प्रोटीन से भरपूर और कम कार्ब्स वाली मूंग दाल सबसे अधिक पौष्टिक शाकाहारी सुपरफूड्स में से एक मानी जाती है। यह खाने में स्वाद से भरपूर होने के साथ भारतीय आहार का एक अभिन्न अंग है जो बेहद हल्की खाद्य सामग्री होने के कारण पचने में भी आसान है। अन्य दालों की तुलना में पीली मूंग दाल में कार्ब्स की मात्रा कम होती है, जो इसे एक स्वास्थ्यवर्धक विकल्प के रूप में प्रस्तुत करती है। इसी वजह से बीमारी के दौरान इस दाल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। 

खासतौर पर पीली मूंग की प्रोटीन युक्त सामग्री इसे अन्य खाद्य सामग्रियों से अलग बनाती है। इस दाल के100 ग्राम सेवन से शरीर को लगभग 3 ग्राम प्रोटीन की मात्रा मिलती है जो शरीर के लिए लाभदायक है। आइए नई दिल्ली की जानी मानी डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (BHMS) से जानें पीली मूंग दाल के कुछ हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में जिन्हें जानकर आप भी इसे अपनी डाइट का हिस्सा जरूर बनाएंगी। 

पोषक तत्वों से भरपूर

full of nutreants

पीली मूंग दाल पोषक तत्वों से भरपूर आहार है। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, लोहा और तांबे जैसे खनिज तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा, उनमें उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, फोलेट, फाइबर और विटामिन बी 6 जैसे तत्व भी मौजूद होते हैं। बी-कॉम्प्लेक्स से भरपूर, पीली मूंग दाल शरीर के कार्बोहाइड्रेट को ग्लूकोज में तोड़ने में मदद करती है और शरीर के लिए उपयोगी ऊर्जा उत्पादन करती है। इसमें मौजूद फोलिक एसिड स्वस्थ मस्तिष्क और डीएनए के उत्पादन को बनाए रखने में भी मदद करता है। मूंग दाल में कुछ मात्रा में विटामिन ई, सी और के भी मौजूद होते हैं। पीली मूंग दाल विशेष रूप से फाइबर से भरपूर होती है। यह आहार संबंधी जटिलताओं को रोकने के साथ-साथ रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करती है। 

वजन नियंत्रित करे 

weight control

पीली मूंग दाल कोलेसीस्टोकिनिन हार्मोन की कार्य विधि को बढ़ाने में मदद करती है। इसे खाने के बाद शरीर को काफी देर तक भरा हुआ महसूस होता है और मेटाबॉलिज्म रेट भी बेहतर हो जाता है। इस दाल के सेवन के बाद काफी देर तक कुछ भी खाने की इच्छा नहीं होती है। इस प्रकार पीली मूंग दाल वजन को नियंत्रित करने में योगदान करती है।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: जानें अरहर दाल के सेहत के लिए कुछ ऐसे फायदे जो आपने पहले नहीं सुने होंगे

मधुमेह नियंत्रित करे 

diabetes control yellow moong dal

पीली मूंग दाल का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। यह शरीर में इंसुलिन, रक्त शर्करा और वसा के स्तर को कम करने में मदद करती है। बदले में, यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखने और मधुमेह को नियंत्रण में रखने में भी मदद करती है। हाई ब्लड शुगर की समस्या से पीड़ित लोगों को इस दाल को अपनी नियमित डाइट का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। 

पाचन को सुचारु करे 

improve digestive system

पीली मूंग दाल के सेवन से आंत में ब्यूटायरेट नामक फैटी एसिड का उत्पादन होता है। यह आंतों की दीवारों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। इस दाल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो पेट में गैस बनने से रोकते हैं और पाचन तंत्र को दुरुस्त रखते हैं। इसके अलावा, मूंग दाल पचाने में भी आसान होती है , जिससे इसके सेवन से कब्ज जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: कद्दू की सब्जी ही नहीं इसके फूल भी हैं सेहत के लिए रामबाण, जानें कैसे

Recommended Video

हृदय स्वास्थ्य में सुधार करे 

पीली मूंग दाल पोटैशियम और आयरन से भरपूर होती है। यह पूर्व रक्तचाप को कम करने में मदद करती है और मांसपेशियों में ऐंठन से बचाती है। यह शरीर को अनियमित दिल की धड़कन से बचाने में भी मदद करती है। इसकी हल्की और पचने में आसान प्रकृति इसे उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए एक बेहतरीन भोजन के रूप में प्रस्तुत करती है। इसमें मौजूद तत्व ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं और रक्त चाप को नियंत्रित करके हार्ट अटैक के खतरे को कम करते हैं। 

छोटे बच्चों के लिए फायदेमंद 

good for children

जब छोटे बच्चे अनाज को अपनी डाइट में शामिल करते हैं तब सबसे पहले पीली मूंग दाल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसमें मौजूद विभिन्न पोषक तत्व बच्चों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं जो उन्हें विकास में मदद करते हैं। मूंग की दाल में पोटेशियम, आयरन, कैल्शियम, कॉपर, फोलेट, राइबोफ्लेविन, फास्फोरस, फाइबर, मैग्नीशियम तत्वों की भरपूर मात्रा होने के कारण ये दाल बच्चों के लिए काफी फायेदेमंद होती हैं और बच्चो के बढ़ते शरीर को ताकत देने में मदद करती हैं।

विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर पीली मूंग दाल को अपनी नियमित डाइट का हिस्सा जरूर बनाएं, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी किसी अन्य समस्या के लिए इसे डाइट में शामिल करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik