प्राचीन काल से ही तांबा पहला ऐसा तत्व था जिसकी खोज मनुष्य ने की थी। ताम्रपाषाण काल, जिसे ताम्र युग के रूप में भी जाना जाता है, के दौरान मनुष्य ने पत्थरों को औजार के रूप में इस्तेमाल कर इसे तांबे से बदल दिया। प्राचीन सभ्यताओं जैसे प्राचीन मिस्र, रोम, ग्रीस, सोमालिया से लेकर घरेलू सामान तक तांबे का इस्तेमाल अलग-अलग तरीकों से किया जाता था। धीरे -धीरे आयुर्वेदिक और स्वदेशी दवाओं के उपयोग में वृद्धि के परिणामस्वरूप तांबा घरेलू वस्तुओं में अधिक लोकप्रिय हो गया, विशेष रूप से तांबे के बर्तन, पानी पीने के गिलास और कप। वास्तव में ताम्बे से बानी सामग्रियां जितनी दिखने में अच्छी लगती हैं उससे ज्यादा इन बर्तनों में खाना खाने के फायदे हैं।

वास्तव में तांबा एक ऐसी धातु है जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। आइए सेलिब्रिटी इंटरनेशनल डाइटीशियन और न्यूट्रिशनिष्ट शिखा ए शर्मा से जानें तांबे के बर्तनों में खाना खाने के फायदों के बारे में और हमें इसमें भोजन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाए

copper utensils health diet

तांबा एक ऐसी पोषण प्रदान करने वाली धातु है जिसकी शरीर को भारी मात्रा में जरूरत होती है। यह लोहे के साथ मिलकर शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं को आकार देने में मदद करती है। जब हम  तांबे के बर्तनों में भोजन करते हैं तो ये शरीर के आयरन तत्वों के साथ मिलकर शरीर की लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद करती है। यह धातु स्वस्थ हड्डियों, रक्त वाहिकाओं, नसों और प्रतिरक्षा प्रणाली के रखरखाव के साथ-साथ लोहे के अवशोषण में सहायता करती है। तांबा लाल रक्त कोशिकाओं और संयोजी ऊतक के निर्माण के लिए आवश्यक तत्व है और कोलेजन उत्पादन में एक महत्वपूर्ण मिनरल की तरह काम करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips:जानें पीतल के बर्तनों में खाना पकाने के सेहत के लिए फायदे

हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभदायक 

शरीर में तांबे की कमी उच्च कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप के स्तर से संबंधित है। रिसर्च के अनुसार, हृदय की बीमारियों से ग्रसित कुछ लोगों को तांबे के बर्तनों में भोजन करने से कई तरह की ह्रदय संबंधी बीमारियों से राहत मिल सकती है। यह भले ही ह्रदय रोगियों के लिए औषधि न हो लेकिन इसका इस्तेमाल ह्रदय की बीमारी के खतरे को कम करने में मदद करता है। 

वजन घटाने में मदद करे !

copper for weight control 

तांबा एक अग्नि धातु है, जिसका अर्थ है कि यह गर्म होती है। एक शोध विशेषज्ञ के अनुसार, यह आपके शरीर में अप्रत्यक्ष रूप से चयापचय की दर को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। वजन घटाने का संबंध मेटाबॉलिज्म से है और तेज मेटाबॉलिज्म आपको वजन कम करने में मदद करता है। नतीजतन, तांबा वजन घटाने में मदद कर सकता है। जब आप तांबे के बर्तनों में भोजन करती हैं तो यह आपके शरीर के मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करने में मदद करता है और वजन कम करने का कारण बनता है। 

पेट की समस्याओं को ठीक करता है

तांबे में जीवाणुरोधी गुण होते हैं और यह पेट में सूजन को कम करता है, जिससे यह अल्सर, अपच और संक्रमण के लिए एक उत्कृष्ट उपचार बन जाता है। यही नहीं तांबे के बर्तनों में बनाया और खाया गया भोजन शरीर की पाचन क्रिया को भी दुरुस्त बनाने में मदद करता है। तांबा पेट की सफाई और शरीर को डिटॉक्स करने और शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। 

Recommended Video

एजिंग के संकेतों को कम करता है 

डाइट एक्सपर्ट शिखा ए शर्मा बताती हैं कि जब हम ताम्बे के बर्तनों में भोजन करते हैं तब ये त्वचा को भी कई प्रकार के लाभ प्रदान करता है। ऐसे भोजन से त्वचा की एजिंग की समस्या कम हो जाती है और ये बढ़ती उम्र को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा इस तरह का भोजन करने से त्वचा के मुहांसों के भी काफी हद तक राहत मिलती है। रात भर तांबे के बर्तन में पानी भरकर रखने और सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करने से खून साफ़ होता है और त्वचा में ग्लो आता है। 

इसे जरूर पढ़ें:अगर बहुत बढ़ा हुआ है मोटापा तो कैसे करें दूध का इस्तेमाल, एक्सपर्ट से जानें टिप्स

copper utensils helath benefits by shikha a sharma

इन बातों का रखें ध्यान 

  • हालांकि तांबे के बर्तनों में खाना खाना सेहत के लिए लाभदायक है लेकिन हमें इस तरह के बर्तनों में खाना खाने और पकाने से पहले ध्यान में रखना है कि इसमें किसी भी तरह के डेयरी प्रोडक्ट जैसे दूध, दही, पनीर आदि का सेवन नहीं करना चाहिए ,यह शरीर में कई बुरे प्रभाव डाल सकता है। 
  • तांबे के बर्तनों में नमक की कोई भी खाद्य सामग्री नहीं पकानी चाहिए क्योंकि आयोडीन तांबे के साथ रियेक्ट करके हानिकारक प्रभाव दे सकता है। 

इन सभी बातों को ध्यान में रखकर यदि आप तांबे के बर्तनों में खाना बनाती और खाती हैं तो ये आप शरीर के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik and shutterstock