• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Menstrual Hygiene Day: एक महिला को पीरियड्स के दौरान कितनी बार बदलने चाहिए पैड्स, एक्सपर्ट से जानें

क्या आप भी दिन में केवल दिन में 1 बार ही पैड चेंज करती हैं, ऐसे में ये गलतियां वेजाइनल इंफेक्शन को बढ़ावा दे सकती हैं।
author-profile
Published -24 May 2022, 18:10 ISTUpdated -24 May 2022, 18:27 IST
Next
Article
Expert Menstrual Tips

पीरियड्स के दौरान अपनी हाइजीन का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। इन दिनों में अगर शरीर की साफ-सफाई न रखी जाए, तो इसका असर आपकी सेहत पर भी पड़ सकता है। इतना ही नहीं अगर पीरियड्स के दौरान पर्सनल साफ-सफाई न रखने के कारण आपको UTI  या अन्य इंफेक्शन हो सकते हैं। यही वजह है कि पीरियड्स में डॉक्टर कपड़े की जगह सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। 

सैनिटरी नैपकीन हर महिला के जीवन में अहम रोल निभाती है। इसके इस्तेमाल से न केवल हाइजीन बेहतर होती है, बल्कि आप कई वेजाइनल प्रॉब्लम्स से भी बच सकती हैं। हमें दिन भर में कितनी बार पैड चेंज करने चाहिए, यह भी एक जरूरी सवाल है। 

दिन भर में कितनी बार पैड बदलना आपकी वेजाइनल हेल्थ के लिए बेहद जरूरी है। यह जानने के लिए हमने गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर शिखा गुप्ता से बातचीत की है। उन्होंने हमें बताया कि अगर हम एक ही पैड समय से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो ऐसे में इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में जानते हैं कि आखिर हमें दिन भर में कितनी बार पैड चेंज करना चाहिए। 

फ्लो के हिसाब से चेंज करें पैड- 

menstrual hygiene day

डॉक्टर शिखा ने इस बातचीत में समझाया कि पैड बदलने की ड्यूरेशन हमारे ब्लड फ्लो पर आधारित होनी चाहिए। कुछ लोगों को पीरियड्स के पहले दिन दर्द ज्यादा होता है और फ्लो कम, वहीं कई महिलाओं को ब्लड फ्लो पहले दिन बढ़ जाता है। ऐसे में ज्यादा ब्लड फ्लो के दौरान आपको हर 4 घंटे पर पैड बदलते रहना चाहिए, जिससे ब्लड लीकेज का रिस्क ना रहे। वहीं अगर आप टैम्पॉन का इस्तेमाल करती हैं, तो इसे 2 से 4 घंटे के अंतर पर चेंज करना चाहिए।

पीरियड्स में कैसे सैनिटरी पैड का करना चाहिए इस्तेमाल-

मार्केट में कई तरह के पैड्स आते हैं। अच्छी क्वालिटी और डिस्पोजेबल पैड्स( पैड्स का इतिहास) ज्यादा समय तक बैक्टीरिया फ्री रहते हैं, उसी जगह खराब क्वालिटी वाले पैड्स में बहुत जल्द ही बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। ऐसे में बेहतर क्वालिटी के पैड्स ही इस्तेमाल करने चाहिए, जिससे आपकी हाइजीन अच्छी रह सके।

 इसे भी पढ़ें- टॉयलेट में पैरों के नीचे स्टूल रखने से होते हैं ये फायदे, जानें इसके पीछे का कारण

कम ब्लड फ्लो में न करें ये लापरवाही- 

Menstrual Hygiene

कई बार कम ब्लड फ्लो होने पर महिलाएं पैड बचाने की कोशिश करती हैं। ऐसे में वो 12 घंटे से ज्यादा समय तक एक पैड लगाए रखती हैं, बता दें कि इस तरह की लापरवाही आपके लिए बीमारी पैदा कर सकती है। अगर आपका ब्लड फ्लो कम हो तो इन दिनों में आपको आपको स्मॉल साइज पैड या पैंटी लाइनर का इस्तेमाल करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- पीरियड्स: अब घर पर बजट में बनाएं पैड्स

एक बार में लगाएं एक ही पैड-

periods pad tips

कई बार महिलाएं पीरियड लीकेज से बचने के लिए एक के ऊपर दूसरा पैड लगा लेती हैं। इतना ही नहीं कई बार महिलाएं टैम्पॉन के नीचे कॉटन कपड़ा, या टैम्पॉन और सैनिटरी पैड साथ में इस्तेमाल कर लेती हैं। हालांकि यह फ्लो की समस्या से बचने के लिए जुगाड़ू तरीका है, लेकिन यह सेहत के लिए रिस्की हो सकता है। दोनों चीजों को एक साथ इस्तेमाल करने से रैशेज का खतरा भी बढ़ जाता है। 

तो ये थी पैड बदलने से जुड़ी जरूरी जानकारियां, जिनके बारे में हर महिला को जरूर जानना चाहिए। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ। 

Image Credit- Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।