चना दाल का इस्तेमाल मुख्य रूप से भारतीय रसोई में किया जाता है कभी दाल के रूप में, तो कभी इसके आटे यानी बेसन के रूप में इसका इस्तेमाल किया  जाता है। चना दाल ये तैयार व्यंजन वास्तव में स्वाद से भरपूर होते हैं।

चना दाल न सिर्फ स्वाद में लाजवाब होती है बल्कि सेहत के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद है। इस दाल को किसी न किसी रूप में अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। आइए नई दिल्ली की डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (BHMS) से जानें चना दाल के सेहत से जुड़े कुछ फायदों के बारे में जिन्हें जानने के बाद आप भी इसे अपनी डाइट में किसी न किसी रूप में शामिल जरूर करेंगे। 

दिल को स्वस्थ रखे

healthy heart chana dal

चना दाल को बेबी काबुली चने के रूप में भी जाना जाता है। चना दाल हमारे खून में खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकती है। एक रिसर्च के अनुसार स्वस्थ हृदय के लिए हमारे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है और चना दाल का इस्तेमाल ह्रदय को स्वस्थ रखने में सहायक होता है। यह बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देने में मदद करती है। 

इसे जरूर पढ़ें:जुकीनी के कुछ ऐसे हेल्थ बेनिफिट्स जो आपने पहले नहीं सुने होंगे, डाइट में जरूर करें शामिल

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए 

chana dal benefits

चना दाल में उच्च प्रोटीन की उपस्थिति के कारण, यह किसी भी संक्रमण से लड़ने के लिए हमारी रोग प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करती है। शरीर के इम्यून सिस्टम को सुचारु करके बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर को तैयार करती है। इसलिए चना दाल का इस्तेमाल किसी न किसी रूप में जरूर करना चाहिए। 

हड्डियां मजबूत बनाए 

bone health chana dal

हड्डियों और दांतों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए कैल्शियम एक मुख्य घटक के रूप में कार्य करता है। कैल्शियम मुख्य रूप से दूध से बने प्रोडक्ट्स में पाया जाता है लेकिन यदि आप दूध की जगह चना दाल का इस्तेमाल करेंगी तब भी आपकी दूध की आपूर्ति हो जाएगी। शोध के अनुसार पर्याप्त कैल्शियम का सेवन ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने और हड्डियों के घनत्व में सुधार करने में मदद कर सकता है और चना दाल में मौजूद कैल्शियम की मात्रा हड्डियों को मजबूत बनाकर ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में मदद करती है। 

ब्लड शुगर कम करे 

blood sugar

चना दाल का लगभग 11% फाइबर से बना होता है। फाइबर का सेवन रक्त शर्करा को कम करने में मदद करता है। विशेष रूप से टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए चना दाल का सेवनअच्छा है। इसमें मौजूद कम ग्लाइसेमिक सूचकांक रक्त में शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता है।

Recommended Video

वजन घटाए 

weight management chana dal

फाइबर में समृद्ध चना दाल  वजन घटाने के लिए एक उत्कृष्ट घातक की तरह काम करता है। चना दाल के सेवन से पेट जल्दी भरा हुआ महसूस होता है और इसके सेवन के बाद काफी देर तक भूख नहीं लगती है, जिससे ज्यादा खाने की इच्छा कम हो जाती है और वजन नियंत्रित रहता है। 

इसे जरूर पढ़ें:चेरी फल के सेहत से जुड़े कुछ ऐसे फायदे जो आपने पहले नहीं सुने होंगे, डाइट में जरूर करें शामिल

विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर चना दाल हमारी सेहत के लिए रामबाण है, इसलिए इसे अपनी नियमित डाइट में जरूर शामिल करें। लेकिन स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई अन्य समस्या होने पर इसके सेवन से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर ले लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:  freepik and shutterstock