सर्दियों के मौसम में अलग तरह के अनाजों का सेवन सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। साबुत अनाजों को किसी न किसी रूप में डाइट में शामिल करने से स्वास्थ्य सम्बन्धी कई समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। इन अनाजों के आटे से बनी रोटियां भी फायदेमंद होती हैं। ऐसे ही साबुत अनाजों में से एक है ज्वार।

आप सभी ने ज्वार का किसी न किसी रूप में सेवन जरूर किया होगा। कभी इससे बने दलिया तो कभी इसके आटे से बनी रोटियां स्वाद में तो अच्छी लगती हैं सेहत के लिए भी फायदेमंद होती हैं। आइए आपको बताते हैं ज्वार के सेहत से जुड़े कुछ ऐसे फायदों के बारे में जो आपने पहले नहीं सुने होंगे।  

ग्लूटेन फ्री

guletin free jowar 

ग्लूटन एक प्रोटीन घटक है जो गेहूं और जौ-आधारित खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह पाचन समस्याओं जैसे कि सूजन, दर्द और पेट में ऐंठन का कारण बनता है। ज्वार एक गुलेटिन फ्री साबुत अनाज है पेट की कई समस्याओं से छुटकारा दिलाने के साथ वजन भी नियंत्रित करता है। इसे किसी न किसी रूप में अपने आहार में जरूर शामिल करें।  

इसे जरूर पढ़ें:उड़द दाल से मिलने वाले वाले इन लाभों को जानने के बाद आप भी करेंगी इसे डाइट में शामिल

फाइबर से भरपूर 

जौ या चावल जैसे अन्य अनाजों की तुलना में ज्वार में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर तत्व मौजूद होते हैं। उच्च फाइबर होने की वजह से इसके इस्तेमाल से वजन नियंत्रण के साथ स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह और पाचन सम्बन्धी समस्याओं का खतरा कम हो जाता है। 

ब्लड शुगर लेवल को कम करे

blood sugar 

ज्वार एक जटिल कार्बोहाइड्रेट है या धीरे-धीरे पचता है जिससे रक्त शर्करा में अधिक क्रमिक वृद्धि होती है। यही कारण है कि यह मधुमेह रोगियों और जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए एक बेहतर आहार विकल्प के रूप में काम करता है। ज्वार ब्लड शुगर के स्तर में काफी हद तक सुधार करता है। 

ह्रदय को स्वस्थ रखे 

ज्वर में मौजूद फाइबर की प्रचुर मात्रा शरीर में एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करती है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम हो जाता है। यह ह्रदय संबंधी अन्य समस्याओं से भी निजात दिलाता है। ज्वार शरीर में एचडीएल के स्तर में सुधार करते हुए प्लाज्मा एलडीएल कोलेस्ट्रॉल एकाग्रता को विनियमित करने में भी मदद करता है।

Recommended Video

प्रोटीन और आयरन से भरपूर 

एक कप ज्वार में 22 ग्राम प्रोटीन होता है, जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के साथ-साथ सेल पुनर्जनन में सहायक होता है। ज्वार के हर कप में 8.45 मिलीग्राम आयरन होता है। ज्वार का सेवन विटामिन सी युक्त खाद्य सामग्रियों के साथ करने से विशेष लाभ मिलता है।  

इसे जरूर पढ़ें:वेट लॉस के लिए बेस्‍ट है तुलसी और अजवाइन का पानी, रोजाना पीएं

हड्डियों को स्वस्थ रखे 

good for bones 

इसमें मैग्नीशियम का उच्च स्तर होता है, ज्वार शरीर में कैल्शियम के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। मैग्नीशियम तत्व कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करते हैं। ज्वार को आहार में शामिल करने से कमजोर हड्डियों की समस्या दूर होती है। यह हड्डियों की कई बीमारियों से निजात दिलाता है। 

खनिज और पोषक तत्वों से भरपूर 

इसमें विटामिन बी तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। जो शरीर को नए ऊतकों और कोशिकाओं, साथ ही पोटेशियम और फॉस्फोरस के निर्माण में मदद करते हैं। इसके अतिरिक्त, ज्वार में ज़िंक, तांबा और 20 से अधिक सूक्ष्म पोषक तत्वों के साथ-साथ एंटीऑक्सिडेंट्स के उच्च स्तर होते हैं।

वजन घटाए 

अन्य अनाजों की तुलना में ज्वार में आहार फाइबर की अधिक मात्रा होती है। फाइबर की मात्रा अधिक होने की वजह से इसके सेवन से पेट काफी देर तक भरा हुआ महसूस करता है और भूख का एहसास नहीं होता है। इसका सेवन दलिया या इसके आटे की रोटी के रूप में किया जा सकता है। 

पाचन तंत्र को सुचारु रखे 

good digestive system

ज्वार में मौजूद उच्च आहार फाइबर सामग्री पाचन में सुधार करने में मदद करती है। फाइबर एक ऐसा एजेंट है जो मल को पाचन तंत्र के माध्यम से आसानी से पारित करने में मदद करता है। इसके सेवन से कब्ज एवं पेट की अन्य समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। 

इसे जरूर पढ़ें:जुकीनी के कुछ ऐसे हेल्थ बेनिफिट्स जो आपने पहले नहीं सुने होंगे, डाइट में जरूर करें शामिल

विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर ज्वार हमारी सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है इसलिए इसे डाइट में जरूर शमिल करें , लेकिन स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्या होने पर इसके सेवन से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik