शरीर में हार्मोनल स्‍तर कई मायनों में पूरे शरीर के स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करता है। खासतौर पर हार्मोनल स्‍तर  महिलाओं के मासिक चक्र को प्रभावित करने का जिम्‍मेदार होता है। इससे महिलाओं का मूड, त्‍वचा, सेक्‍शुअल इच्‍छाएं और शरीर का स्‍वास्‍थ्‍य भी निर्भर करता है। शोधकर्ताओं ने हार्मोन और प्रजनन क्षमता के बीच संबंध होने का भी दावा किया है। हार्मोनल असंतुलन महिलाओं में बांझपन का प्रमुख कारण होता है। हालाकि, अधिकांश मामलों में इसे जीवनशैली में सुधार और दवाओं से ठीक किया जा सकता है क्‍योंकि हेल्‍दी हार्मोन के स्‍तर को बरकरार रखना मुश्किल होता है। 

हार्मोन प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करते हैं?

एलएच, एफएसएच, एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन, एण्ड्रोजन जैसे हार्मोन महिला प्रजनन में प्रत्यक्ष भूमिका निभाते हैं। ये हार्मोन अंडाशय को हर महीने अंडा रिलीज करने के लिए संकेत और नियंत्रित करने का काम करते हैं। साथ ही साथ ये हार्मोन एंडोमेट्रियल प्रोलिफेरेशन को नवगठित भ्रूण की ग्रोथ के लिए को एक स्‍थान बनाने का संकेत भेजते हैं। इन हार्मोंस में यदि असंतुलन होता है तो यह सामान्‍य प्रजनन चक्र में हस्‍तक्षेप कर सकता है। साथ ही बांझपन का कारण भी बन सकता है। 

थायराइड (टीएसएच, टी 3, टी 4) और प्रोलैक्टिन जैसे कुछ हार्मोन भी अप्रत्यक्ष रूप से प्रजनन क्षमता से जुड़े होते हैं।

Hormonal imbalance symptoms

हार्मोनल बांझपन के सामान्य कारण:

1. पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (पीसीओएस)

2. थायराइड असामान्यता (हार्मोन में वृद्धि या कमी)

3. हाइपरप्रोलैक्टिनीमिया

4. हाइपोथैलेमिक अमेनोरिया

5. समयपूर्व डिम्बग्रंथि विफलता

हार्मोनल असंतुलन के लक्षण:

महिलाओं में सबसे आम लक्षण 

  • अनुपस्थित या अनियमित मासिक धर्म चक्र (पीरियड्स में देरी या लगातार पीरियड्स होना।)।
  • भारी या दर्दनाक मासिक धर्म।
  • चेहरे, गर्दन, छाती और पीठ पर बालों का बढ़ना।
  • बिना किसी कारण के अत्यधिक वजन बढ़ना या वजन का कम होना।

पुरुषों में उन हार्मोंस के असंतुलित होने की संभावना कम होती है जिससे बांझपन हो सकता है, लेकिन वे भी कुछ लक्षणों का अनुभव कर सकते हैं जैसे:

  • यौन इच्‍छा में कमी।
  • स्तंभन दोष (Erectile dysfunction)।
  • कम शुक्राणुओं की संख्या।
  • शरीर के बालों का कम विकास होना।
  • पतले बाल होना या बालों का झड़ना।
hormonal imbalance during pregn

मुझे कब सलाह लेनी चाहिए? 

यदि आपने सकारात्मक परिणामों के बिना एक वर्ष से अधिक समय तक गर्भवती होने की कोशिश की है, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप एक डॉक्टर से सलाह लें। बांझपन के इलाज में विस्तृत इतिहास और परीक्षण शामिल होतेे हैंं। इसके इलाज में हार्मोनल मूल्यांकन, पेल्विस का अल्ट्रासाउंड और पति के लिए वीर्य विश्लेषण आदि सबसे आम टेस्‍अ शामिल हैं।

मैं हार्मोनल असंतुलन को कैसे रोक सकती हूं? 

हार्मोन स्‍तर को संतुलित रखने के कई तरीके हैं। 

वहाँ हार्मोन के स्तर को गंभीर रूप से प्रभावित करते हैं:

  • व्यायाम करें। 
  • यह सुनिश्चित करके कि आप आहार में ओमेगा -3 फैटी भरपूर मात्रा में ले रही हैं। 
  • शुगर और शराब को कम करके अपनी जीवन शैली को बदलें।
  • अपने पार्टनर को धूम्रपान करने से रोकें। 
  • सुनिश्चित करें कि आप अच्छी नींद ले रही हैं या नहीं। 

Recommended Video

हार्मोनल बांझपन के लिए उपचार:

1. जीवनशैली में संशोधन

2. हार्मोन के स्तर को सही करने के लिए दवाएं

3. अंडे के विकास और ओव्यूलेशन को प्रेरित करने के लिए दवा

अत: हमारे शरीर में endocrine system प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस लिए तनाव मुक्त गर्भावस्था आपके अपने हाथों में है। आपको इसी दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। 

 संदर्भ

https://www.healthline.com/health/hormonal-imbalance

https://lomalindafertility.com/infertility/women/hormonal-imbalance/

https://ivfflorida.com/understanding-infertility/infertility-in-females/

 

विशेषज्ञ की सलाह के लिए डॉ.गरिमा शर्मा (FRM, M.S. OBGY, DNB OBGY) का विशेष धन्यवाद।