अच्छा! अगर आपसे यह सवाल किया जाए कि आयुर्वेद के अनुसार बच्चों को खाने में क्या देना चाहिए और क्या नहीं देना चाहिए तो फिर आपका जवाब क्या हो सकता है? शायद, कुछ देर विचार करने के बाद भी इसका कोई सटीक जवाब नहीं दें सके। लेकिन, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कुछ ऐसे फूड्स हैं, जिन्हें आयुर्वेद के अनुसार बच्चों को खाने से रोकना चाहिए। आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें बच्चों को खाने के लिए देना भी चाहिए और कुछ भोजन को खाने से रोकना भी चाहिए, तो आइए जानते हैं।

गर्म शहद न दें

eating rules for children as per ayurveda inside

बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी शहद प्राचीन काल से एक औषधि का काम करता रहा है। खासकर सर्दी के मौसम में बच्चों को सर्दी-जुकाम से दूर रखने के लिए हर कोई अपने बच्चे को सेवन करने के लिए देते हैं। लेकिन, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शहद को कभी भी गर्म करके बच्चों को खाने के लिए नहीं देना चाहिए। आयुर्वेद के कई जानकार ये भी मानते हैं कि बड़ों को भी शहद को गर्म करके सेवन नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: 2022 में खुद को स्‍वस्‍थ रखने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्‍खे

ऑयली फूड्स देने से बचें

eating rules for children as per ayurveda inside

तला हुआ भोजन बच्चे खूब खाना पसंद करते हैं। खासकर, जब घर पर रहते हैं तो मां से जिद्द ज़रूर करते हैं कि कुछ फ्राई करके खाने के लिए दें दीजिए। लेकिन, आयुर्वेद के अनुसार बच्चों को अधिक तला हुआ भोजन देने से बचाना चाहिए। क्योंकि, बड़ों के मुकाबले बच्चों का पाचन तंत्र बहुत कमज़ोर होता है। ऐसे में अगर वो इसका अधिक सेवन करते हैं, तो पेट ख़राब होने का भी डर रहता है। इसकी जगह आप कुछ अन्य हेल्दी भोजन को बनाकर दें सकती हैं।

Recommended Video

मौसमी सब्जी खाने के लिए दीजिए 

eating rules for children as per ayurveda inside

मौसमी सब्जी खाने का नियम सिर्फ बच्चों पर ही लागू नहीं होता है बल्कि बड़ों पर भी लागू होता है। आयुर्वेद के अनुसार गाजर, पालक, ग्रीन बीन्स, चुकंदर, भिड़ी को भोजन में शामिल कर सकती हैं। इसके अलावा पत्ता गोभी, शमिल मिर्च, हरा मटर आदि मौसमी सब्जियों को भी भोजन में शामिल कर सकती हैं। हालांकि, इन सब्जियों को बनाते मसय मसाला का कम इस्तेमाल करना भी बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। सब्जी के साथ मूंग दाल, मसूर दाल आदि दाल भी खाने में ज़रूर शामिल करें। 

इसे भी पढ़ें: एक्सपर्ट टिप्स: कहीं आप भी तो नहीं करती हैं इन फूड्स और ड्रिंक्स का सेवन? सेहत के लिए हैं नुकसानदेह

इन फूड्स को भी करें भोजन में शामिल 

eating rules for children as per ayurveda inside

ऐसे कई फल है जिन्हें बच्चों को खाने के लिए ज़रूर देना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार बच्चों को सेव, अनार, एवोकाडो और पपीता आदि फल खाने के लिएज़रूर देना चाहिए। नट्स में बादाम, काजू, अखरोट आदि ज़रूर देना चाहिए। इसके अलावा नियमित समय पर दूध भी ज़रूर देना चाहिए। (गुड फैट्स बॉडी के लिए क्यों हैं आवश्यक?) अगर बच्चे नॉववेज खाते हैं तो सप्ताह में एक से दो बार अंडा, चिकन और मछली भी खाने के लिए ज़रूर देना चाहिए।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:freepik