जब पूरा देश डिजिटल हो रहा हो, तो लाजमी है उस डिजिटल में सभी कम और कागजात भी डिजिटल होंगे। भारत में समय-समय पर हर चीज को ध्यान में रखते हुए उसका डिजिटल रूप जरूर बनाया गया है। इसी डिजिटल के कतार में भारत का पासपोर्ट भी है। हाल में ही कागजी पासपोर्ट को और अधिक आधुनिक बनाने के लिए अब ई-पासपोर्ट को लाया जा रहा है। ई-पासपोर्ट को ध्यान में रखते हुए, भारत के नए विदेश मंत्री, एस जयशंकर ने ई-पासपोर्ट के लाने की घोषणा की है। और रिपोर्टों के अनुसार, इसे दिसम्बर से जनवरी के बिच से ही लागू किया जाएगा।

इसे भी पढ़े: Year Ender 2019: न्यू ईयर सेलिब्रेशन पार्टी के लिए ये 5 जगह हैं बेस्ट

इस साल की शुरुआत में, पासपोर्ट सेवा दिवस के अवसर पर, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने घोषणा की थी कि निकट भविष्य में उन्नत सुरक्षा सुविधाओं वाले पासपोर्ट को रोल आउट किया जाएगा, और जल्द ही इसका इस्तेमाल किया जायेगा। तो अब सवाल बनता है कि आखिर ये ई-पासपोर्ट क्या हैय़ और कैसे काम करता है। तो चलिए इन्हीं सवालों का उत्तर खोजते हैं- 

1-ई-पासपोर्ट क्या है?

know about e passport in india inside

दरअसल, आप इसे एक इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट भी बोल सकती है। इसको बनाने का सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह है की इसमें होने वाले गड़बड़ी को रोका जा सके। इसमें चिप के साथ पासपोर्ट होती है। और यह एक नियमित पासपोर्ट की तुलना में सुरक्षित रहता है। ई-पासपोर्ट, जिसे इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट के रूप में भी जाना जाता है, में एक चिप होता है जो नकली पासपोर्ट का उत्पादन करना मुश्किल बनाता है। साथ ही, आपके बायोमेट्रिक्स, यानि पिछले 30 स्थानीय यात्राओं और अंतर्राष्ट्रीय यात्राओं के बारे में डिजिटल जानकारी सहित अन्य महत्वपूर्ण विवरणों की जानकारी देता है। 

Recommended Video

2-क्या है e-passport के फिचर-

आप को बात दे की आईआईटी-कानपुर, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) और भारत प्रेस (आईएसपी) और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा विकसित किया जाएगा, जिसमें निम्नलिखित विशेषताएं होंगी:

know about e passport in india inside

  • ई-पासपोर्ट में आगे और पीछे के कवर होंगे।
  • अमेरिकी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला में इस पासपोर्ट प्रोटो-टाइप का परीक्षण किया गया।
  • ई-पासपोर्ट समय बचाने में मदद करेगा क्योंकि सूचना को पढ़ने में केवल कुछ सेकंड लगेंगे।
  • चिप में 64 किलोबाइट्स मेमोरी स्पेस होगा जो सुचना प्रदान करने में सहायता करेगा।
  • पासपोर्ट धारक की तस्वीर और उंगलियों के निशान चिप में संग्रहीत किए जाएंगे।
  • यह चिप 30 अंतर्राष्ट्रीय विज़िटा डेटा तक संग्रहीत करने में सक्षम है।

इसके लागू होने के बाद भारत, अमेरिका, ब्रिटेन और यूरोपीय सहित लगभग 120 अन्य राष्ट्रों में शामिल हो जाएगा जिन्होंने ई-पासपोर्ट में अपग्रेड किया है और ई-पासपोर्ट को जारी किया है।

इसे भी पढ़े: हिना खान की अंडरवाटर सेल्फी हो रही है वायरल, तस्वीरें देखें

3-कैसे ई-पासपोर्ट Issue करना है 

know about e passport in india inside

  • पासपोर्ट सेवा के ऑनलाइन पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करना होगा 
  • जनरेट यूजर आईडी के साथ पासपोर्ट सेवा ऑनलाइन पोर्टल पर लॉगिन करें।
  • आवेदन पत्र भरना होगा और इसे बाद में जमा करना होगा। 
  • एक बार फॉर्म जमा करने और आवश्यक राशि का भुगतान करने के बाद, पासपोर्ट कार्यालय में नियुक्ति निर्धारित की जाएगी।

बढ़ाते टेक्नोलॉजी को अपनाना सभी के लिए बराबर होते हैं। इस डिजिटल के दौर में ई-पासपोर्ट का आना भारत के एक नई पहल है जो आने वाले समय में हवाई यात्रा करने वाले को लिए बेहद आसान होने वाला है।