• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

40 की उम्र के बाद महिलाओं को शुरू हो जाती हैं ये निजी समस्याएं

अगर आपकी उम्र 40 पार कर चुकी है तो हो सकता है कि आपको भी ये गायनेकोलॉजिकल समस्याएं परेशान कर दें। 
Published -02 Jun 2022, 13:17 ISTUpdated -02 Jun 2022, 15:42 IST
author-profile
  • Shruti Dixit
  • Editorial
  • Published -02 Jun 2022, 13:17 ISTUpdated -02 Jun 2022, 15:42 IST
Next
Article
different health issues with women

एक महिला अपनी जिंदगी में कई सारे शारीरिक बदलावों से होकर गुजरती है। उसके शरीर में रिप्रोडक्टिव उम्र के हिसाब से ही बदलाव देखे जाते हैं और इसलिए हर 10 साल में शरीर के हार्मोन्स और निजी अंगों में बदलाव देखा जा सकता है। एक महिला को ये मानकर चलना चाहिए कि समय-समय पर उसकी जिंदगी में गायनेकोलॉजिकल समस्याएं आएंगी ही। ये पीरियड्स के शुरू होने से लेकर उनके खत्म होने के बाद तक चलता रहता है। 

गायनेकोलॉजिकल समस्याओं में पीरियड्स, प्रेग्नेंसी, डिस्चार्ज, सेक्शुअल समस्याएं, प्री-मेनोपॉज, मेनोपॉज आदि बहुत कुछ शामिल होता है। कई बार मेनोपॉज के बाद होने वाली समस्याएं और भी ज्यादा मुश्किल होती हैं। 30 की उम्र तक तो काफी कुछ सही रहता है, लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे समस्याएं भी बढ़ती हैं। 40 की उम्र के बाद अधिकतर महिलाओं को समय-समय पर डॉक्टर के चक्कर काटने ही पड़ते हैं। 

पर ये निजी समस्याएं आखिर होती कौन सी हैं? 40 की उम्र के बाद महिलाओं को कैसी गायनेकोलॉजिकल समस्याएं सता सकती हैं उन्हें जानने के लिए हमने नोएडा मदरहुड हॉस्पिटल की सीनियर कंसल्टेंट, ऑब्सटेट्रिशियन और गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर मंजू गुप्ता से बात की। उन्होंने हमें पांच मुख्य समस्याओं के बारे में बताया जो 40 के बाद महिलाओं को परेशान करती हैं।

gyno health issues with women

इसे जरूर पढ़ें- ना बुखार ना थकान फिर भी हमेशा रहता है शरीर में दर्द तो ये होम रेमेडीज आएंगी काम

पीसीओएस 

ये कंडीशन इन दिनों यंग महिलाओं में भी देखने को मिल रही है, लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है ये और भी परेशानी भरी हो जाती है। ओवरीज से एग्स रिलीज होने का प्रोसेस और भी दर्द भरा हो जाता है और इसके कई साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिलते हैं। कई महिलाओं के पीरियड्स में बहुत ज्यादा बदलाव होता है और इसलिए आपको ऐसे समय में डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए। सही डाइट और ट्रीटमेंट से ही इस कंडीशन में फायदा मिल सकता है। 

Recommended Video

यूटीआई की समस्या

वैसे तो ये किसी भी उम्र में हो सकती है, लेकिन 40 के बाद ये और भी गंभीर हो जाती है। ये तब होता है जब वेजाइनल और एनल एरिया में मौजूद बैक्टीरिया ऊपर यूरिनरी ट्रैक्ट में पहुंच जाता है। कुछ मामलों में ये किडनी तक भी असर करता है। 40 की उम्र के बाद इम्यून सिस्टम वैसे भी वीक हो जाता है और हाइजीन से जुड़ी समस्याएं भी महसूस होने लगती हैं। ऐसे में यूटीआई की समस्या होना आम है। कई महिलाओं को लगता है कि इसे घर पर देसी तरीकों से ही ठीक किया जाना चाहिए, लेकिन ये सही नहीं है। आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए। 

intimate health issues with women

एंडोमेट्रिओसिस

एंडोमेट्रिओसिस एक ऐसी कंडीशन है जिसमें यूट्रस की यूटेरिन लाइनिंग उसके बाहर ग्रोथ करने लगती है। ये यूट्रस के आस-पास के हिस्से को कवर करती है और धीरे-धीरे परेशानी को बढ़ाती है। कई मामलों में देखा गया है कि पीसीओएस से ग्रसित महिला को एक उम्र के बाद फाइब्रॉइड्स और एंडोमेट्रिओसिस की समस्याएं होती हैं। अगर आपको लोअर एब्डॉमन में बहुत ज्यादा दर्द हो, पीरियड्स में कोई समस्या हो या फिर गठान जैसी महसूस हो तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए।  

intimate problems with women

इसे जरूर पढ़ें- महिलाएं अक्सर डॉक्टर से नहीं पूछ पाती हैं ये सवाल, जानिए उनके जवाब  

सेक्शुअल इंटरकोर्स में परेशानी 

इसे Dyspareunia भी कहते हैं और ये महिला के शारीरिक स्ट्रक्चर में समस्या या बदलाव के कारण हो सकता है। कुछ मामलों में ये साइकोलॉजिकल भी होता है। ये अलग-अलग महिला में अलग तरह के लक्षण दिखा सकता है।  

 

ओवेरियन सिस्ट 

एक उम्र के बाद ओवरीज में सिस्ट होने की समस्या बढ़ जाती है और जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे इसके होने का रिस्क और भी ज्यादा बढ़ जाता है। इस समस्या में ओवरीज में लिक्विड से भरे पाउच बन जाते हैं जो सिस्ट की शक्ल ले लेते हैं। यही कारण है कि कई महिलाएं एक उम्र के बाद ओवरीज को रिमूव करने का रास्ता भी अपनाती हैं। इससे जुड़ी जानकारी आपका डॉक्टर आपको सही तरह से बता सकता है।  

वैसे तो महिलाओं की समस्याएं उनकी हेल्थ कंडीशन के हिसाब से अलग हो सकती हैं। लेकिन अगर आपको पर्सनल लेवल पर कोई समस्या हो रही है तो डॉक्टर से एक बार सलाह जरूर ले लें। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी है तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से। 

 Image Credit: Freepik
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।