यूं तो हमारे पास नाश्‍ते के लिए बहुत सारे विकल्‍प मौजूद हैं लेकिन आज भी ज्‍यादातर लोग नाश्‍ते में पराठे खाना पसंद करते हैं। जी हां बच्‍चे हो या बड़े या फिर बुजुर्ग, नाश्‍ते में टेस्‍टी और क्रिस्‍पी पराठे खाना सभी की पहली पसंद होती है। हालांकि इसमें कुछ गलत भी नहीं है लेकिन सुबह के समय पराठे खाने से हम बहुत सारे पोषक तत्व पाने से वंचित हो जाते हैं। इसके अलावा पराठों में होने वाले ज्‍यादा मात्रा में घी के इस्‍तेमाल से वजन बढ़ने का डर भी बना रहता है। ऐसे में ज्‍यादातर महिलाओं के मन में परिवार की हेल्‍थ को लेकर यही सवाल आता है कि क्‍या किया जाए? अगर आपके मन में भी ऐसा ही कोई सवाल है तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्‍योंकि आज हम आपको परिवार के स्वाद के साथ उनकी हेल्‍थ का भी ख्याल रखते हुए पराठे बनाने के कुछ ऐसे हेल्दी टिप्स बता रहे हैं जो स्‍वाद के साथ हेल्‍थ का भी ख्‍याल रखेंगे।

आप सोच रही होंगी कि पराठे के लिए कई तरह की स्टफिंग जैसे आलू पराठा, पनीर पराठा, गोभी पराठा आदि का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। निश्चित रूप से यह अच्छे और हेल्‍दी विकल्प हैं लेकिन इन पराठों को थोड़ा ज्‍यादा हेल्‍दी बनाने के लिए आप और भी बहुत सारे टिप्‍स अपना सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: घर पर ऐसे बनाएं पालक का परांठा, जानिए ये आसान रेसिपी

healthy tasty paratha inside

आटा गूंथने के लिए हेल्‍दी सामग्री

घर में पनीर बनाने के बाद जो पानी बच जाता है, वह आपकी हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छा होता है और इसका पानी पराठे को गूंथने के काम आता है। इसके अलावा आप हंग कर्ड बनाने के बाद बचे हुए दही के पानी का इस्तेमाल पराठों के लिए कर सकती हैं। यह दोनों चीजें प्रोबायोटिक और अन्य पोषक तत्वों का एक अच्छा स्रोत मानी जाती हैं। साथ ही अगर आप पराठों के लिए आटा गूंथते समय पालक प्‍यूरी, मेथी की प्‍यूरी या अन्‍य चीजों आदि को मिलाती हैं तो पराठों के स्वाद के साथ उसमें पोषक तत्व भी बढ़ जाते हैं। इसके अलावा आप पराठे का आटा गूंथने के लिए दाल के पानी या उबली दाल का इस्‍तेमाल भी कर सकती हैं जो इन्‍हें हेल्‍दी, क्रिस्‍पी और टेस्‍टी बनाते हैं।

 

Recommended Video

स्टफिंग के लिए हेल्‍दी चीजें

पराठे की स्टफिंग करने के लिए आलू और पनीर के अलावा सोयाबीन, पनीर, कॉर्न्स, एवोकाडो, ब्रोकली, साबुत मूंग की दाल और सत्तू आदि का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह स्वाद में अच्छा होने के साथ सुपर हेल्दी भी होता है और इनकी स्‍टफिंग करने से पराठे बहुत ही क्रिस्‍पी बनते हैं। साथ ही इनकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि इससे पेट देर तक भरे होने का अहसास देता रहेगा।

healthy tasty paratha inside

हेल्‍दी बीजों को शामिल करें

पराठे की स्टफिंग करते समय उसमें अजवाइन, भुना जीरा, चिया सीड्स, कद्दू के बीज, सूरजमुखी के बीज और फ्लैक्‍ससीड्स आदि को मिलाया जा सकता है। यह सभी बीज पोषक तत्‍वों जैसे विटामिन्‍स और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं जो शरीर में इन तत्‍वों की कमी को पूरा करते हैं। सुबह नाश्‍ते में इसे खाने से आप पूरा दिन एनर्जी से भरपूर रहती हैं। 

गार्निश के लिए हेल्‍दी चीजें

तवे पर पराठे बनाते समय, धनिया पत्ती, पुदीना पत्ती, तुलसी के पत्ते, मिक्स्ड हर्ब्‍स के अलावा अपनी फेवरेट अजवाइन छिड़क सकती हैं। इन फ्रेश हर्ब्‍स का एक्‍स्‍ट्रा ज़िंग आपके पराठों के स्‍वाद को बेहतर बना सकते हैं। इसके अलावा इन हर्ब्‍स में मौजूद पोषक तत्‍वों से आप भरपूर फायदे पा सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: वजन बढ़ने के डर से नहीं खाती हैं चीनी का परांठा तो खाएं गुड़ का परांठा

healthy tasty paratha inside

अतिरिक्त नमी से छुटकारा पाएं

चाहे आलू हो, गोभी हो, ब्रोकली हो या कोई अन्य स्टफिंग, इनमें नमी की मात्रा को लेकर सावधानी बरतनी चाहिए। अगर आप नहीं चाहती हैं कि आपके पराठे सीले हुए बने या बनाते समय ही टूट जाएं तो इस बात का ध्‍यान रखें कि पानी पूरी तरह से सूख जाए। इसके अलावा, मिश्रण में किसी भी तरह की बड़ी गांठ नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा अगर आप पराठों को हेल्‍दी बनाने के साथ-साथ देसी स्‍वाद चाहती हैं तो बाजार के बटर की जगह घर के बने देसी घी का इसतेमाल करें। 

इन टिप्‍स का इस्‍तेमाल करके आप भी अपने पराठों को टेस्‍टी और हेल्‍दी बना सकती हैं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com