• ENG | தமிழ்
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

इन पांच कारणों को जानने के बाद आप भी दालों को पकाने से पहले पानी में करेंगी सोक

अगर आप दालों को वॉश करने के बाद यूं ही पका देती हैं तो एक बार आपको इस लेख को अवश्य पढ़ना चाहिए।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -01 Jul 2022, 13:56 ISTUpdated -01 Jul 2022, 14:43 IST
Next
Article
Health Benefits Of Soaking Lentils

दालों को सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है और इसलिए हर किसी को इसे अपनी डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। इसके सेवन से केवल आपको प्रोटीन ही नहीं मिलता, बल्कि इसमें कई तरह के विटामिन्स व मिनरल्स भी मौजूद होते हैं, जो आपके शरीर की पोषक तत्व संबंधी जरूरतों को पूरा करने में मदद करते हैं। हालांकि, हर घर में लोग इसे एक अलग तरीके से बनाते हैं। जहां कुछ महिलाएं दालों को सिर्फ धोकर उबालने रख देती हैं।

वहीं कुछ महिलाओं की आदत होती है कि वह पहले इसे सोक करती हैं और तब इसे कुक करती हैं। हर किसी का दाल बनाने का अपना-अपना तरीका है। लेकिन क्या आपको पता है कि अगर आप दालों को कुक करने से पहले कुछ देर के लिए उसे पानी में भिगोकर रखती हैं तो इससे आपको कई बेहतरीन लाभ मिलते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं, जिसे जानने के बाद आप भी दाल को कुछ देर के लिए पानी में सोक करना पसंद करेंगी-

मिनरल्स का बेहतर अब्ज़ॉर्प्शन 

Soaking Lentils Better absorption of minerals

अमूमन किसी भी आहार का सेवन इसलिए किया जाता है, ताकि वह सिर्फ हमारा पेट ही ना भरे, बल्कि उसमें मौजूद पोषक तत्व हमें हेल्दी बनाए रखने में मदद करे। इस लिहाज से दालों का कुक करने से पहले भिगोना अच्छा माना जाता है। दरअसल, जब आप दालों को भिगोती हैं तो इससे शरीर में मिनरल्स अब्ज़ॉर्प्शन रेट बढ़ जाता है।

दाल को कुछ समय के लिए भिगोने से उसमें फाइटेज नामक एंजाइम सक्रिय हो जाता है। यह फाइटेस फाइटिक एसिड को तोड़ने में मदद करता है और कैल्शियम, आयरन और जिंक को बाइंड करने में मदद करता है। इससे मिनरल्स अब्ज़ॉर्प्शन प्रोसेस बहुत आसान हो जाता है।

पचाने में होती है आसानी

Soaking Lentils For Digestive system

खाना खाने के बाद अगर वह सही तरह से नहीं पचता तो इससे व्यक्ति को असहजता के साथ-साथ अन्य कई प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। इस लिहाज से भी दालों को भिगोना आवश्यक है। भिगोने से अमाइलेज नामक एक यौगिक भी सक्रिय हो जाता है जो दाल में जटिल स्टार्च को तोड़ देता है और उन्हें पचाने में आसान बनाता है। (गैस से परेशान हैं तो किचन में मौजूद ये 5 चीजें आजमाएं)

इसे ज़रूर पढ़ें- खाने में स्वाद से भरी चना दाल के हैं सेहत के लिए कई फायदे, डाइट में जरूर करें शामिल

गैस की समस्या से मुक्ति

अक्सर दाल खाने के बाद कुछ लोगों को गैस की शिकायत होती है। हो सकता है कि दाल को ना भिगोने के कारण आपको इस परेशानी का सामना करना पड़ रहा हो। लेकिन जब आप दाल को भिगोती हैं तो इससे गैस पैदा करने वाले यौगिक भी काफी हद तक हट जाते हैं। (दाल का पानी पीने के ये फायदे)

अधिकांश दालों में ऑलिगोसैकराइड्स होते हैं, जो ब्लोटिंग और गैस के लिए जिम्मेदार एक प्रकार का कॉम्पलेक्स शुगर है। भिगोने के बाद इस कॉम्पलेक्स शुगर की मात्रा काफी कम हो जाती है जो आपको गैसीय परेशानियों से बचाती है। हालांकि, आपको यहां यह अवश्य समझना चाहिए कि यह जरूरी नहीं है कि दालों को भिगोने के बाद आपको गैस की समस्या होगी ही नहीं। यह अन्य कारणों से भी हो सकती हैं।

Recommended Video

कुकिंग समय कम लगना

Soaking Lentils Cooking Hacks

यह भी दालों को भिगोने से मिलने वाला एक जबरदस्त लाभ है। अमूमन देखने में आता है कि अगर दालों को कुक करने से पहले कुछ देर के लिए पानी में भिगोया जाए तो वह फूल जाती हैं और फिर वह अपेक्षाकृत जल्दी पक जाती हैं, जिससे वास्तव में आपका कुकिंग टाइम कम लगता है और ईंधन की भी बचत होती है। 

इसे ज़रूर पढ़ें- रोजाना खाएं सिर्फ '1 कटोरी' चावल, वेट लॉस होगा और मिलेंगे ये 5 फायदे

 

दालों का एकसमान पकना

खाना खाते समय आप यही चाहेंगी कि दाल का हर दाना एक समान पका हुआ हो, लेकिन यह केवल तभी संभव है, जब आप दालों को पकाने से पहले कुछ देर के लिए भिगोएं। अगर आप सीधे ही दालों को वॉश करके पका देती हैं तो इससे दाल के कुछ दाने अधिक गल जाते हैं तो कुछ कच्चे रह जाते हैं। इससे दाल का स्वाद भी वैसा नहीं मिलता, जैसा आपको चाहिए होता है। इसलिए हमेशा दालों को कुछ देर के लिए अवश्य भिगोएं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर अवश्य करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik 

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।