आयुर्वेद हमें शरीर को लेकर कई सारी बातें बताता है। क्या खाना चाहिए, कैसे रहना चाहिए, हमारी लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए, किस तरह से हमें अपने सोने-जागने का रूटीन तय करना चाहिए सब कुछ आयुर्वेद में लिखा हुआ है। कई चीज़ें ऐसी होती हैं जो बहुत गुणी होती हैं, लेकिन अगर उन्हें गलत तरह से किया जाए तो शरीर में काफी कुछ खराब होता चला जाता है। 

ऐसा ही एक लॉजिक है विरुद्ध आहार। आयुर्वेद में विरुद्ध आहार का मतलब उन चीज़ों से है जिन्हें एक साथ कभी नहीं खाना चाहिए। ये कॉम्बिनेशन शरीर में कई तरह की खराबियां लेकर आ जाता है। आयुर्वेदिक प्रैक्टीशनर डॉक्टर दीक्षा भावसार ने कुछ ऐसे ही आहार के बारे में बताया और हमने उनसे इस बारे में डिटेल्स जानने की कोशिश की। दीक्षा ने अपने इंस्टाग्राम चैनल पर भी इस बारे में लिखा है। 

दीक्षा के अनुसार विरुद्ध आहार का मतलब है उल्टा और ऐसे फूड कॉम्बिनेशन जिन्हें हम एक साथ नहीं खा सकते हैं उनसे हमें बचना चाहिए। उनमें शामिल हैं-

1. ऐसे खाने नहीं खाने चाहिए जिनमें विरुद्ध प्रॉपर्टीज हों (दूध और मछली)

2. ऐसे खाने एक साथ नहीं खाने चाहिए जो टिशूज पर अलग तरह से असर करते हों जैसे (दूध और फल)

3. किसी गलत तरह से खाए जाने पर शरीर में बुरा असर करते हैं (शहद जब गर्म कर दिया जाए तो)

4. गलत अनुपात में खाए जाने पर शरीर में गलत असर करते हैं (शुद्ध घी और शहद को एक ही अनुपात में खाया जाए तो)

5. अगर गलत समय पर खाया जाए तो शरीर में बुरा असर करता है (रात में दही खाना)

ayurvedic vishudh ahar

इसे जरूर पढ़ें- शरीर में हो रही है Vitamin D की कमी तो ये नेचुरल चीज़ें करेंगी पूरा, जानें एक्सपर्ट टिप्स 

किन चीज़ों को एक साथ खाने में हो सकती है शरीर में दिक्कत?

अगर आप इनमें से कोई चीज़ एक साथ खा रहे हैं तो शरीर में दिक्कत हो सकती है-

1. दूध और मछली-

जैसा कि ऊपर बताया गया है ये दोनों अलग तरह के टेम्प्रेचर के होते हैं। ये एक साथ काम नहीं करते। दूध ठंडा होता है और मछली गर्म होती है और ये दोनों एक साथ मिलाकर या एक के बाद एक खाने पर शरीर में कई परेशानियां होने लगती हैं। ये खून के बहाव पर भी असर डालता है और इससे गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं। नमक और दूध को भी एक साथ नहीं खाना चाहिए क्योंकि इनमें भी विरोधी गुण होते हैं। अगर आप ये गलती करते आए हैं तो अब इसे न करें। 

2. केला और दूध से बनी चीज़ें

अक्सर लोग दूध और केला एक साथ खाते हैं, लेकिन डॉक्टर दीक्षा के मुताबिक दूध और दूध से बनी किसी भी चीज़ जैसे दही, छाछ आदि के साथ केला नहीं खाना चाहिए क्योंकि ये पाचन शक्ति को खराब कर देता है और शरीर में टॉक्सिन बनाता है। इस कॉम्बिनेशन को खाने से सर्दी, कफ और एलर्जी आदि हो जाती हैं। शरीर में अगर वात और कफ की समस्या है तो बनाना शेक से दूर ही रहें।  

3. दही को रात में खाना 

दही या चीज़, पनीर आदि वैसे तो आप सर्दियों में भी खा सकते हैं, लेकिन आपको ये रात में नहीं खाना चाहिए। आयुर्वेदिक चक्र संहिता के सूत्र 225-227 में ये कहा गया है कि दही को शरद ऋतु, गर्मियों और वसंत में त्याग दिया जाना चाहिए।  

अगर आप इसे खा भी रहे हैं तो इसे दोपहर के खाने में खाएं जब आपका डाइजेशन सबसे अच्छा होता है। दही से सूजन और पित्त और कफ भी बढ़ सकता है। चीज़ को पचने में बहुत समय लग सकता है और ये खराब डाइजेशन वाले लोगों को कब्ज भी दे सकता है। जिन लोगों का डाइजेशन ठीक नहीं होता उन्हें चीज़ और योगर्ट किसी भी सीजन में नहीं खाना चाहिए।  

ahar and vishuddha

4. शहद को गर्म कभी न करें 

गुनगुने पानी में शहद पीने की आदत अगर आपकी भी है तो थोड़ा सावधान हो जाएं। अगर शहद को गर्म किया जाए तो ये उसकी डाइजेस्टिव प्रॉपर्टीज को खत्म कर देता है। इससे शरीर में कई टॉक्सिन्स भी बनते हैं और इसलिए इसे कभी भी गर्म करके नहीं खाना चाहिए।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Dr Dixa Bhavsar (@drdixa_healingsouls)

 

इसे जरूर पढ़ें- मेनोपॉज के पहले कैसी होनी चाहिए डाइट, 40-50 साल की महिलाओं के लिए ये है डाइट प्लान 

5. घी और शहद को एक बराबर मात्रा में न खाएं 

अगर आप शहद और घी को एक ही बराबर मात्रा में खाते हैं तो ये शरीर में कई तरह की मुश्किलें पैदा कर देता है। शहद में गर्म, सूखा, खुरचने जैसा रिएक्शन होता है और घी में ठंडी, मॉइस्चराइजिंग गुणवत्ता होती है। ऐसे में अगर दोनों चीज़ें एक मात्रा में मिलाकर खाई जाएं तो ये शरीर के पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकती हैं। किसी एक को दूसरे से ज्यादा खाएं तो ही बेहतर होगा।  

तो कोशिश करें कि इस तरह के फूड आइटम्स एक साथ न खाएं और उन्हें गलत समय पर भी न खाएं। अगर आप इन चीज़ों का ध्यान रखेंगे तो जलन, सूजन, स्किन की समस्याएं, ऑटो इम्यून डिजीज जैसी समस्याएं नहीं होंगी।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।