बच्चों के लिए दूध का सेवन करना बेहद आवश्यक अच्छा माना जाता है। दूध को एक संपूर्ण आहार माना जाता है और इसलिए जन्म के बाद से ही बच्चा सबसे पहले दूध का सेवन करता है। ठोस आहार का सेवन तो वह एक समय के बाद करता है, लेकिन फिर भी दूध पीना उसके लिए जरूरी होता है। दूध ना केवल आपके बच्चों को मजबूत और स्वस्थ हड्डियाँ देते हैं, बल्कि वे आपके बच्चों के समग्र विकास में भी सहायता करते हैं। इससे कैल्शियम तो मिलता है ही, साथ ही विटामिन डी, प्रोटीन, फास्फोरस, पोटेशियम, विटामिन ए, विटामिन बी12, आदि कई पोषक तत्व भी मिलते हैं। 

यूं तो दूध का सेवन यूं ही किया जा सकता है, लेकिन अगर आप इसमें कुछ नेचुरल इंग्रीडिएंट को शामिल करती हैं तो इससे बच्चों को अतिरिक्त लाभ होता है। अमूमन बच्चों का इम्युन सिस्टम बडों के मुकाबले कमजोर होता है और इसलिए वह जल्दी बीमार पड़ते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: दूध पीते समय ये 4 नियम अपनाएंगी तो मिलेगा दोगुना फायदा

ऐसे में अगर आप बच्चों के दूध में कुछ नेचुरल चीजों को शामिल करती हैं तो इससे उनका इम्युन सिस्टम मजबूत होगा। साथ ही उन्हें दूध के पोषक तत्वों के साथ उन प्राकृतिक चीजों में मौजूद न्यूट्रिएंट्स के भी लाभ प्राप्त होंगे। तो चलिए आज मैक्स हेल्थ केयर की चीफ न्यूट्रीशनिस्ट रितिका समादार आपको बता रही हैं कि आप बच्चों के दूध में किन चीजों को एड करके उन्हें अतिरिक्त बेनिफिट दे सकती हैं-

haldi milk kids

हल्दी 

अमूमन चोट लगने पर हल्दी वाला दूध पीने की सलाह दी जाती है, लेकिन आप बच्चों को हल्दी का दूध दे सकती हैं। हल्दी वास्तव में एक सुपरफूड है जिसका इस्तेमाल लंबे समय से भारतीय व्यंजनों को पकाने के दौरान किया जा रहा है। हल्दी एक अद्भुत स्पाइस है जो सभी आयु समूहों के लिए बेहद पौष्टिक माना जाता है। चूंकि बच्चों को अधिक पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है क्योंकि उनका शरीर अभी भी बढ़ रहा है और उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली इतनी मजबूत नहीं है। ऐसे में उन्हें हल्दी का दूध देना चाहिए। इसमें एंटी-एलर्जी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। रात को सोने से पहले हल्‍दी वाला दूध पीने से बॉडी में आते हैं ये 4 बदलाव

यह एंटीऑक्सिडेंट में भी समृद्ध है जो बच्चों को कीटाणुओं से लड़ने और मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली के निर्माण में मदद करता है। खासतौर से, अगर बच्चा अस्थमा से पीड़ित है तो उसके लिए हल्दी का दूध किसी वरदान से कम नहीं है। इतना ही नहीं, शरीर में दर्द होने पर भी हल्दी वाला दूध पीना काफी अच्छा माना जाता है। इसलिए अगर बच्चे को हाथ पैर व शरीर के अन्य भाग में दर्द की शिकायत हो रही है तो आप उसे रात को सोने से पहले हल्दी वाला दूध दें। साथ ही बच्चों को सर्दी-जुकाम होने पर भी हल्दी का दूध देना काफी लाभकारी होता है। प्रोटीन और कैल्शियम युक्त बनाना है शरीर तो पिएं रोजाना ये मिल्क

badam milk kids

बादाम

अगर आपका बच्चा दूध पीने में आनाकानी करता है तो आप उसे बादाम का दूध पीने के लिए दे सकती हैं। यह जितना टेस्टी होता है, उतना ही हेल्दी भी। बादाम का दूध ना सिर्फ बच्चों के मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है, बल्कि इससे उनके प्रतिरक्षा तंत्र पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। झुर्रियों और झड़ते बालों का रामबाण इलाज है दूध में बादाम का तेल मिलाकर पीना, आप भी रोजाना लें

Recommended Video

इतना ही नहीं, बादाम का दूध पीने से बच्चों की आंखें भी काफी तेज होती हैं। इस तरह बादाम का दूध आपके बच्चे के दिमाग, दिल, आंखों और त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। खासतौर से, अगर आपका बच्चा लैक्टोस इनटॉलरेंस है तो आप उसे बादाम का दूध देना एक अच्छा ऑप्शन है।

sattu milk

सत्तू 

गर्मी के मौसम में बच्चों को दूध में सत्तू मिलाकर भी दिया जा सकता है। यह बच्चे के लिए एक कंप्लीट फूड है और अगर बच्चे सुबह के समय दूध में सत्तू मिलाकर उसका सेवन करते हैं तो इसके बाद उन्हें कुछ और खाने की जरूरत नहीं है।

सत्तू के दूध के सेवन से बच्चे को संपूर्ण पोषण मिलता है। केसर वाला दूध है अद्भुत, रोज 1 गिलास पीने से महिलाओं को मिलेंगे ये 6 फायदे

 

 All Image Credit: Freepik