खाना किसी भी व्यक्ति की एक मूलभूत आवश्यकता है। अमूमन दिन की शुरूआत से लेकर सोने से पहले तक हम कुछ ना कुछ खाते ही हैं। वैसे देश-दुनिया में इतनी वैरायटी मौजूद हैं, जिसे शायद एक फूडी के लिए भी चख पाना संभव ना हो। खाने की यही विविधता उस प्रांत या राज्य को खास बनाती है। हालांकि जहां एक ओर खाने की कई वैरायटी मौजूद है, वहीं दूसरी ओर खाने से जुड़े ऐसे कई ईटिंग डिसआर्डर हैं, जिनके बारे में आज भी बहुत कम लोगों को पता है। जब ईटिंग डिसआर्डर की बात होती है तो अक्सर लोग एनोरेक्सिया नर्वोसा या फिर बुलिमिया नर्वोसा आदि का नाम लिया जाता है। यकीनन यह ईटिंग डिसआर्डर के मुख्य प्रकारों में से एक है, लेकिन इससे अलग भी लोगों को खाने से जुड़ी ऐसी कई क्रेविंग होती है या फिर अजीबो-गरीब चीजें खाने का मन करता है, जो वास्तव में खाने के लिए हैं ही नहीं। सामान्य व्यक्ति इन चीजों को खाने के बारे में सोच भी नहीं सकता। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही कुछ अजीबो-गरीब ईटिंग डिसआर्डर के बारे में बता रहे हैं-

ट्राइकोफैगिया

 eating dissorder inside

ट्राइकोफैगिया एक ऐसा डिसआर्डर है, जो बालों को खाने से जुड़ा है।ट्राइकोफैगिया एक ऐसी स्थिति है जिसमें कोई अपने बालों को चबाता और निगलता है, यहां तक कि बाल जो अभी भी उनके सिर से जुड़े हैं। बाल अंततः गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में इकट्ठा होते हैं जिससे अपच और पेट दर्द होता है।

इसे जरूर पढ़ें: इन गलत हैबिट्स की वजह से फूला हुआ दिखता है आपका पेट

ज़ाइलोफैगिया

 eating dissorder inside

यह एक ऐसा ईटिंग डिसआर्डर है, जिसे हम अपने आसपास देखकर भी नजरअंदाज कर देते हैं। कुछ बच्चे ऐसे होते हैं, जो लगातार पेंसिल को खाते रहते हैं, उन्हें यह ईटिंग डिसआर्डर हो सकता है। दरअसल, यह ईटिंग डिसआर्डर यह पिका का एक रूप है जिसमें एक व्यक्ति कागज, पेंसिल और पेड़ की छाल जैसी लकड़ी आधारित वस्तुओं को तरसता है और उन्हें खाता है।

ऑर्थोरेक्सिया नर्वोसा

 eating dissorder inside

वैसे तो हमेशा ही हेल्दी खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन कभी-कभी यह एक डिसआर्डर भी बन जाता है। मसलन, अगर आपका जीवन स्वस्थ खाने के आसपास घूमता है, आप ना सिर्फ आज के खाने के बारे में सोचते हैं, बल्कि अगले दिन के लिए भोजन की योजना बनाने लग जाती हैं तो यह ऑर्थोरेक्सिया का मामला हो सकता है। यह एक ऐसी स्थिति है जो वास्तव में स्वस्थ भोजन और उससे जुड़ी चिंताओं से ग्रस्त है। इससे भी महत्वपूर्ण बात, भले ही आपका आहार पूरी तरह से संतुलित और केवल स्वस्थ खाद्य पदार्थों से युक्त हो, तब भी आप हमेशा ही हेल्दी फूड के बारे में सोचेंगे।

इसे जरूर पढ़ें: रात में सोने से पहले सिर्फ 2 लौंग खाएं, 10 दिनों में दिखेगे जबरदस्‍त फायदे

यूरोफैगिया

 eating dissorder insidE

इस ईटिंग डिसआर्डर को सुनने के बाद शायद आपको बहुत ही अजीब लगे, लेकिन यह वास्तव में सच है। इसमें व्यक्ति यूरिन पीता है। वैसे, यूरीन पीने का यह अभ्यास लंबे समय से किया जाता रहा है और मूत्र के औषधीय उपयोग अभी भी दुनिया के कुछ हिस्सों में किया जाता है। प्राचीन रोम, ग्रीस और मिस्र में मूत्र चिकित्सा से लेकर मुंहासों से लेकर कैंसर तक सभी का इलाज किया जाता है।

Recommended Video

ह्यालोफैगिया

ह्यालोफैगिया एक ऐसा ईटिंग डिसआर्डर है, जिसमें व्यक्ति कांच को खाता या चबाता है। हालांकि यह ईटिंग डिसआर्डर सेहत के लिए बेहद ही खतरनाक हो सकता है, क्योंकि कांच जीभ, मुंह, गले, पेट और आंत को काट सकता है। ऐसा माना जाता है कि ह्यालोफैगिया को तनाव, विटामिन की कमी और खनिज की कमी द्वारा ट्रिगर किया जा सकता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com