बर्न प्रॉब्लम की वजह बन सकता है। दरअसल, लहसुन नेचर से एसिडिक होता है और इसलिए इसका बहुत अधिक सेवन किया जाए तो सीने में जलन हो सकती है। खासतौर से, अगर किसी को एसिडिटी की समस्या रहती है, तो आपको लिमिटेड मात्रा में ही लहसुन का सेवन करना चाहिए। आप एक दिन में चार-पांच लहसुन की कली ले सकते हैं, लेकिन उससे अधिक लहसुन (लहसुन का नमक) का सेवन करने से बचें।

इसे भी पढ़ें: स्नैक या फिर डिनर में भी ले सकते हैं पूजा मखीजा का बताया गया 'स्पिनेच रैप', जानें रेसिपी

अगर हो डायरिया की समस्या

diariah

अगर आपको डायरिया या गैस की समस्या रहती है तो ऐसे में आप कोशिश करें कि आप खाली पेट लहसुन ना लें। दरअसल, लहसुन में सल्फर पाया जाता है और अगर इसका सेवन खाली पेट किया जाए तो इससे आपकी डायरिया की समस्या बद से बदतर हो सकती है।

अगर लगी हो चोट

अगर आपको कहीं चोट लगी है तो उस दौरान भी आपको लहसुन का सेवन करने से बचना चाहिए। दरअसल, लहसुन ब्लड थिनिंग का काम करता है, और इसलिए अगर उस दौरान लहसुन का सेवन किया जाता है, तो इससे ब्लीडिंग बंद नहीं होती है, जिससे आपको समस्या हो सकती है। आपको चाहे बाहर से ब्लीडिंग हो रही हो या फिर इंटरनट ब्लीडिंग हो रही है तो आपको कम से कम तब तक लहसुन का सेवन कम से कम करना चाहिए, जब तक कि आपकी बॉडी पूरी तरह हील नहीं हो जाती।

बदल सकता है ब्रेस्ट मिल्क का टेस्ट 

breastfeeding

अगर आप ब्रेस्ट फीडिंग (ब्रेस्टफीडिंग से जुड़ी ये बातें) मदर है तो भी आप कोशिश करें कि आप लहसुन का सेवन ना ही करें। दरअसल, अगर आप लगातार अधिक मात्रा में लहसुन का सेवन करती हैं तो इससे आपके ब्रेस्ट मिल्क का टेस्ट बदल सकता है और फिर हो सकता है कि आपका बेबी बदले हुए टेस्ट के कारण ब्रेस्ट मिल्क अवॉयड करें।

इसे भी पढ़ें: बार-बार मीठा खाने की जिद करता है बच्चा, तो कुछ इस तरह दें उसे हेल्दी ट्विस्ट

लो हो सकता है ब्लड प्रेशर

अगर आप उन लोगों में से हैं, जिन्हें लो ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है तो ऐसे में भी आपको लहसुन का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए। दरअसल, लहसुन में कुछ ऐसे कंपाउंड पाए जाते हैं, जो ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं। लेकिन अगर आपको पहले से ही लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो लहसुन का सेवन करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।