दालचीनी को यूं तो हम मसालों की रानी के नाम से जानते हैं और हमारे किचन में खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए इसका भरपूर इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन ये बात कम ही लोगों को मालूम है कि दालचीनी खाने को टेस्टी बनाने के साथ-साथ कई तरह की बीमारियों से लड़ने और उनसे बचाने में भी काफी उपयोगी है। भारत में हुई एक मेडिकल रिसर्च में ये साबित हुआ कि दालचीनी के रोजाना सेवन से हम मोटापा, मधुमेह, ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी, कैंसर और मासिक धर्म से जुड़ी कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स से बच सकते हैं और साथ ही साथ अपने शरीर को बिना एक्सरसाइज फिट रख सकते हैं।

यूं तो दालचीनी का इस्तेमाल खानपान में कई रूपों में किया जा सकता है लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आप दालचीनी को अपने रोज़मर्रा के जीवन में आसानी से बिना मशक्कत शामिल कर सकते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं 'दालचीनी की चाय' की। इससे पहले की हम आपको दालचीनी की चाय बनाने की विधि बताएं, आपके लिए ये जान लेना बेहद फायदेमंद होगा कि दालचीनी की चाय के नियमित सेवन से आपको कौन-कौन से हेल्थ बेनिफिट्स मिल सकते हैं और इसके औषधीय गुण आपको किन-किन बीमारियों से बचा सकते हैं-

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर

cinnamon tea benefits for immunity 

दालचीनी में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं, जो हमारी सेहत के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। दरअसल एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में होने वाली ऑक्सीडेशन की प्रक्रिया को रोकने में मदद करते हैं, जो हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियों को जन्म देता है। यानि दालचीनी चाय के नियमित सेवन से हम अपने शरीर की इम्यूनिटी बढ़ा सकते हैं और अपने शरीर को बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार कर सकते हैं।  

मोटापे की समस्या से लड़ने में उपयोगी

cinnamon tea benefits for weight loss 

अगर आप मोटापे की समस्या से जूझ रही हैं या फिर वजन नियंत्रित रखना चाहती हैं तो समझिए कि दालचीनी की चाय आपके लिए किसी रामबाण से कम नहीं है। दिल्ली में रहने वाले कुछ लोगों पर हुए एक शोध में पता चला कि महज एक महीने तक दालचीनी के नियमित सेवन से लोगों का ना केवल वजन घट गया, बल्कि बढ़ा हुआ पेट भी कम हो गया। साथ ही साथ उनके बॉडी मास इंडेक्स यानि बीएमआई में भी काफी सुधार आ गया। यानि अगर आपको नियमित एक्सरसाइज करने का समय नहीं मिलता तो भी आप दालचीनी की चाय पीकर बिना मशक्कत अपना वजन घटा सकती हैं। 

दिल की बीमारियों से लड़ने में मददगार 

cinnamon tea benefits for healthy heart

रिसर्च में ये भी पता चला है कि सही मात्रा में दालचीनीके सेवन से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल का स्तर कम होता है और गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल का स्तर बढ़ता है। अगर आप दिल के मरीज़ हैं या आप पर इसका खतरा मंडरा रहा है तो फौरन अपनी डेली रूटीन में दालचीनी की चाय को शामिल कर लीजिए और दिल की बीमारियों के खतरा टाल दीजिए। 

इसे जरूर पढ़ें: किचन गार्डन में मुफ्त में उगाएं 1000 रुपये किलो बिकने वाली दालचीनी

ब्लड प्रेशर और शुगर से बचाता है

cinnamon tea benefits blood sugar 

दालचीनी मेटाबॉलिक सिंड्रोम की बीमारियों मसलन ब्लड प्रेशर और शुगर यानि मधुमेह से लड़ने में भी काफी कारगर पाई गई है। इसके नियमित सेवन से ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहता है और इंसुलिन रेसिस्टेंस पर भी असर पड़ता है। यानि अगर आप मधुमेह (शुगर) से पीड़ित हैं या फिर आपका ब्लड शुगर खतरे के स्तर तक पहुंच गया है तो आपके लिए दालचीनी की चाय का सेवन एक जीवन रक्षक कदम साबित हो सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें: अगर पीठ के एक्ने के कारण नहीं पा रही हैं बैकलेस ड्रेस तो दालचीनी का करें इस्तेमाल

Recommended Video

ये फायदे भी मिलेंगे 

दालचीनी की चाय के सेवन से आपको कई और फायदे हो सकते हैं मसलन आपको पीरियड्स से जुड़ी प्रॉब्लम्स में राहत मिल सकती है, स्किन एजिंग की समस्या में भी फायदा मिल सकता है। साथ ही साथ इसका सेवन कैंसर, अल्जाइमर और एचआईवी जैसी ख़तरनाक बीमारियों के खतरे से भी बचाता है। यानि महज दालचीनी की चाय का सेवन शुरू करके आप खुद को ना केवल कई बीमारियों से लड़ने के लिए तैयार कर सकती हैं, बल्कि एक सेहतमंद जिंदगी भी जी सकती हैं। 

दालचीनी की चाय बनाने की विधि 

अब बड़ा सवाल ये है कि ऐसी गुणकारी दालचीनी की चाय बनाएं कैसे? तो आपको जानकर खुशी होगी कि दालचीनी की चाय बनाना ना केवल बेहद सरल है बल्कि आप अपनी पसंद और स्वाद के हिसाब से इसका सेवन गरम और ठंडे दोनों ही रूपों यानि हॉट टी या आइस टी के तौर पर कर सकती हैं। 

आप दालचीनी की चाय इसके पाउडर या इसकी छाल दोनों से ही बना सकती हैं, लेकिन इसकी मात्रा का ध्यान रखना बेहद अहम होगा। आम तौर पर एक कप चाय में 2.6 ग्राम यानि एक टी स्पून दालचीनी पाउडर का इस्तेमाल उचित रहेगा। अगर आपके पास पाउडर ना हो तो आप इसकी एक छाल पानी में 10-15 मिनट तक उबालकर पी सकती हैं। ठंडे पानी में भी इसे घोलकर इसका इस्तेमाल आइस टी के तौर पर किया जा सकता है। चूंकि इसमें कैफीन नहीं होता तो इसका उपयोग दिन में किसी भी वक्त किया जा सकता है। हालांकि माना जाता है कि खाने के साथ दालचीनी की चाय का सेवन ज्यादा लाभकारी होता है। अगर आपको चाय की लत है तो एक बार ये चाय ट्राई करना ना भूलें। दालचीनी की चाय आपका स्वाद तो बदलेगी ही आपकी सेहत भी बेहतर बना देगी।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट 

डाइटीशियन शिखा महाजन बताती हैं, 'दालचीनी में कई तरह के औषधीय तत्व होते हैं। इसमें एंटी ऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं। टाइप 2 डायबिटीज और इंसुलिन रेसिस्टेंस जैसी कई दूसरी हेल्थ प्रॉब्लम्स में भी इसका सेवन लाभदायक है।'

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसके लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।