क्या आपने नारंगा के बारे में सुना है? जी नहीं मैंने स्पेलिंग मिस्टेक नहीं की। यहां नारंगी नहीं नारंगा की बात ही हो रही है जो केरल में मिलने वाला एक बहुत ही प्रसिद्ध फल है। इसे आप बाकी राज्यों में भी आसानी से खोज सकते हैं और इसका स्वाद ग्रेपफ्रूट और संतरे का मिलाजुला स्वाद होता है। मल्यालम में इसे बाब्लूस नारंगा कहते हैं और इसका हिंदी नाम गागर नींबू या चकोतरा है। 

नींबू शब्द सुनकर चौंक मत जाइए, ये खट्टा स्वाद वाला नींबू नहीं है पर इसमें विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में पाया जा सकता है। ये सिट्रस फलों की प्रजाति का फल है और भारत में इसकी उपलब्धता के कारण इसे कई इलाकों में खाया जाता है। 

कैसा दिखता है ये फल?

तस्वीर देखकर हो सकता है कि आप धोखा खा गए हों, क्योंकि उसमें ये कुछ-कुछ संतरे जैसा लग रहा होगा, लेकिन इसकी बस रचना ही संतरे जैसी होती है पर ये कई मामलों में उससे अलग है। 

- ये संतरे से बड़ा होता है।

- इसका स्वाद संतरे से अलग होता है।

- ये अंदर से गुलाबी-लाल दिख सकता है, लेकिन नारंगी नहीं।

- इसका छिलका पूरी तरह से पीला हो जाता है। 

- ये संतरे के छिलके की तुलना में मोटा भी होता है और इसका छिलका भी काफी मोटा होता है। 

- इसका वजन 400 ग्राम से 2 किलो तक हो सकता है और ऐसे ही इसके फायदे भी अलग हैं। 

naranga benefits

अब जब हम इस बात को पक्का कर चुके हैं कि ये संतरे से कितना अलग होता है तो क्यों न इसके फायदों की बात कर ली जाए। Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इस फल के फायदों के बारे में बात की है। 

इसे जरूर पढ़ें- केले से भी घट सकती है पेट की जिद्दी चर्बी, एक्सपर्ट से जानें कैसे और कब खाएं केला

क्या हैं नारंगा को अपनी डाइट में शामिल करने के फायदे?

नारंगा फल बहुत ही आसानी से हमारे देश में मिल जाता है और ये प्रमुखता दक्षिण भारत और बिहार के कई इलाकों में पाया जाता है। इस फल को अपनी डाइट में शामिल करना बहुत ही आसान है। आप इसे ऐसे ही खा सकते हैं या फिर इसका जूस भी बना सकते हैं। आज हम इसके फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। 

1. हड्डियां होती हैं मजबूत- 

नारंगा में कई तरह के न्यूट्रिएंट्स होते हैं जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं। अगर किसी को हड्डियों से जुड़ी बीमारी है तो वो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकता है। 

2. टिशू और मसल्स के लिए भी है अच्छा-

इसमें ओमेगा 3 फैट्स और कैल्शयम भरपूर मात्रा में होता है जिससे शरीर के टिशू और मसल्स को बहुत फायदा मिलता है। 

narnga outer

3. कैलोरी हैं कम-

नारंगा में कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है। अगर आप कोई ऐसा फ्रूट ढूंढ रही हैं जिसमें विटामिन सी की मात्रा ज्यादा हो और साथ ही साथ कैलोरी कम हो, लेकिन वो थोड़ा हेवी फील करवाए तो नारंगा अच्छा साबित हो सकता है।  

इसे जरूर पढ़ें- तापसी पन्नू की न्यूट्रिशनिस्ट ने बताए PCOD/ PCOS से निपटने के 5 बेसिक टिप्स 

4. प्रोटीन और फाइबर - 

ये फ्रूट प्रोटीन और फाइबर की मात्रा भरपूर रखता है और फायदा ये है कि इससे हमें लगातार कई प्रोटीन मिल सकते हैं। अगर आपके शरीर में फाइबर की कमी है तो आप ये फ्रूट अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।   

क्या-क्या न्यूट्रिएंट्स हैं इसमें शामिल?

100 ग्राम नारंगा में आपको इतने विटामिन और मिनरल्स होते हैं जो शरीर को बहुत ही अच्छा रिस्पॉन्स दे सकते हैं। जैसे- 

50.41 Mg विटामिन सी

204 Mg पोटेशियम

15.7 Mg फॉस्फोरस

50.19 Cal एनर्जी

53.21 Mg ओमेगा-3 फैट्स

12.18 ग्राम कार्ब्स

18.76 Mg कैल्शियम

0.43 ग्राम फैट 

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि अपनी डाइट में नारंगा को शामिल करने के क्या फायदे हो सकते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।