मानसून भले ही बेहद सुहावना लगता है, लेकिन इस मौसम में कभी गर्मी तो कभी उमस लोगों को बेचैन कर देती है। इस मौसम में सेहत का खास ख्याल रखना पड़ता है। यही नहीं खाने-पीने की चीजों का अगर ध्यान न दें, तो पेट में संक्रमण फैलने का डर रहता है। बैक्टीरिया से प्रभावित भोजन का सेवन करने से फूड प्वाइजनिंग से लेकर डायरिया जैसी बीमारी होने तक का खतरा रहता है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति को डीहाइड्रेट होने की समस्या रहने लगती है। व्यक्ति अंदर से कमजोर नजर आने लगता है।

आपको बता दें कि ज्यादातर शारीरिक परेशानियां पेट से ही जुड़ी होती हैं, आप जिन भी चीजों का सेवन करेंगी, उसका असर आपके बालों और चेहरे पर भी देखने को मिलेगा। आप चाहती हैं कि आपका पेट स्वस्थ रहे तो आपकी डाइट मानसून के अनुसार होनी चाहिए। आइए इस लेख में फैट टू स्लिम ग्रुप की सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिष्ट शिखा ए शर्मा से जानें मानसून में क्या खाएं और क्या नहीं-

प्रोबायोटिक्स खाद्य पदार्थ का सेवन

probitics food items

दूध, छाछ, और दही जैसी चीजें अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। दरअसल इसमें अच्छे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाते हैं। यही नहीं यह न्यूट्रिशन को ऑब्जर्व कर इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। अगर आपका पेट खराब रहता है तो बारिश के मौसम में इन चीजों को अधिक शामिल करें। हालांकि इसे कब खाना है, यह ध्यान रखें, शाम के वक्त दही और छाछ जैसी चीजों का सेवन ना करें। इससे सर्दी-जुकाम जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: चावल को दोबारा गर्म करके खाना हो सकता है सेहत के लिए नुकसानदेह, जानें कैसे

हैवी मील की जगह लाइट मील का सेवन करें

मानसून में पेट भर कर खाना खाने की आवश्यकता नहीं है। बारिश के समय में मील को लाइट रखें, इसकी जगह आप चाहें तो पेय पदार्थों का सेवन कर सकते हैं। दोपहर के वक्त लाइट मील लेने से पेट खराब होने की संभावना कम करती है। इसके अलावा मानसून आते ही लोगों का पकोड़े, सैंडविच जैसी चीजें खाने का अधिक मन करता है, लेकिन इससे पेट से जुड़ा संक्रमण बढ़ता है। बारिश के मौसम में उमस भी काफी होती है, जिसकी वजह से खाना जल्दी नहीं पचता और फिर मितली शुरू हो जाती है। इसके अलावा तेल मसाले वाली चीजों का भी सेवन न करें।

हेल्दी चाय का करें सेवन

drinking green tea

सुबह-सुबह लोगों को चाय पीने की आदत होती है, लेकिन मानसून के वक्त आप मसाला या फिर नॉर्मल चाय की जगह हेल्दी टी का सेवन करें। जैसे ग्रीन टी या फिर लेमन टी। यह आप के पेट को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती हैं। साथ ही साथ आपका वजन भी इससे कंट्रोल में रहेगा और दिनभर आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगी। 

शुगर इनटेक की मात्रा करें कम

उन चीजों को अपनी डाइट में शामिल न करें, जिसमें चीनी का उपयोग अधिक होता है। मीठी चीजों का सेवन अधिक करने से ब्लड शुगर बढ़ सकता है। यही नहीं रिफाइंड शुगर के सेवन से सूजन की समस्या हो सकती है और यह खराब बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा दे सकता है, इससे पेट खराब हो सकता है। 

Recommended Video

कच्ची सब्जियों को खाने से बचें

eating raw vegetables

कच्चा खाने की जगह आप सब्जियों को उबालकर खाएं। दरअसल मानसून के सीजन में कच्ची सब्जियों में बैक्टीरिया और वायरस पनपते हैं जो पेट के अंदर जाने के बाद समस्या पैदा करते हैं। अपने पेट को स्वस्थ बनाए रखना चाहती हैं कि कच्ची सब्जियों का सेवन ना करें। यही नहीं बारिश के समय हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन ना करें, क्योंकि इस दौरान इनमें कीड़े काफी होते हैं, जो धोने पर भी नहीं जाते। पालक, पत्ता गोभी, साग, और ब्रोकली जैसी सब्जियों का सेवन बारिश में ना करें।

इसे भी पढ़ें: चलिए जानते हैं नेटल पौधे के पत्तों के कुछ बेहतरीन फायदों के बारे में

नॉनवेज खाने का सेवन

eating non veg

बारिश के समय सोच-समझकर चीजों को खाना चाहिए, क्योंकि इस मौसम में कई ऐसी चीजें होती हैं, जिनमें बैक्टीरिया और वायरस पनपते हैं। जैसे इसमें सी फूड, मीट, और चिकन आदि भी शामिल हैं। यही नहीं इन चीजों को पचने में भी काफी समय लगता है। बारिश के वक्त कोशिश करें कि इन चीजों से दूरी बनाई जा सके। जितना हो सके सिंपल और ऑयल फ्री खाना खाएं। आप अपने खाने में हेल्दी ऑयल का ही इस्तेमाल करें। उन्हीं तेल को खाने में इस्तेमाल करें जो आपके पाचन को दुरुस्त करता है।

बारिश का मौसम अपने साथ कई बीमारियों को साथ लेकर आता है। ऐसें में अगर आप अपने पेट को स्वस्थ रखना चाहती हैं तो यहां बताए गए बातों का ध्यान जरूर रखें। साथ ही, अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।