बदलते मौसम में खांसी और जुकाम होना सबसे आम स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है जो लोगों को प्रभावित करती है। खांसी और जुकाम के कई लक्षण हो सकते हैं जैसे नाक बहना, नाक बंद होना, छींके आना, आंखों से पानी आना आदि। हालांकि, समस्‍या से बचने के लिए डॉक्टर से मिलने की सलाह दी जाती है, लेकिन कुछ घरेलू उपचार हैं, जो छींकने और बहतनी नाक जैसे खांसी और जुकाम के लक्षणों का इलाज करने में मदद कर सकते हैं। 

बार-बार छींकने की समस्‍या मसालेदार भोजन, वायु प्रदूषण, परफ्यूम, धूल और कोल्ड वायरस जैसे ट्रिगर्स का परिणाम हो सकती है। इसके अलावा, नाक बहने की समस्‍या के कई कारण हो सकते हैं। सबसे आम साइनस का वायरल संक्रमण है, जो आमतौर पर कॉमन कोल्‍ड है। अन्य मामलों में, बहती नाक एलर्जी, तेज बुखार या अन्य कारणों से हो सकती है। बहती नाक की समस्‍या किसी को भी हो सकती है, लेकिन यह एक ऐसी कंडीशन है, जिससे हम घर पर आसानी से निपट सकती हैं।

tips to get rid of sneezing and coughing

यदि आप नेचुरल चीजों का इस्‍तेमाल करना पसंद करती हैं, तो ऐसे कई विकल्प हैं जो मदद कर सकते हैं। यह देखने के लिए कि क्या आपकी छींकों और आपकी बहती नाक के लिए कोई काम करता है, निम्नलिखित घरेलू नुस्‍खों का अन्वेषण करें। इन नुस्‍खों के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट अबरार मुल्‍तानी जी बता रहे हैं।

इसे जरूर पढ़ें:सर्दी-जुकाम से बचाएंगी घर में ही मौजूद ये 5 चीजें, एक्‍सपर्ट से जानें

विटामिन सी का अधिक सेवन करें

vitamin c for sneezing and runny nose

विटामिन-सी इम्‍यून सिस्‍टम को बढ़ाता है और यदि आप कोल्‍ड और कफ से पीड़ित हैं तो यह बहुत महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक है। यह एक एंटीहिस्टामाइन है और खट्टे फलों और कुछ सब्जियों में पाया जाता है। अमरूद, सरसों, पालक, कीवी, संतरा, नींबू में विटामिन-सी की भरपूर मात्रा होती है और यह कोल्‍ड के लक्षण जैसे छीकों और बहती नाक से लड़ने में मदद कर सकता है।

काली इलायची चबाएं

काली इलायची एक और बेहतरीन सामग्री है जिसमें ऐसे गुण होते हैं जो आपकी छींक को कम करने में आपकी मदद करेंगे। कोल्‍ड और कफ होने पर इसे दिन में 2-3 बार चबा सकते हैं। इसकी मजबूत सुगंध और तेल सामग्री म्‍यूकस फ्लो को सामान्य करने और जलन को दूर करने में मदद कर सकती है।

नेति पॉट

jal neti for sneezing and runny nose

नेति पॉट एक ऐसा उपकरण है जो एक छोटे चायदानी की तरह दिखता है। लोग नाक और साइनस को बाहर निकालने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। नेति पॉट का उपयोग करने के लिए, एक व्यक्ति को सिंक पर झुकना चाहिए और अपने सिर को एक तरफ झुकाना चाहिए। फिर बर्तन से पानी को एक नथुने में तब तक डालना चाहिए जब तक कि बर्तन खाली न हो जाए।

अगर सही तरीके से किया जाता है, तो विपरीत नाक से पानी निकल जाएगा। व्यक्ति को फिर बर्तन को फिर से भरना चाहिए और दूसरी तरफ प्रक्रिया को दोहराना चाहिए। नेति बर्तन एक अजीब अवधारणा की तरह लग सकते हैं और वे नाक के स्प्रे की तुलना में थोड़ा मुश्किल होते हैं। हालांकि, वे बहती नाक को साफ करने में प्रभावी हो सकते हैं।

आंवला खाएं

आंवला एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है। ये सभी तत्व हमारी इम्‍यूनिटी का निर्माण करते हैं। दिन में 3-4 आंवला खाने या दिन में 2-3 बार आंवले का रस पीने से आपको उस जलन वाली छींक को रोकने में मदद मिलेगी।

 

अदरक और तुलसी

ginger for sneezing and runny nose

सर्दी जुकाम से लड़ने के लिए अदरक और तुलसी आपकी बहुत मदद कर सकती हैं। छींक से निपटने का सबसे आसान और भरोसेमंद तरीका है इन्हें अपनी चाय में शामिल करना। अतिरिक्त लाभ के लिए आप तुलसी के 3-4 पत्तों को अदरक के साथ उबाल भी ले सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें:हिचकी, छींक और उबकाई आए तो इन आसान से तरीकों से फौरन राहत पाएं

जिंक का सेवन

अगर आप छींक से जल्द से जल्द छुटकारा पाना चाहती हैं, तो जिंक का सेवन बढ़ा देना चाहिए। जिंक सप्लीमेंट इम्यूनिटी बढ़ाने वाले एजेंटों से भरपूर होते हैं। फलियां, नट और बीज जो आसानी से उपलब्ध हैं, उनके सेवन से आपको यह पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में मिल सकते हैं। 

एक्‍सपर्ट के बताए इन घरेलू नुस्‍खों को आजमाकर आप भी सर्दी-जुकाम के कारण होने बहती नाक और बार-बार छींकों की समस्‍या से आसानी से बच सकती हैं। हालांकि, यह घरेलू नुस्‍खे असरदार हैं, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि हर किसी के लिए फायदेमंद हो क्‍योंकि हर किसी का शरीर घरेलू चीजों के प्रति अलग तरह से प्रतिक्रिया करता है। आपको यह आर्टिकल आपको कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताएं। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Freepik.com & Shutterstock.com