दांतों में कैविटी की समस्या एक आम समस्या है। कभी ठीक से ब्रश न करना तो कभी डेंटल हाइजीन मेन्टेन न रखने की वजह से कैविटी हो जाती है जो दांतों को क्षति पहुंचाने के साथ मसूढ़ों के लिए भी हानिकारक हो जाती है। कैविटी की वजह से मुंह में कई तरह के इन्फेक्शन होने लगते हैं। कैविटी भले ही छोटी क्यों न हो लेकिन ये जब ज्यादा बढ़ जाती है तो कई अन्य समस्याओं को जन्म देती है और कई बार इससे छुटकारा पाने के लिए रुट कैनाल ट्रीटमेंट तक कराना पड़ता है।

आइए स्माइल केयर डेंटल यूनिट,कोलकाता के डॉक्टर विवेक तिवारी B.D.S (cal) से जानें कैविटी होने के मुख्य कारणों, इससे बचाव और इसके इलाज के लिए हमें क्या करना चाहिए। 

कैविटीज के कारण 

cavity reason

जब कैविटीज़ की बात आती है, तो दांतों में प्लाक इसका मुख्य कारण होता है। बैक्टीरिया का यह चिपचिपा बायोफिल्म लगातार आपके दांतों पर बनता है और आपके द्वारा खाए जाने वाले तरल पदार्थों और खाने वाले तरल पदार्थों में शर्करा पर फ़ीड होता है। प्लाक या पट्टिका में बैक्टीरिया एसिड छोड़ता है और पट्टिका की चिपचिपाहट इन एसिड को आपके दांतों के संपर्क में रखती है, जो कैल्शियम और फॉस्फेट के नुकसान के माध्यम से दांतों को नुकसान पहुंचाता है। इस प्रक्रिया को डिमिनरलाइजेशन के रूप में जाना जाता है और इससे दांत की सतह पर सफेद धब्बे बन सकते हैं। दांतों में ये छोटे उद्घाटन कैविटी के पहले चरण का प्रतिनिधित्व करते हैं।

Recommended Video

कैविटीज़ को कैसे रोकें 

यदि आपको दांतों में कैविटी के कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो आपको तुरंत डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए। डेंटिस्ट तुरंत आपकी कैविटी का इलाज करके इसे बढ़ने से रोक सकता है। इससे बचाव के कुछ और उपाय यहां बताए जा रहे हैं। 

फ्लोराइड युक्त पेस्ट 

floride tooth paste

कैविटीज़ से बचाव के लिए एक फ्लोराइड टूथपेस्ट का चयन करें। फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट दांतों की सड़न और कैविटी से सुरक्षा के लिए जाना जाता है। यदि आप अपने दांतों के इनेमल के बारे में चिंतित हैं, तो रोजाना दो बार इस पेस्ट से ब्रश जरूर करें और हर भोजन के बाद ब्रश करना शुरू करें। यह दांतों से चीनी और स्टार्च को हटाने के लिए जाना जाता है जो संक्षारक एसिड में बदल जाते हैं। यह दांतों को क्षय होने और कैविटी से सुरक्षा करने के साथ दांतों के बचाव की एक अतिरिक्त परत भी जोड़ता है।

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: अक्ल दाढ़ में दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

खाने की आदतें बदलें 

snacking habits

कई बार हमारी खान-पान की आदतें भी कैविटी का कारण बन जाती हैं। दिन में केवल एक सीमित संख्या में नाश्ता करने की कोशिश करें और उन खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो दांतों के लिए अच्छे होते हैं। जब भी आप भोजन करते हैं या पानी के अलावा कोई और मीठा ड्रिंक पीते हैं, तो यह कीटाणुओं को एसिड बनाने की अनुमति देता है जो दांतों की चमक को कम करने के साथ कैविटी भी फॉर्म करता है। कुछ भी खाने के बाद ब्रश करना कैविटी से बचने का एक सही तरीका है।  

अपने डेंटिस्ट से मिलें 

meet ur dentist

यदि आप कैविटी से बचना चाहते हैं तो समय-समय पर अपने दांतों की जांच के लिए डेंटिस्ट के पास जाएं। हर छह महीने में कम से कम एक बार नियमित रूप से सफाई करने से दांतों को क्षय से और कैविटी से छुटकारा मिल सकता है। यदि आपके दांतों में कैविटी फॉर्म हो रही है तो तुरंत कैविटी की फिलिंग करवानी चाहिए। 

नारियल तेल का उपयोग 

coconut oil use

आप अपने दांतों को प्राकृतिक रूप से क्षय होने या कैविटी से बचाने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। ये तेल दांतों से बैक्टीरिया को दूर करता है। अपने मुंह में 20 मिनट के लिए नारियल का तेल लगाएं और इसे लार के साथ बाहर निकाल दें। नारियल का तेल दांतों की सड़न के प्रभावों को कम कर सकता है, यह कैविटी को रोकने में भी मदद करता है। 

बेसिक डेंटल हाइजीन फॉलो करें 

dental higene

दांतों को कैविटी से बचाने के लिए सबसे पहले बेसिक डेंटल हाइजीन फॉलो करना बहुत जरूरी है। इसके लिए सुबह ब्रश करने के अलावा रात में सोने से पहले ब्रश करना बहुत जरूरी है। आप कुछ घरेलू नुस्खों को भी आजमा सकती हैं जैसे सरसों के तेल में थोड़ी हल्दी और नमक मिलाकर दांतों की मसाज करें। अपने दांतों को दिन में कम से कम दो बार ब्रश करें। अपने दांतों की सभी सतहों को ब्रश करने की कोशिश करें और अपने दांतों के सबसे दूर के कोनों तक पहुंचें। अपने मसूड़ों के नीचे से किसी भी बचे हुए भोजन को बाहर निकालने के लिए फ्लॉस का उपयोग करें और वहां फंसे कीटाणुओं को हटाने का प्रयास करें। माउथवॉश का इस्तेमाल करें। किसी भी माउथवॉश में एक जीवाणुरोधी प्रभाव होता है और आपके मुंह के बैक्टीरिया से छुटकारा पाने में मदद करता है। 

इसे जरूर पढ़ें:क्या आपके मसूढ़े और दांत कमजोर हैं, अपनाएं ये घरेलू उपाय

उपर्युक्त सभी बातों को ध्यान में रखकर आप कैविटी से काफी हद तक छुटकारा पा सकते हैं और दांतों को क्षय से भी बचा सकते हैं। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: freepik