अरहर दाल का इस्तेमाल अक्सर आप करते होंगे लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्वाद से भरी ये अरहर दाल आपकी सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है। आयरन और फोलेट की प्रचुरता की वजह से अरहर दाल में आवश्यक पोषक तत्व आयरन की कमी से होने वाली बीमारियों जैसे एनीमिया को ठीक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और आयरन के बढ़ाने में मदद भी करते हैं।

इसके अलावा फोलिक एसिड से भरी हुई अरहर दाल भ्रूण के विकास, मस्तिष्क के विकास को भी बढ़ावा देती है। आइए नई दिल्ली की जानी मानी डॉक्टर आकांक्षा अग्रवाल (BHMS) से जानें अरहर दाल के फायदे और इसे डाइट में क्यों शामिल करना चाहिए। 

पोषण से भरपूर 

arhar dal

अरहर दाल कई पोषक तत्वों से भरपूर होती है। यह प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है। यह आयरन और कैल्शियम की आपकी दैनिक मांगों को पूरा करने की सुविधा प्रदान करती है। फाइबर और प्रोटीन की समृद्धि की वजह से इसके सेवन से आपको लम्बे समय तक के लिए तृप्ति मिलती है।

रक्तचाप को नियंत्रित करे 

blood pressure

अरहर दाल पोटेशियम का एक समृद्ध स्रोत है, यह खनिज रक्त अवरोध को कम करने और रक्त के दबाव को स्थिर करने वाले तत्व के रूप में कार्य करती है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित रोगियों को अरहर दाल को अपनी डाइट में शामिल करना फायदेमंद होता है क्योंकि इसके सेवन से दिल की बीमारी का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: क्या आप जानती हैं नींबू की चाय के ये फायदे, डाइट में जरूर करें शामिल

वजन नियंत्रित करे

weight loss toor dal 

अरहर दाल के सेवन के बाद काफी देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है जिससे अतिरिक्त भोजन की इच्छा समाप्त हो जाती है। एक उच्च प्रोटीन आहार आपको लंबे समय तक तृप्त रखने में और वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद करती है। अरहर दाल आहार फाइबर, प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है और ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम होने से आपको भूख कम करने, चयापचय को बढ़ावा देने और समग्र कैलोरी के सेवन को प्रतिबंधित करके अपने वजन घटाने के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करती है।

Recommended Video

ऊर्जा को बढ़ावा देती है 

राइबोफ्लेविन और नियासिन जैसे अरहर दाल में मौजूद बी कॉम्प्लेक्स विटामिन की एक उल्लेखनीय मात्रा कार्बोहाइड्रेट चयापचय को प्रोत्साहित करने के लिए जानी जाती है, अतिरिक्त वसा के भंडारण को रोकती है और ऊर्जा के स्तर को ऊपर उठाती है। नियमित आहार में अरहर दाल के अलावा तुरंत ऊर्जा के स्तर में सुधार होता है।

मधुमेह नियंत्रित करे 

diabetes toor dal

अगर आप मधुमेह के रोगी हैं तो आपको अपने दैनिक आहार में अरहर दाल को शामिल करना चाहिए। अरहर दाल का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 29 है जो इसे मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए उपयुक्त बनाता है। यह दाल जटिल कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्रोत है जो आपके शरीर को ऊर्जा देता है। जब आप अरहर दाल का सेवन करते हैं, तो आपका ब्लड शुगर तेजी से नहीं बढ़ता है। नियमित रूप से अरहर दाल का सेवन करने से आपके शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने में मदद मिलती है।

इसे जरूर पढ़ें:मास्टर शेफ कविराज खियालानी से जानें आयरन से भरपूर डाइट के फायदे

कब्ज से राहत दिलाए 

improve digestion toor

अरहर दाल फाइबर का एक बड़ा स्रोत है जो इसे आपके पाचन स्वास्थ्य को अच्छा बनाता है। यह मल त्याग में सुधार करता है और कब्ज और अपच जैसे पाचन मुद्दों को रोकता है। कब्ज की समस्या से पीड़ित लोगों को अपने आहार में इस दाल को जरूर शामिल करना चाहिए।  

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik