• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

मां बनने का सपना अब होगा पूरा, प्रजनन क्षमता बढ़ा सकती हैं ये 5 जड़ी-बूटियां

प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले इन जड़ी-बूटियों को अपनी डाइट में शामिल करके आपका भी मां बनने का सपना पूरा हो सकता है। 
author-profile
Published -16 Jun 2022, 15:41 ISTUpdated -17 Jun 2022, 10:40 IST
Next
Article
herbs for fertility by expert

आयुर्वेद प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करता है। पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता इन दिनों कई कारकों से प्रभावित हो रही है, जैसे तनाव, प्रदूषण, अनुचित आहार और गतिहीन जीवन शैली। शरीर को विषाक्त पदार्थों से शुद्ध करना और इसे इष्टतम पोषक तत्वों के साथ पोषण देना महत्वपूर्ण है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि मन और शरीर प्रजनन के लिए आदर्श स्थिति में हैं।

कई सामाजिक, मानसिक और शारीरिक कारणों से सात जोड़ों में से एक को सालों की कोशिशों के बावजूद गर्भधारण करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है। लगभग 25% मामलों में अस्पष्टीकृत इनफर्टिलिटी भी हो सकता है, जहां पुरुष और महिला दोनों में कोई पहचान योग्य कारण नहीं है। पूरी दुनिया में, प्रजनन दर और जनसंख्या वृद्धि दर में लगातार गिरावट आ रही है, खासकर विकसित देशों में। 

आईवीएफ जैसी तनावपूर्ण और महंगी सहायक प्रजनन विधियों पर निर्भर जोड़ों की संख्या भी उसी अनुपात में बढ़ रही है। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि इनफर्टिलिटी और स्वास्थ्य के लिए एक समग्र समाधान विकसित करने में मदद के लिए आयुर्वेदिक विज्ञान आपकी मदद कर सकता है। 

आयुर्वेद के अनुसार गर्भधारण की प्रक्रिया में जिन कारकों का प्रमुख महत्व है, वे सिर्फ हेल्‍दी स्‍पर्म और डिंब नहीं हैं। चयापचय क्रिया, हार्मोनल संतुलन और मानसिक/भावनात्मक स्वास्थ्य और इन कारकों और स्वस्थ स्‍पर्म/ डिंब के बीच परस्पर संबंध पर समान या शायद अधिक जोर दिया जाता है। प्रजनन क्षमता बढ़ाने में कुछ जड़ी-बूटियां आपकी मदद कर सकती हैं। इस बारे में विस्‍तार से हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट निति सेठ जी बता रही हैं। उन्‍होंने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम पोस्‍ट शेयर करके कैप्‍शन में इन जड़ी-बूटियां के बारे में बताया है।  

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Niti Sheth (@_nitisheth_)

निति सेठ के अनुसार, 'आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का मतलब वन-साइज-फिट्स-ऑल फॉर्मूला नहीं है। यह समझने और पता लगाने के लिए कि कि आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी कैसे लें? आपके लिए सबसे अच्छी खुराक क्या है और आपको इसे कैसे लेना चाहिए, किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक या डॉक्टर से संपर्क करना सबसे अच्छा रहता है।'

इसे जरूर पढ़ें:fertility को बूस्‍ट करने के लिए अपनाएं ये टिप्‍स

चेस्ट ट्री बेरी (Chaste Tree Berry)

महिला हार्मोन और चक्रों का समर्थन करने के लिए चेस्ट ट्री बेरी लें। चेस्ट बेरी कई वर्षों तक ओरल गर्भनिरोधक गोलियां लेने और निम्न एलएच स्तरों में सुधार करने के बाद, एक महिला के पीरियड्स को बहाल करने में विशेष रूप से प्रभावी है। प्रजनन क्षमता को प्रभावित करने वाले ओवुलेटरी कारकों में सुधार के लिए आवश्यक शुद्ध बेरी की दैनिक खुराक 1 से 4 एमएल टिंचर या 500 से 1000 मिलीग्राम ड्राई बेरीज लेने की सलाह दी जाती है।

शतावरी (Shatavari)

Shatavari

लिबिडो बढ़ाने के लिए शतावरी लें। शतावरी, शुद्ध जड़ी बूटी का अर्क है जो कामोद्दीपक के रूप में जाना जाता है। यह गर्भाधान की संभावना में सुधार कर सकता है। ऐसा कहा जाता है कि यह ओव्यूलेशन में मदद करता है और किसी भी हार्मोनल असंतुलन को भी ठीक करता है। यह महिला प्रजनन अंगों को भी टोन और पोषण देता है।

गोक्षुरा (Gokshura)

लिबिडो बढ़ाने और ओव्यूलेशन को सामान्य करने के लिए गोक्षुरा का सेवन किया जाता है। गोक्षुरा को एक शक्तिशाली कामोद्दीपक माना जाता है और यह पुरुषों में यौन इच्छा को बढ़ा सकता है। गोक्षुरा में मौजूद एक्टिव फाइटोकेमिकल्स टेस्टोस्टेरोन के लेवल के साथ-साथ स्‍पर्म की समग्र गुणवत्ता और मात्रा में सुधार करते हैं।

अश्वगंधा (Ashwagandha)

Ashwagandha

अश्वगंधा को महिलाओं में गर्भाशय टॉनिक के रूप में जाना जाता है और यह स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन, स्‍पर्म की संख्या और गतिशीलता का समर्थन करता है। अश्वगंधा तनाव और इनफर्टिलिटी के लिए एक प्रभावी हर्बल उपचार है। यह पूरे शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है और स्वाभाविक रूप से स्‍पर्म की गुणवत्ता को बढ़ाता है। अश्वगंधा का सेवन स्‍पर्म समस्याओं को ठीक करने के अलावा व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है।

इसे जरूर पढ़ें: बनना चाहती हैं मां तो फर्टिलिटी बढ़ाने वाले ये 3 फूड्स करें डाइट में शामिल

Recommended Video

मैका रूट (Maca Root)

वीर्य की मात्रा, स्‍पर्म की संख्या और गतिशीलता बढ़ाने में मैका रूट मदद करता है। ऐसे अध्ययन हुए हैं जो बताते हैं कि मैका स्‍पर्म की संख्या में सुधार करने में मदद कर सकता है, जो बदले में पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ा सकता है। महिलाओं के लिए, यह उनके चक्रों को विनियमित करने में मदद कर सकता है, जिससे उनकी प्रजनन क्षमता में सुधार होता है। मैका रूट कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, जिंक, आयरन और फॉस्फोरस जैसे मिनरल्‍स से भरपूर होता है। 

लेकिन, इनमें से कोई भी जड़ी-बूटियों को लेने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Shutterstock & Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।