एंग्जाइटी हमारे लिए एक बहुत बड़ी समस्या बन सकती है। हमारा दिमाग किसी तरह की सोच में डूब जाता है और इसके कारण हमें चिंता, घबराहट, डिप्रेशन और मानसिक तनाव जैसी समस्याएं हो जाती हैं। ये किसी एक इंसान की नहीं बल्कि लाखों लोगों की समस्या है और हर इंसान के साथ लक्षण अलग हो सकते हैं। एंग्जाइटी की समस्या आपको बहुत ज्यादा परेशानी में भी डाल सकती है और आप बिना किसी कारण भी हमेशा स्ट्रेस में रह सकते हैं। 

ये समस्या क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट के जरिए हल हो सकती है और ये सालों तक किसी इंसान को परेशान कर सकती है। ऐसे समय में आपको ये समझने की जरूरत है कि अगर आप इस परेशानी को ऐसे ही छोड़ देते हैं तो ये आपको ज्यादा इफेक्ट कर सकती है। 

वैसे तो इसका हल किसी एक्सपर्ट के जरिए ही निकालना चाहिए, लेकिन अवॉर्ड विनिंग न्यूट्रिशनिस्ट लवनीत बत्रा के मुताबिक कुछ फूड्स ऐसे भी हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं। लवनीत बत्रा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इससे जुड़ी जानकारी शेयर की है और ये बताने की कोशिश की है कि किस तरह के फूड्स एंग्जाइटी के दौर में फायदेमंद हो सकते हैं। 

ये ऐसे फूड्स हैं जो दिमाग को सही तरह से फंक्शन करने में मदद कर सकते हैं। ऐसा इन फूड्स की ब्रेन बूस्टिंग कैपेसिटी के कारण होता है। जिन फूड्स के बारे में डॉक्टर बत्रा ने जिक्र किया है वो ये हैं-

1. ओमेगा-3 से भरपूर फूड्स-

रिसर्च कहती है कि ओमेगा-3 से भरपूर फूड्स ना सिर्फ सूजन और जलन को कम कर सकते हैं बल्कि एंग्जाइटी के लिए भी अच्छे हो सकते हैं। घी जैसे फूड्स ओमेगा-3 से भरपूर होते हैं और आपको कम से कम 1 छोटा चम्मच घी तो अपनी डाइट में रोजाना शामिल ही करना चाहिए। ये आपके शारीरिक और मानिस विकास के लिए मददगार साबित हो सकता है। 

anxiety and foods

इसे जरूर पढ़ें- छोटी-छोटी बात पर भी होती है घबराहट और आता है गुस्सा तो जानें एक्सपर्ट की राय

2. ट्राइप्टोफेन (Tryptophan) से जुड़े फूड्स-

ऐसे फूड्स जिसमें प्रोबायोटिक्स और ट्राइप्टोफैन नामक कंपाउंड होता है वो आपकी एंग्जाइटी को कम करने में मदद कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर घर पर बनाया हुआ दही जिसमें प्रोबायोटिक्स भरे हुए हैं वो आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। ये ना सिर्फ आपके पेट में फ्रेंडली बैक्टीरिया को पैदा कर सकता है बल्कि ये आपकी पाचन प्रक्रिया को भी बेहतर बना सकता है। ये एंग्जाइटी और स्ट्रेस को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। 

3. मैग्नीशियम और पोटेशियम से भरपूर फूड्स-

केला और कद्दू के बीज दो ऐसे फूड्स हैं जो पोटेशियम और मैग्नीशियम का भरपूर सोर्स हैं। ये आपके इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को रेगुलेट करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, ये आपका ब्लड प्रेशर भी मैनेज कर सकता है। इस तरह के फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करने से स्ट्रेस और एंग्जाइटी कम होती है। 

आपको अपनी डाइट में ऐसे फूड्स जरूर शामिल करने चाहिए जो पोटेशियम और मैग्नीशियम से भरपूर हों।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Lovneet Batra (@lovneetb)

 

4. विटामिन-डी 

अगर आपके शरीर में विटामिन-डी की कमी है तो आपको मूड से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। आपको डिप्रेशन, एंग्जाइटी और अन्य कई समस्याएं होंगी। ये सबसे बेस्ट तरह का विटामिन है जिसे आप ले सकते हैं। विटामिन-डी सनलाइट विटामिन है और आप सुबह की धूप में 10-15 मिनट बैठेंगे तो भी ये आपके लिए फायदेमंद होगा। 

 

इसे जरूर पढ़ें- अगर आपको भी है ज्यादा सोचने और गुस्सा करने की आदत तो इस तरह से उसे करें कम 

5. किशमिश- 

आप एंग्जाइटी को कम करने के लिए केसर के 4-5 स्ट्रैंड्स और किशमिश को एक साथ भिगो दें। इसके बाद रात में सोने से पहले इसे खाएं।  

वैसे तो ये फूड्स आपकी मदद कर सकते हैं, लेकिन हमेशा डाइट से जुड़ा कोई भी बदलाव करने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। ये फूड्स आपको बिल्कुल  एंग्जाइटी से निजात नहीं दिला सकते हैं बल्कि ये आपके शरीर में हैप्पी हार्मोन्स का संतुलन बढ़ा सकते हैं और इसलिए ये एंग्जाइटी को कम कर सकते हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।